ENGLISH HINDI Tuesday, June 25, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ाडॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलायासीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहींअवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लमजीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौतहाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता
पंजाब

जीरकपुर: अब उमीदवारों को समझाना होगा कि लोग उन्हें वोट क्यों दें

April 13, 2019 10:44 PM

हमें वोट देने का अधिकार है, तो हमें सवाल पूछने का भी अधिकार है:सोशल मीडिया चर्चा

कौन कौन है उमीदवार:-  ●कांग्रेस से पूर्व विदेश राज्य मंत्री व मुख्यमंत्री पंजाब की पत्नी परनीत कौर ●श्रोमणी अकाली दल से पूर्व मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा   ●पंजाब डेमोक्रेटिक एलाइंस से मौजूदा सांसद डॉ. धर्मवीर गांधी  ●आम आदमी पार्टी से समाजसेवी नीना मित्तल

जीरकपुर, जे एस कलेर:
राष्ट्रीय मुद्दे नोटबंदी, स्वच्छ भारत अभियान, डिजिटल इंडिया हो या फिर सर्जिकल स्ट्राइक के इलावा शहर के लोगों के बीच सब स्थानीय मुद्दे भी हावी होते नजर आ रहें हैं। आज शहर का हर नागरिक हर पहलू पर नजर बनाए हुए है। लोकसभा चुनाव के नजदीक आते ही लोगों के बीच राष्ट्रीय मुद्दों के साथ साथ स्थानीय मुद्दे व उमीदवारों से रूबरू हो उनका शहर के बारे में विजन जानने को लेकर सोशल मीडिया पर बहस से राजनीति की चर्चा और गरमा गई है। 
19 मई को पंजाब में लोकसभा चुनाव होने  वाले हैं। इससे पहले सभी पार्टियां चुनावी की तैयारी में जोरो-शोरों से लगी हुई है। इस बीच जीरकपुर के लोगों में सोसल मीडिया पर चर्चा चल उठी है कि  वे अपने लोकसभा क्षेत्र के किसी भी पार्टी के उमीदवार को वोट क्यों दें। 
लोग एक दूसरे को सवाल पूछ रहे रहे हैं कि वे किस पार्टी के उमीदवार को वोट दें और क्यों। लोगों का मानना है कि इस बार वे उनके उमीदवारों को सतही सवालों से आगे जाकर आम लोगों की जिंदगियों की मुश्किलों और रोजमर्रा की तकलीफों की कितनी समझ है इसको परखने के लिए वोटिंग से पहले उमीदवारों से एक एक कर पूछना चाहेंगे कि वो उन्हें वोट क्यों दे। लोग इस बार आम लोगों, किसानों, मजदूरों और स्त्रियों के वास्तविक मुद्दों की पर उमीदवारों से सवाल जवाब करना व उमीदवारों की व्यक्तिगत जिंदगी के बारे में जानना चाहते हैं।  
लोगों का मानना है कि चुनाव जैसी महत्त्वपूर्ण और गंभीर लोकतांत्रिक गतिविधि, नेताओं और दलों की परस्पर तूतू-मैंमैं तक सिमट कर रह जा रही है। आम आदमी के बुनियादी मुद्दों पर उमीदवार व राजनैतिक दल बहुत कम बात करते हैं। लोग कह रहे हैं की लोकसभा चुनावों को लेकर एक से बढ़कर एक सर्वे, विश्लेषण, आंकड़े और रिपोर्ट, टीवी और अखबारों में आ रही हैं, लेकिन इनमें से अधिकांश ऊपरी मुद्दों पर ही केंद्रित हैं।
ऐसा लगता है कि शहर की कच्ची सड़कों, पीने के स्वच्छ पानी, ट्रैफिक, साफ सफाई, शहर में बढ़ता प्रदूषण, कानून व्यवस्था, स्वस्थ सेवाए व शिक्षा की स्थिति जैसी समस्याओं के साए में बसर कर रहे लोगों तक जाने और विकास के मायने आम लोगों के नजरिये से समझने की न जरूरत रह गई है। लोगों का मानना है कि चुनावों को आम जन के परिप्रेक्ष्य में भी तो देखा जाना जरूरी है। लोगों की मांग है कि इस दुनिया में अच्छे से जीने के लिए शिक्षा, सम्मान और जिम्मेदारी का अधिकार होना बेहद जरूरी है। लोग मानते हैं कि नेता बनना कितना मुश्किल काम होता है और उस नेता को चुनना उससे भी बड़े सम्मान और जिम्मेदारी की बात होती है। लोगों में चर्चा है कि उन सब की यह जिम्मेदारी है कि सही ढंग से अपने वोट का इस्तेमाल कर अच्छे लीडर को चुनें।
सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा हो रही है कि वे समाज का हिस्सा हैं और उनमें एक जिम्मेदार नागरिक बनने की चाहत है ऐसे में वे अपने वोट का इस्तेमाल तो करेंगे ही, बाकी लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करेंगे। लोगों का मानना है कि एक नागरिक होने के नाते वे अपने उमीदवारों से सवाल पूछे की राष्ट्रीय मुद्दों के इलावा जीरकपुर शहर के लिए उनका क्या विजन है। लोगों का मानना है कि चुने हुए उमीदवार की हरेक गलती का आम लोगों पर काफी प्रभाव पड़ता है।
लोगों में चर्चा है कि सरकार के साथ-साथ आम लोगों का भी यह दायित्व होना चाहिए कि वे अपने जिम्मेदारियों को सही से समझें क्योंकि सरकार और आम लोग एक सिक्के के दो पहलू की तरह हैं। दोनों एक-दूसरे के बगैर किसी काम के नहीं। लोगों ने कहा कि उन्हें वोट देने का अधिकार है, इसलिए उन्हें सवाल पूछने का भी अधिकार है। जीरकपुर के लोगों वोट की अहमियत वे अच्छे से समझते हैं, उनका मानना है कि हर व्यक्ति को अपना वोट देना चाहिए। वोटिंग के जरिए वे बदलाव के लिए लोगों को आगे आने के लिए प्रेरित करने का काम कर रहे हैं।
कौन कौन है उमीदवार:- 
●कांग्रेस से पूर्व विदेश राज्य मंत्री व मुख्यमंत्री पंजाब की पत्नी परनीत कौर 
●श्रोमणी अकाली दल से पूर्व मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा  
●पंजाब डेमोक्रेटिक एलाइंस से मौजूदा सांसद डॉ. धर्मवीर गांधी 
●आम आदमी पार्टी से समाजसेवी नीना मित्तल
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ा सीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहीं अवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लम जीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौत हाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता 6 किलो भुक्की पोस्त सहित एक गिरफ्तार जीरकपुर में ट्रक ने 15 गाड़ियां ठोकीं, लगा लंबा जाम विजीलैंस के छापे के बाद कई कॉलोनाइजरों के दफ्तरों में छाया सन्नाटा ढकोली में एक ही रात में आठ दुकानों के ताले चटका लाखों का माल उड़ाया, दुकानदारों में भारी रोष