ENGLISH HINDI Saturday, August 24, 2019
Follow us on
 
चंडीगढ़

किसानों को कर्ज माफी का मुद्दा: अकाली अपनी मंजी हेठां सोटा मारन, किया अकालियों की विफल योजनाओं का खुलासा

May 16, 2019 09:19 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज
पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने जहां शिरोमणि अकाली दल की किसानों के कर्ज माफी की योजना के झूठ का पर्दाफाश किया, वहीं अपनी पत्नी नवजोत कौर के उस कथन कि कैप्टन अमरिंदर और आशा कुमारी ने उनकी टिकट कटवाई, पर पीठ थपथपाई। सिद्धू ने कहा कि अकाली दल के दो पिल्लर हैं एक पंथ और दूसरा किसान और  इन दोनों को लेकर अकाली दल का पर्दाफाश करके रहेंगे।
सिद्धू ने चंडीगढ़ प्रेस क्लब ने मीडिया को बताया कि किस तरह किसानों की कर्ज माफी पर किसान कर्ज माफी फोरम गठन किए जाने के करोड़ों रुपए के इश्तहार दिए गए जबकि किसी का भी कर्ज माफ नहीं हुआ। यहां तक कि पंजाब के जिलों में पांच को छोड़ कर चेयरमैनों और सदस्यों का गठन तक नहीं किया गया। भगत पूर्ण सिंह बीमा योजना का लाभ भी लोगों तक नहीं पहुंचा और करोड़ों रुपए विज्ञापन पर खर्च कर दिए।
मोदी को लिया आड़े हाथों
सिद्धू ने कहा कि चार हजार करोड़ रुपए बड़े घरानों को कर्ज माफ कर दिया गया और जो एनपीए मनमोहन सरकार के समय चार हजार करोड़ रुपए का था मोदी सरकार ने 24 हजार करोड़ रुपए तक पहुंचा कर अम्बानी, अदानी को फायदा पहुंचाया गया। रिलायंस को अरबों रुपए में विदेशों में टेंडर अलॉट किए गए और अदानी को भरपूर रियायतें दी गईं। देश भर में विभिन्न योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए 12 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा विज्ञापनों पर ही खर्च कर दिए गए जबकि इन योजनाओं का नतीजा जीरो था।
मेरी पत्नी में इतनी नैतिकता....
जब उनसे पूछा गया कि उनकी पत्नी नवजोत कौर का यह कहना कि उनकी चंडीगढ़ और अमृतसर से टिकट कटवाने में कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब मामलों की प्रभारी आशा कुमारी की अहम भूमिका रही, के सवाल पर कहा कि उनकी घरवाली में इतनी नैतिकता है कि वह जो कहती है सत्य कहती है।
जीत और हार लोगों पर निर्भर
सिद्धू ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि वह कितनी सीटें जीतेंगे। हमार काम तो कर्म करना है और जीत और हार पब्लिक पर निर्भर है, जो सीटें जीतने का दावा करते हैं, सवाल भी उन्हीं से पूछा जाए।                                                    नाभा और लुधियाना पीएयू की जमीन का दुरुपयोग                                                                                  सिद्धू ने खुलासा कि अकालियों ने लुधियाना कृषि यूनिवर्सिटी की शोध कार्यों के लिए दी जमीन में हैलीपैड बना दिया और नाभा के सीड सेंटर में कलोनी काट कर किसानों के साथ अन्याय किया जबकि कैप्टन सरकार के लगाए एक प्लांट को बंद ही करवा दिया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
चंडीगढ़ को बाल श्रम मुक्त बनाना है: सहगल स्मार्ट ग्राहक बनें, कैरी बैग की कीमत वसूलने वाले स्टोर्स का करें बहिष्कार गांव दड़ुआ में गीले व सूखे कचरे को अलग करने की योजना शुरू कार्यशाला में मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल की बारीकियां बताई एनएच एम्प्लाइज यूनियन ने प्रशासन के खिलाफ स्वास्थ्य सेवायें बंदकर प्रदर्शन किया स्वास्थ्य और सौंदर्य प्रेमियों के लिए वेगनटिक सुपर फूड्स ने एल्मो-एल्मोंड बेवरेज लॉन्च किया डॉ. रमेश कुमार सेन हिमाचल गौरव अवार्ड से सम्मानित जनता व पीएम योजनाओं के बीच सीढ़ी बनने का कार्य कर रहे हैं:राजमणि चंडीगढ़ रेजिडेंट्स एसोसिएशंस वेलफेयर फेडरेशन ने किरण खेर के सामने उठाया डॉग मिनेस का मुददा बैंक ऑफ इंडिया ने बैंकिंग को आम लोगों पर केन्द्रित ऋणों के वितरण पर दिया जोर