ENGLISH HINDI Thursday, June 27, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
पंजाब

मिशन हरियाली व ख़ुशहाली के बावजूद पौधारोपण के लिए नहीं हो रहे व्यापक प्रयत्न

April 11, 2019 06:31 PM

जीरकपुर, जे एस कलेर:
बीते कुछ सालों दौरान पंजाब में जहाँ सड़कों पर गाड़ियों की संख्या व फैल रहे प्रदूषण में लगातार वृद्धि हो रही है वहीं बड़ी संख्या में मुख्य सड़कें चौड़ी की गई हैं। इन सड़कों के चार और छह मार्गीय करने कारण जहाँ इस के साथ यात्रा सुविधाजनक बन गई है, वहीं इन सड़कों के निर्माण समय पर लाखों की संख्या में किनारों पर लगे हुए कीमती वृक्ष काट दिए गए थे।

इसी तरह ही ज़ीरकपुर-पटियाला सड़क से भी हज़ारों की संख्या में वृक्ष उखाड़े गए हैं और पंजाब सरकार की ओर से मिशन हरियाली और ख़ुशहाली मुहिम चलाई जाने के बावजूद ना ही इन काटे गए वृक्षों की जगह नये पौधे लगाऐ गए जबकि सड़कें पर वाहनों के प्रदूषण को रोकने के लिए हरे भरे क्षेत्र का होना ज़रूरी है परन्तु आज सड़कों किनारे वृक्षों की जगह बड़े स्तर पर मलबे और कचरे के ढेरों के इलावा मरे हुए जानवर भी देखे जा सकते हैं।

एक तरफ़ पंजाब सरकार को ग्रीन टि्ब्यूनल विभाग की ओर से किसानों को खेती प्रदूषण संबंधित जुर्माने व नोटिस भेजे जा रहे हैं और दूसरी ओर फैलाए जा रहे इस प्राकृतिक प्रदूषण को सबंधित विभाग मूक दर्शक बन कर देख रहा है और इसके प्रति गंभीर नहीं है। इतनी बड़ी संख्या में काटे गए इन कीमती वृक्षों कारण जहाँ कुदरती वातावरण का भारी नुक्सान हुआ है, वहीं इनकी ठंडी छाया से राहगीर वंचित हो गए हैं।

गर्मियों के दिनों में इन छायादार वृक्षों कारण सड़कों पर हर समय पर घनी छाया रहने कारण निकलने वाले मुसाफ़िरों को इनका बड़ा सहारा था, जो गर्मी से बचने के लिए कुछ समय इन वृक्षों की छाया नीचे रुक कर दम लेते थे। दूसरा इन वृक्षों कारण सड़कों के कच्चे किनारों की मिट्टी कटाव से भी बची रहती थी। सड़कों का विकास करते समय लाखों की संख्या में काटे गए इन वृक्षों की जगह नये पौधे लगाने की ओर कोई ख़ास ध्यान नहीं दिया गया। जिस कारण इन सड़कों के किनारे वृक्षों बिना लगभग खाली लगने लग पड़े हैं। गर्मी के दिनों में इन सड़कों से निकलने वाले राहगीरों को छाया की कमी कारण सफ़र समय पर सूरज की सीधी किरणें शरीर पर झेलनी पड़ रही है।

शहर के वातावरण प्रेमियों ने सबंधित वन विभाग से माँग की है कि सड़क किनारे अधिक से अधिक छायादार पौधे लगा कर 'ग्रीन ज़ोन' स्थापित किया जाये और लोगों को सड़क किनारे मलबा और कचरा फेंकने से रोका जाये।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
पहलवानी में पदक विजेता तीन बच्चियां धान की रोपाई के लिए मजबूर प्लास्टिक लिफाफों का प्रयोग रोकने के लिए व्यापक मुहिम की शुरूआत घग्गर के पानी से गाँव सताबगढ़ के किसानों की कई एकड फ़सल तबाह शिव सैनिकों ने बिटटू के कातिलो को फांसी दिलाने के हक में निकाला कैंडल मार्च अस्पताल में इमरजेंसी रूम का दरवाजा बंद रहने से मरीजों में परेशानी सीआईए ने चोरी के मामले में की जांच रोडवेज़ और पी.आर.टी.सी. की बसों में लगाए जाएंगे व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम महंगी बिजली मुद्दे पर राज्यपाल को मिलेगा 'आप': अरोड़ा अध्यापकों के ऑनलाइन तबादला नीति अब पब्लिक डोमेन में: सिंगला नशाखोरी, ग़ैर-कानूनी तस्करी विरुद्ध 26 को हर जिले में मनाया जायेगा: सिद्धू