ENGLISH HINDI Saturday, September 21, 2019
Follow us on
 
राष्ट्रीय

रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में कैंसर परीक्षण एवं उपचार शिविर 6 जुलाई को

June 02, 2019 08:36 PM

ऋषिकेश (ओम रतूड़ी) अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के तत्वावधान में हरिद्वार के कनखल स्थित रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में मासिक कैंसर परीक्षण एवं उपचार शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में विशेषज्ञ चिकित्सकों ने करीब 25 रोगियों की जांच की व उन्हें परामर्श दिया। इस अवसर पर मरीजों व उनके तीमारदारों को कैंसर की बीमारी के प्रति जागरुक भी किया गया। एम्स ऋषिकेश की ओर से आयोजित कैंसर जांच शिविर के अवसर पर अपने संदेश में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि संस्थान उत्तराखंड में कैंसर के समुचित इलाज के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि नियमित तौर पर कैंसर शिविरों के आयोजन का उद्देश्य लोगों में इस घातक व जानलेवा बीमारी के प्रति जागरुकता लाना है, जिससे कैंसर का जल्द से जल्द पता लगाया जा सके और समय रहते बीमारी का पूर्णरूप से उपचार किया जा सके। निदेशक एम्स प्रो. कांत ने बताया कि राज्य में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान की स्थापना का उद्देश्य उत्तराखंड व समीपवर्ती राज्यों के लोगों के स्वास्थ्य की त्वरित जांच व समुचित उपचार सुविधा मुहैया कराना है। उन्होंंने बताया कि कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का प्रारंभिक जांच में पता लगने पर समुचित उपचार संभव है। शिविर में डा. पंकज कुमार गर्ग व डा. भियांराम ने मरीजों का सघन परीक्षण किया और परामर्श दिया। एम्स के सर्जिकल ओंकोलॉजी विभागाध्यक्ष प्रो. एसपी अग्रवाल ने बताया कि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में प्रत्येक माह के प्रथम शनिवार को कैंसर परीक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा, उन्होंने बताया कि अगला शिविर छह जुलाई को होगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
परमार्थ निकेतन में अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति दिवस पर विशेष प्रार्थना का आयोजन भारत के लोग पाक वासियों के हित के बारे में सोचते हैं भाषाओं का मेलजोल समाज के लिए जरूरी विश्व शांति दिवस पर मीडिया कर्मियों से किया शांति और सदभाव फैलाने का आहवान एम्स में तीन दिवसीय कंप्यूटर एडिड ड्रग्स डिजाइनिंग कार्यशाला संपन्न छात्र, शिक्षक अन्‍य भाषाएं सीखने के साथ ही मातृभाषा को भी पर्याप्‍त महत्‍व दें एसीसी नियुक्ति दिल्ली एयरपोर्ट पर पांच अफगान यात्री पकड़े, 15 करोड़ की हेरोइन के 370 कैप्सूल बरामद जीवन की सार्थकता है 'स्वार्थ से सर्वार्थ की यात्रा, परमार्थ की यात्रा' तीसरा विश्व हिमालय सम्मेलन अगले वर्ष नेपाल में