ENGLISH HINDI Tuesday, June 25, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ाडॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलायासीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहींअवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लमजीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौतहाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता
पंजाब

चुनाव प्रक्रिया में लगे मुलाजि़मों/अधिकारियों के परिवारों को ऐक्स-ग्रेशिया राशि जारी करने की हिदायतें जारी

April 11, 2019 08:46 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
भारतीय चुनाव आयोग ने आज चुनाव प्रक्रिया में लगे मुलाजि़मों/अधिकारियों के परिवारों को ऐक्स-ग्रेशिया राशि जारी करने सम्बन्धी विस्तृत हिदायतें जारी की हैं।
जानकारी देते हुए मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब डा. एस करुणा राजू ने बताया कि भारतीय चुनाव आयोग द्वारा चुनाव प्रक्रिया में लगे मुलाजि़मों/अधिकारियों को चुनाव ड्यूटी के दौरान कोई पेश हादसे के मद्देनजऱ पीडि़त के परिवार को मिलने वाली ऐक्स-ग्रेशिया राशि की विभिन्न सलेबस संबंधी विस्तृत हिदायतें जारी की हैं।
उन्होंने बताया कि यदि किसी मुलाजि़म/अधिकारी की चुनाव ड्यूटी के दौरान मौत हो जाती है तो उसके आश्रितों को कम से कम 15 लाख रुपए मिलेंगे। यदि मौत किसी असुखद हिंसक कार्यवाही जैसे कि असामाजिक तत्वों की तरफ से हिंसक कार्यवाही, ज़मीन दोज़ धमाके, बम धमाके, हथियारबंद हमले आदि में होती है तो मुआवज़ा राशि 30 लाख रुपए मिलेगी। यदि हादसे में स्थाई तौर पर डिसएबिलिटी जैसे कि किसी अंग का नुकसान या नेत्रहीन होने आदि होने की सूरत में 7.50 लाख रुपए मिलेंगे। यदि यह डिसएबिलिटी हिंसक कार्यवाही में होती है तो मुआवज़ा राशि दोगुनी हो जायेगी।
मुख्य चुनाव अधिकारी, पंजाब ने बताया कि ऐक्स-ग्रेशिया राशि उन सभी मुलाजि़मों/अधिकारियों के आश्रितों को मिलने योग्य है, जिनकी मौत या किसी प्रकार से ज़ख्मी होते हैं, जिनकी ड्यूटी चुनाव से सम्बन्धित किसी भी कार्य में लगी हुई है। इस अधीन सुरक्षा दस्ते (सीएपीएफ, एसएपी, स्टेट पुलिस, होमगार्ड आदि) कोई व्यक्ति जो कि सरकारी मुलाजि़म नहीं है परंतु चुनाव ड्यूटी के लिए लिया गया है, जैसे कि चालक, क्लीनर आदि।
चुनाव ड्यूटी शुरू होने का समय चुनाव के ऐलान के साथ ही हो जाता है। इसके साथ ही यह भी स्पष्ट किया जाता है कि कोई भी चुनाव प्रक्रिया में लगा व्यक्ति जैसे ही अपने घर से चुनाव ड्यूटी के लिए निकलता है, जिसमें प्रशिक्षण भी शामिल है से वापिस घर लौटने तक उसको ड्यूटी पर माना जायेगा। इस समय के दौरान यदि कोई भी हादसा चुनाव प्रक्रिया में लगे मुलाजि़म/अधिकारी को पेश आता है, तो उसको चुनाव ड्यूटी के दौरान हुआ हादसा माना जायेगा। इसके साथ ही यह भी स्पष्ट किया गया है कि मौत/ज़ख्मी होने सम्बन्धी चुनाव ड्यूटी के साथ सम्बन्ध ज़रूर जुड़ता हो।
उन्होंने कहा कि पोलिंग परसोनल के आश्रितों को दिए जाने वाला ऐक्स-ग्रेशिया लोकसभा चुनाव के दौरान केंद्र सरकार द्वारा दिया जायेगा। मूलभूत तौर पर इस रकम की अदायगी राज्य सरकार द्वारा की जायेगी और इस सम्बन्धी केंद्र सरकार से प्रतिपूर्ति के लिए आवेदन किया जायेगा। राज्य के समूह जि़ला चुनाव अधिकारियों को हिदायत की गई है कि वह चुनाव प्रक्रिया में लगे मुलाजि़मों/अधिकारियों की मौत/ज़ख्मी होने सम्बन्धी सूचना आयोग को भेजते रहें।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ा सीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहीं अवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लम जीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौत हाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता 6 किलो भुक्की पोस्त सहित एक गिरफ्तार जीरकपुर में ट्रक ने 15 गाड़ियां ठोकीं, लगा लंबा जाम विजीलैंस के छापे के बाद कई कॉलोनाइजरों के दफ्तरों में छाया सन्नाटा ढकोली में एक ही रात में आठ दुकानों के ताले चटका लाखों का माल उड़ाया, दुकानदारों में भारी रोष