ENGLISH HINDI Thursday, June 27, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
पंजाब

कुंवर विजय प्रताप के मुद्दे पर चुनाव आयोग को मिला 'आप' का वफद

April 10, 2019 10:07 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी और कोटकपूरा बहबल कलां गोली कांड मामले की जांच के लिए गठित विशेष जांच समिति (सीट) के मुख्य मैंबर और आई पी एस अधिकारी कुंवर विजय प्रताप सिंह की भारतीय मुख्य चुनाव आयोग (ईसीआई) के आदेशों के साथ की गई बदली का सख्त विरोध करते हुए आम आदमी पार्टी पंजाब ने आज राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी के द्वारा ईसीआई को मांग पत्र दिया और इस फैसले पर फिर से विचार कर कुंवर विजय प्रताप सिंह की सिट के मैंबर के तौर पर जिम्मेदारी देने की बात कही।
राज्य चुनाव अधिकारी के साथ मुलाकात करने के उपरांत मीडिया के साथ बातचीत करते हुए हरपाल सिंह चीमा ने बताया कि कुंवर विजय प्रताप सिंह के नेतृत्व में बेअदबी और बहबल कलां गोली कांड की जांच सही दिशा की तरफ बढ़ती हुई निचोड़ पर पहुंचने वाली थी, जो इस फैसले के साथ प्रभावित हुई है। चीमा ने भारतीय मुख्य चुनाव आयोग की तरफ से 5 अप्रैल को लिया गया फैसला पक्षपाती और बुरी मंशा (मैलाफाइड अटैंशन) वाला फैसला है। जिस को तुरंत वापस लिया जाना चाहिए। चीमा ने कहा कि कुंवर विजय प्रताप सिंह की तरफ से बेअदबी मामले के साथ सम्बन्धित टीवी चैनलों को दी गई इंटरव्यू को राजनीति से प्रभावित इंटरव्यू करार दे कर उनको सिट मैंबर से फारिग करना बिल्कुल गलत है। जबकि वह लाखों लोगों की भावनाओं और बेकसूर लोगों की मौत के साथ जुड़े मामले की जांच कर रहे थे, जिस का राजनीति के साथ कोई सम्बन्ध नहीं।
इस मौके अमन अरोड़ा ने कहा कि आज आम आदमी पार्टी का वफद न केवल पार्टी बल्कि उन लाखों करोड़ों लोगों की भावनाओं को जाहिर करने आए हैं, जो श्री गुरु ग्रंथ साहिब में आस्था रखते हैं और बेअदबी और बरगाड़ी मामले पर इंसाफ और दोषियों को सजा चाहते हैं।
अरोड़ा ने चुनाव कमीशन को बताया कि कुंवर विजय प्रताप सिंह को सिट के मैंबर के तौर पर हटाने का लोगों में आम धारणा बन गई है कि यह फैसला अकाली दल और भाजपा के नेताओं के दबाव अधीन पक्षपाती और बुरी मंशा के साथ लिया गया फैसला है।
'आप' के वफद ने यह भी ध्यान में लाया कि हाल ही दौरान नीति आयोग के वाइस चेयरमैन ने जनतक तौर पर एक राजनैतिक पार्टी विरुद्ध बोला है, परंतु उस विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं हुई। इस से यह प्रभाव जाता है कि भारतीय चुनाव कमीशन का कुंवर विजय प्रताप सिंह सम्बन्धित फैसला सही नीयत के साथ नहीं लिया गया है, जो वापिस होना चाहिए।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
पहलवानी में पदक विजेता तीन बच्चियां धान की रोपाई के लिए मजबूर प्लास्टिक लिफाफों का प्रयोग रोकने के लिए व्यापक मुहिम की शुरूआत घग्गर के पानी से गाँव सताबगढ़ के किसानों की कई एकड फ़सल तबाह शिव सैनिकों ने बिटटू के कातिलो को फांसी दिलाने के हक में निकाला कैंडल मार्च अस्पताल में इमरजेंसी रूम का दरवाजा बंद रहने से मरीजों में परेशानी सीआईए ने चोरी के मामले में की जांच रोडवेज़ और पी.आर.टी.सी. की बसों में लगाए जाएंगे व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम महंगी बिजली मुद्दे पर राज्यपाल को मिलेगा 'आप': अरोड़ा अध्यापकों के ऑनलाइन तबादला नीति अब पब्लिक डोमेन में: सिंगला नशाखोरी, ग़ैर-कानूनी तस्करी विरुद्ध 26 को हर जिले में मनाया जायेगा: सिद्धू