ENGLISH HINDI Monday, December 09, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
द स्काई मेंशन मैं पहुंचे करण औजला , लोगों का किया मनोरंजनसीएम की सुरक्षा में सेंध से डेराबस्सी के बहुचर्चित कब्जा विवाद ने पकड़ा तूल: दूसरे पक्ष ने लगाया मुख्यमंत्री के आदेशों के उल्लंघन का आरोप सिंगला की बर्खास्तगी को लेकर राज्यपाल को मिलेगा ‘आप’ का प्रतिनिधिमंडल - हरपाल सिंह चीमाअंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव : 18 हजार विद्यार्थी, 18 अध्यायों के 18 श्लोकों के वैश्विक गीता पाठ की तरंगें गूंजीअविनाश राय खन्ना हरियाणा व गोवा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चुनाव हेतू आब्र्जवर नियुक्तहिमाचल प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र 9 दिसम्बर से तपोवन धर्मशाला में: डॉ राजीव बिंदलधर्मशाला में 10 दिसम्बर को लगेगा रक्तदान शिविरबिक्रम ठाकुर ने कलोहा में बाँटे 550 गैस कनेक्शन, कलोहा पंचायत में 35 सोलर लाईट और व्यायामशाला की घोषणा
मनोरंजन

भोजपुरी और पंजाबी फिल्मों की तर्ज परहरियाणवी फिल्में बनाना जरूरी: सतीश कौशिक

May 03, 2019 09:54 PM
चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री।
हरियाणवी फिल्म छोरीआ छोरो से कम नहीं होती-महिला सशक्तिकरण पर आधारित हेै जो छोरी -छोरे के प्रति भेदभाव को दूर करने को प्रेरित करेगी । हरियाणा की संस्कृति रिच है । यहॉ चंद्रावन, पगड़ी,सतरंगी, दंगल, तनु वेड्स मनु जैसी फिल्मों की सफलता के बाद, जिसने हरियाणवी भाषा को व्यापक रूप से लोकप्रिय बना दिया है।
भोजपुरी और पंजाबी फिल्मो की तर्ज पर हरियाणवी फिल्में बनाना बहुत जरूरी हो गया है।यही सोचकर हरियाणवी भाषामें इंटरट्रेनिंग फिल्म बनाई है । यह विचार प्रसिद्धअभिनेता सतीश कौशिक ने  पत्रकारो सेरूबरू होकर व्यक्त किये वह आज अपनी पूरी टीम के साथ चंडीगढ़ ऐलांते मॉल में  आये हुए थे । आज यहॉ पीवी आर में फिल्म के टेलर लॉच किया गया तथा फिल्म 17 मई 2019 को रिलीज होने की घोषणा की गई। राजेश अमरलाल बब्बर द्वारा निर्देशित इस फिल्म में सतीश कौशिक, अनिरुद्ध दवे, रश्मि सोमवंशी मुख्य भूमिकाओं में हैं।
फिल्म महिलाओं और लैंगिक समानता को सशक्त बनाने के विचार को स्थापित करती है। युवां कलाकार अनिरुद्ध दवे विकास के लीड रोल  में है। इसके अलावा वह सोनी पर आ रहे पटियाला वेव सीरियल में थानेदार हनुमान सिंह के दबंग रोल में पहले ही काफी लोकप्रिय हैं।जी स्टूडियो के सीईओ शारिक पटेल ने कहा, हम अपनी पहली हरियाणवी फिल्म पेश करने के लिए सतीश कौशिक से हाथ मिला कर खुश हैं, जो एक मार्मिक कहानी है जो हमारे समाज में लैंगिक समानता के महत्व को स्थापित करती है।
निर्देशक राजेश अमरलाल बब्बर ने कहा, फिल्म नारी सशक्तीकरण के इर्द-गिर्द घूंमती है और न केवल हरियाणा में, बल्कि दुनिया के बाकी हिस्सों में यह संदेश फैलाने के लिए एक साहसिक कदम उठाती है कि एक लडक़ी का बच्चा जीवन के किसी भी क्षेत्र में किसी लडक़े से कम नहीं है। निर्माता निशांत कौशिक कहते हैं, हाल के वर्षों में, क्षेत्रीय सिनेमा ने सीमा में वृद्धि की है। हम द सतीश कौशिक एंटरटेनमेंट, जस्टूडियो के साथ, हरियाणवी फिल्म उद्योग की स्थापना के अपने सपने को आगे बढ़ाना चाहते हैं । 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और मनोरंजन ख़बरें
द स्काई मेंशन मैं पहुंचे करण औजला , लोगों का किया मनोरंजन विद्या बालन ने शकुंतला देवी की शूटिंग पूरी की गायक और गीतकार प्रतीक मान का गीत "सूरमा" लोकार्पित पंजाबी सिनेमा को मुख्यधारा में लाने की अनूठी पहल पॉलीवुड को बॉलीवुड के सामानांतर लाएगा “लाफा” साडा राम कांशी राम गीत के वीडियो का पोस्टर रिलीज सुरक्षा कारणों से गुरदास मान का शो किया रद, सुनंदा और परमिश वर्मा के खिलाफ थाने में शिकायत अमोल पाराशर को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला मॉडलिंग प्रतियोगिता में सिरसा की डॉ० दीक्षा ने पाया तीसरा स्थान चेलेंजिग रोल करना पसन्द हैं :नेहा मलिक दिल की डॉक्टर निहारिका कैटरीना की तरह दर्शकों के दिल पे करना चाहती है राज