ENGLISH HINDI Sunday, May 19, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
कांन्स फ़िल्म फेस्टिवल 2019 के दूसरे दिन भी दीपिका पादुकोण का जादू है कायम!पोलिंग बूथों पर प्रशासन ने किए विशेष प्रबंध,वोट डलवाने के लिए दिव्यांगों को पोलिंग बूथ तक ले जाएंगे वाहनफोर्टिस अस्पताल मोहाली ने नसों के इलाज के लिए अपनाई नई विधिरिश्वत मामले में एसएमओ, हैल्थ सुपरवाइजऱ के खि़लाफ़ पर्चा दर्जमकान देने में एक वर्ष से ज्यादा की देरी तो 10 प्रतिशत ब्याज के साथ करनी होगी पूरी कीमत वापसहिमाचल में 4 लोकसभा सीटों के लिए 45 उम्मीदवार मैदान मेंलोकसभा चुनाव से 48 घंटे पहले बाहरी व्यक्तियों को ज़िला छोड़ने के आदेश ऋषिकेश एम्स में उच्च रक्तचाप पर दो दिवसीय कार्यक्रम आयोजित
हिमाचल प्रदेश

हिमाचल में शेयर दि लोड अभियान लांच

April 18, 2019 08:28 PM

शिमला (विजयेन्दर शर्मा )

एरियल ने भारतीय घरों में लैंगिक असमानता दूर करने के उद्देश्यको लेकर फिर से बहस छेड़ी और अपने हालिया अभियान;शेयरदिलोड के साथ इस प्रासंगिक और उचितसवाल को उठाया। ब्रांड का मानना है कि मौजूदा घरेलू असमानता के प्रमुख कारकों में से एक यह है कि आजके बेटे घर का बोझ साझा करने के लिए सुसज्जित नहीं हैं।

वर्ल्ड लॉन्ड्री डे के अवसर पर ब्रांड ने एक नईसंकल्पना प्रस्तुत की, जिसके तहत उन्होंने भारत के बेटों से संडेज को सन-डेज में बदलने की अपील की!संडे का दिन अक्सर परिवार के आराम का दिन होता है, लेकिन अक्सर मां को उस दिन हफ्ते भर के अधूरेकाम निबटाने के लिए दोगुनी मेहनत करनी पड़ती है। बेटे अपनी माताओं का बोझ हल्का करने का कामअपने हाथ में ले सकते हैं, साथ ही वे घरेलू कार्यों में समान रूप से हाथ बंटाने का संकल्प भी कर सकते हैं।इसे संभव बनाने के लिए एरियल ब्रांड अगले 1 महीने तक ऐसे अनूठे ट्यूटोरियल, कार्य और चुनौतियां लेकरहाजिर होगा, जहां हर संडे के दिन बेटों को नया काम सिखाया जाएगा।

पीएंडजी इंडिया और फैब्रिक केयर की विपणन निदेशक सोनाली धवन ने कहा, “शेयर द लोड हैशटैगअभियान ने हमेशा ऐसे सवाल उठा कर घर के भीतर की असमानता को दूर करने की कोशिश की है, जोदर्शकों को सोचने, आत्मनिरीक्षण करने और इस दिशा में कार्य करने के लिए प्रवृत्त करते हैं। सन-डे केमाध्यम से हम उस युवा पीढ़ी पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, जिसका अगर संतुलित तरीके से लालन-पालनकिया गया, तो बड़े होकर वे एकसमान पीढ़ी बन कर उभरेंगे यह जिम्मेदारी हमारी पीढ़ी के माता-पिता  पर है। हम युवा पीढ़ी को जिम्मेदारियां उठाने में सक्षम बनाना चाहते हैं और यह काम हम इस तरीके से करना चाहते हैं, जो उनके लिए दिलचस्प और आकर्षक हो। 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
हिमाचल में 4 लोकसभा सीटों के लिए 45 उम्मीदवार मैदान में रैली को निकले लोगों से भरी बस पलटी होटलो ने अपनाया रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम राष्ट्रीय राजमार्गों की दयनीय स्थिति पर की बैठक मैं उल्लू हूं पर इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं मतदान प्रोत्साहित के लिए पंचायत सचिवों व पटवारियों को किया जाएगा पुरस्कृत: यूनुस सेना प्रमुख ने राज्यपाल से की मुलाकात नवोदय विद्यालय में ग्यारहवीं कक्षा में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित कांग्रेस के भ्रष्ट कारनामे किसी से छिपे नहीं: पीएम मोदी प्रधानमंत्री की तुलना ‘नई दुल्हन’ से करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू की मानसिकता स्त्री विरोधी : इंदू गौस्वामी