ENGLISH HINDI Tuesday, June 18, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

राष्‍ट्रपति ने प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में आए राष्‍ट्राध्‍यक्षों/ शासनाध्‍यक्षों के सम्‍मान में दिया भोज

May 31, 2019 08:59 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने 30 मई को राष्‍ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने आए राष्ट्राध्यक्षों/ शासनाध्यक्षों के सम्मान में भोज दिया।
भोज में शामिल गणमान्य अतिथियों में बांग्लादेश के राष्‍ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हमीद; श्रीलंका के राष्‍ट्रपति श्री मैत्रीपाला सिरीसेना, किर्गिस्तान के राष्ट्रपति श्री सूरोनबे जीनबेकोव; म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन मिंट, मॉरीशस के प्रधानमंत्री महामहिम प्रविंद कुमार जगन्नाथ, नेपाल के प्रधानमंत्री श्री के.पी. शर्मा ओली, भूटान नरेश डॉ. लोटे शेरिंग तथा थाइलैंड के प्रधानमंत्री के विशेष दूत ग्रिसाडा बूनरैक शामिल थे।
इस अवसर पर राष्ट्रपति श्री कोविंद ने कहा कि भारत के सपने अकेले भारत के लिए नहीं हैं। जब हम अपनी प्रगति के लिए काम करते हैं, तो हम अपने करीबी दोस्तों और करीबी पड़ोसियों से मिलने वाले समर्थन को तहे दिल से याद रखते हैं। हिंद महासागर के सौहार्द से लेकर बंगाल की खाड़ी के उत्‍साह भरे समावेशन और उससे भी बढ़कर मध्य एशिया के साझा सांस्कृतिक संबंधों और आर्थिक अवसरों तक, हमारे लोग समान आशाओं और आकांक्षाओं को साकार रूप प्रदान करते हैं। सदियों से, भारत एक महान व्यापारिक प्रणाली का केंद्र रहा है, जिसका विस्‍तार मध्य एशिया के केंद्र से हिंद महासागर तक है। यही हमारी विरासत है और यही हमारा भविष्य भी है। हमारी सारी जनता और वैश्विक समुदाय की खातिर हमें आवश्‍यक तौर पर अपने क्षेत्र और उससे परे शांति और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए मिलकर काम करना होगा। हम सभी देश एक-दूसरे की प्रगति और कल्‍याण के हितधारक हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
राजनीति से परे कुछ सवाल उठाती डॉक्टरों की हड़ताल डॉ. हर्षवर्धन ने डॉक्टरों संग मारपीट करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने हेतु मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा वायुसेना प्रमुख ने वायु सेना अकादमी में संयुक्त स्नातक परेड की समीक्षा की मेघालय में तुरंत प्रतिनिधिमंडल भेजने का फैसला, पंजाबियों को धमकियों मद्देनजऱ उठाया कदम मरीजों और डॉक्‍टरों से संयम बरतने की अपील कारगिल विजय की 20वीं वर्षगांठ 25 से27 जुलाई तक भाजपा का महत्वपूर्ण बैठक पार्टी मुख्यालय दिल्ली में हुई भारतीय भाषाओं को अधिक सशक्त बनाने पर बल गुजरात तट के लिए ‘बेहद खतरनाक तूफान’ की चेतावनी जारी चक्रवात वायु के मद्देनजर भारतीय नौसेना की तैयारियां