ENGLISH HINDI Tuesday, June 25, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ाडॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलायासीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहींअवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लमजीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौतहाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता
राष्ट्रीय

विश्व पर्यावरण दिवस पर एम्स ऋषिकेश में सामुहिक संकल्प

June 06, 2019 08:33 AM

ऋषिकेश, (ओम रतूड़ी)

सांसें हो रही हैं कम
आओ पेड़ लगाएं हम
पेड़ पौधे हैं मानव के लिए वरदान
मत करो इनका अपमान
पशु- पक्षी हैं धरती की शान
पेड़ हैं पर्यावरण की जान
शुद्ध पर्यावरण...स्वस्थ्य जीवन का आधार के संदेश के साथ बुधवार को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें बिगड़ते पर्यावरण पर चिंता जाहिर की गई और इसके संरक्षण का सामुहिक संकल्प लिया गया। इस दौरान एम्स ओपीडी में मरीजों व उनके तीमारदारों को ग्लोबल वार्मिंग से उत्पन्न होने वाली बीमारियों के प्रति जागरुक किया गया व उनसे पर्यावरण के संवर्धन में सहभागिता की अपील की गई। संस्थान के डिपार्टमेंट ऑफ नर्सिंग सर्विसेस की ओर से विश्व पर्यावरण दिवस पर जनजागरुकता पर आधारित कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें अपने संदेश में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि बिगड़ते पर्यावरण के कारण लोग श्वांस सहित कई अन्य जानलेवा बीमारियों से तेजी से ग्रस्त हो रहे हैं। वायु प्रदूषण से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों के बारे में बताते हुए उन्होंने श्वसन तंत्र में होने वाली अस्थमा, निमोनिया जैसी घातक बीमारियों से बचाव के लिए पर्यावरण की रक्षा पर जोर दिया, उन्होंने बताया कि प्रदूषण की रोकथाम में योगदान देने से इस तरह की खतरनाक बीमारियों से बचा जा सकता है। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया कि सामुहिक प्रयासों से ही प्रदूषण से खराब होती आबोहवा को जीवन के अनुकूल बनाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि पौधरोपण को संकल्प के साथ अभियान बनाने से ही ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से निजात मिल सकती है और अमूल्य जीवन को बचाया जा सकता है। इस दौरान उन्होंने नर्सिंग स्टाफ, मरीजों व उनके तीमारदारों को पेड़ बचाओ पेड़ लगाओ, बीमारियों को दूर भगाओ का संदेश दिया। कार्यक्रम में सीनियर नर्सिंग ऑफिसर प्रकाश चंद मीना ने पर्यावरण के महत्व तथा पर्यावरण के दूषित होने से मनुष्य जीवन पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों के प्रति लोगों को जागरुक किया। उन्होंने बताया कि इस वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस का आयोजन चीन में हो रहा है, जिसकी थीम वायु प्रदूषण रखी गई है। उन्होंने वायु प्रदूषण के स्रोतों और वायु प्रदूषण से होने वाली बीमारियों और उनसे बचाव के तौर तरीकों पर विस्तार से चर्चा की। इस दौरान उपस्थित स्टाफ, मरीज के परिजनों को पर्यावरण को स्वच्छ रखने और पेड़ों की रक्षा की शपथ दिलाई गई।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
योग को दिनचर्या में शामिल करने का आह्वान भारतीय नौसेनेा के लिए छह पी75 पनडुब्बियों के निर्माण के लिए अभिरूचि पत्र आमंत्रित मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. निशंक ने किया राष्ट्रीय बाल भवन संस्था का औचक निरीक्षण रीज़नल आउटरीच ब्यूरो अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर कल योग सत्र का आयोजन योग मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है विश्व तीरंदाजी चैंपियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए भारतीय तीरंदाज सम्मानित बांग्लादेश और दक्षिण कोरिया के चैनल दूरदर्शन फ्री डिश पर चैनलों को रियलटी शो और कार्यक्रम दिखाए जाते समय बच्‍चों की भागीदारी में संयम और संवेदनशीलता बरतने की सलाह भारतीय तटरक्षक करेगा दिल्ली में 12वीं आरईसीएएपी आईएससी क्षमता निर्माण कार्यशाला की सह-मेजबानी ट्रांसपोर्ट वाहन चालकों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता हटाने का निर्णय