ENGLISH HINDI Sunday, May 26, 2019
Follow us on
पंजाब

जीरकपुर में भाजपा और रखड़ा को बड़ा झटका, 26 कार्यकरिणी सदस्यों ने दिया इस्तीफा

April 19, 2019 09:31 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

19 मई को होने जा रहे लोकसभा चुनावों से ठीक पहले ज़ीरकपुर मंडल कार्यकारिणी ने अचानक से इस्तीफा दे पटियाला लोकसभा सीट से भाजपा-अकाली उम्मीदवार सुरजीत सिंह रखड़ा के लिए मुसीबतें बढ़ा दीं हैं। कार्यकारिणी सदस्यों द्वारा इतनी बड़ी संख्या में दिए गए स्तीफों के साथ जहाँ पटियाला हलके से चुनाव लड़ रहे सुरजीत सिंह रखड़ा की मुसीबतें बढ़ सकती है उसके साथ डेराबस्सी के विधायक एन के शर्मा के लिए भी खतरे की घंटी बजा दी गई है।
शुक्रवार को जारी बयान में किशोर वर्मा महामंत्री ज़ीरकपुर, सुरेश प्रज़ाप्रती महामंत्री ज़ीरकपुर मंडल, प्रधान संतोष कुमारी महिला मोर्चा ज़ीरकपुर, फुलविन्दर गर्ग प्रधान युवा मोर्चा, गजिन्दर जैन प्रधान स्पोर्ट सेल ज़ीरकपुर, रोहित रहेज़ा व्यापार मंडल ज़ीरकपुर, सुखदीप सिंह ने ज़िला प्रधान सुशील राणा को लिखे स्तीफा पत्र में शुसांत दुग्गल भाजपा ज़िला मंडल प्रधान पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब से वह मंडल के प्रधान बने हैं तब से वह सभी कायदे कानून और भाजपा के सविधान को के विपरीत काम कर रहे हैं। सुशांत दुग्गल के प्रधान बनने के बाद जीरकपुर मंडल में गुटबाज़ी बढ़ती जा रही है।

भाजपा वर्करों को किया जा रहा था अपमानित
इस्तीफ़ा देने वाले 26 कार्यकारिणी सदस्यों ने आरोप लगाया है कि वह भाजपा वर्करों को अपमानित कर रहे हैं जिस कारण लोग सभा चुनाव प्रचार के बावजूद भाजपा मैंबर घर बैठने को मजबूर हैं। उन्होंने दुग्गल पर भाजपा का व्यापारीकरण करने का भी आरोप लगाया। इस्तीफा देने वाले कार्यकारिणी सदस्यों ने कहा कि वह इस समस्या बारे ज़िला भाजपा के प्रधान सुशील राणा व ज़ीरकपुर मंडल के संयोजक मुकेश गांधी को भी इस संबंधित जानकार करवा दिया गया है परंतु उनकी ओर से कोई कार्रवाई नहीं करने पर वे मजबूरन इस्तीफ़ा दे रहे है।  जिस पार्टी को खड़ा करने के लिए उन्होंने तन मन मन से सेवा की हो उस पार्टी का इस तरीके का पतन बरदाश्त नहीं।

उन्होंने कहा की हालांकि पंजाब में बढ़ रहे भ्र्ष्टाचार अराजकता व कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए वे अकाली दल- भाजपा के उमीदवार के हक में वोट तो डाल देंगे, परंतु प्रचार नहीं करेंगे। जब इस संबंधित जीरकपुर मंडल संयोजक मुकेश गांधी के साथ बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि इस मामले को कल तक हल कर लिया जायेगा।

उन्होंने माना कि इस चुनावी माहौल में यह पार्टी के दुर्भाग्यपूर्ण है। इस संबंधित शुशांत दुग्गल के साथ बातचीत की गई तो उन्होंने इस सारे प्रकरण पर जीरकपुर के पुराने मंडल प्रधान व पार्षद भूपिंदर सिंह के खिलाफ ही आरोप लगा दिए कि यह सब उन्हीं का किया धरा है। इस बारे में जिला प्रधान सुशील राणा व विधायक एनके शर्मा ने मामलें के बारे में अनभिज्ञता जाहिर की ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें