ENGLISH HINDI Wednesday, September 18, 2019
Follow us on
 
पंजाब

गैस पाइपलाइन से सप्लाई होती गैस लीकेज से धमाका तीन झुलसे, दरवाजे टूटे-शीशे फूटे

June 10, 2019 06:51 PM
जीरकपुर, जेएस कलेर
सोमवार सुबह 9 बजे के आस-पास ढकोली स्थित पंचकूला मुख्य मार्ग पर सपैंगल हाइट्स नामक सोसायटी की दूसरी मंजिल में तेज आवाज के साथ धमाका हुआ। धमाके के कारण मकान के दरवाजों व खिड़कियों पर लगे शीशे फूट गए। वहां उपस्थित तीन लोग  बुरी तरह से झुलस गए। उन्हें सोसाइटी वासियों ने इलाज के लिए पहले पंचकूला सैक्टर 6 सिविल अस्पताल पहुंचाया। वहां घायलों में दो की  स्थिति नाजुक बनी हुई है। 

आंखों देखी: धमाका सुन अपने कमरे से रसोई की ओर भागा, देखा तो माँ के कपड़ों में लगी थी आग, नोकरानी राज रानी भी झुलसे थे । सुबह 9 बजे थे मैं (सुनील गर्ग) अपने कमरे में अभी नींद से उठ कर ही बैठा था। उसी दौरान कुछ ही पल में तेज धमाके के साथ चिल्लाने की आवाज आई। मैं भागकर गया तो देखा माँ के कपड़ों में आग लगी है। मैंने उसके कपड़े फाड़कर आग बुझाई। नोकरानी राज रानी भी झुलसी हुई थी। कमरे में चारों तरफ सामान बिखरा था। दरवाजे व खिड़कियां टूटे पड़े थी। मोहल्ले वालों की मदद से माँ व नोकरानी को हम पंचकूला हॉस्पिटल ले गए।


 
 
 
ढकोली स्थित पंचकूला मुख्यमार्ग के नजदीक सपैंगल हाइट्स के फ्लैट नंबर 53 सी ब्लाक की दूसरी मंजिल पर सुबह 9 बजे अचानक फ्लैट की किचन में तेज धमाका हुआ। धमाके से आस-पास के क्षेत्र के लोग भी सहम गए। सभी भागकर वहां पहुंचे तो देखा मकान के दरवाजे धमाकों के कारण टूट चुके हैं। खिड़कियों व अन्य जगह लगे शीशे फूट गए और 2 महिलाएं व एक व्यक्ति आग से झुलस गए हैं जिन्हें लोगों ने घायलों को तुरंत पंचकूला सैक्टर 6 अस्पताल पहुचाया। 
  

हादसे में सुनील गर्ग 45 पुत्र जगदीश लाल, उनकी माताजी उषा 60 पत्नी जगदीश लाल व उनकी नोकरानी राज रानी झुलस गए। सोसाइटी में पाइप के जरिए  सप्लाई की जा रही एलपीजी गैस पर सुनील की माँ व नोकरानी कुछ बनाने के लिए खड़ी थीं जैसे ही उनकी माँ उषा ने रेगुलेटर घुमाया तो एक जोरदार धमाका हुआ और वे दोनों आग की लपटों में घिर गई। धमाके से सुनील के कमरे का दरवाजा टूट गया और उसने बाहर आकर देखा तो  उनकी माँ व नोकरानी लपटों में घिरी हुई थी उसने तुरंत एक कंबल लपेट उन दोनों के शरीर से आग बुझाई। आग बुझाते हुए सुनील के हाथ भी झुलस गए। उनकी किचन के अंदर अन्य सामान भी तहस-नहस हो गया। तभी धमाका सुन पहुचे सोसायटी वासियों पहुच उन्हें पंचकूला सैक्टर 6 अस्पताल पहुचाया। गनीमत रही कि छुट्टियों के चलते सुनील व उसके भी के बच्चे अपने ननिहाल गए हुए थे वरना बड़ा हादसा हो सकता था। पाइप से गैस रिसाव के कारण पूरे घर में उसकी बदबू फैल गई थी। फिलहाल आग कैसे लगी धमाका कैसे हुआ, यह अभी तक पता नहीं चल पाया है। 
 
आंखों देखी: धमाका सुन अपने कमरे से रसोई की ओर भागा, देखा तो माँ के कपड़ों में लगी थी आग, नोकरानी राज रानी भी झुलसे थे । सुबह 9 बजे थे मैं (सुनील गर्ग) अपने कमरे में अभी नींद से उठ कर ही बैठा था। उसी दौरान कुछ ही पल में तेज धमाके के साथ चिल्लाने की आवाज आई। मैं भागकर गया तो देखा माँ के कपड़ों में आग लगी है। मैंने उसके कपड़े फाड़कर आग बुझाई। नोकरानी राज रानी भी झुलसी हुई थी। कमरे में चारों तरफ सामान बिखरा था। दरवाजे व खिड़कियां टूटे पड़े थी। मोहल्ले वालों की मदद से माँ व नोकरानी को हम पंचकूला हॉस्पिटल ले गए।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
शैलर इंडस्ट्री को तबाह कर देगी नई कस्टम मिलिंग नीति: चीमा लग्जरी गाडिय़ां चुराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 2 आरोपी गिरफ्तार प्लास्टिक बैन के तहत डेराबस्सी में छापेमारी ज़ीरकपुर भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्म दिवस धूमधाम से मनाया आयोग द्वारा ख़ीवा दियालूवाला मामले में एसएसपी मानसा से रिपोर्ट तलब पंजाब रोडवेज़ का जी.एम और सब इंस्पेक्टर रिश्वत केस में गिरफ़्तार बकाया वजीफों ने लाखों विद्यार्थियों का भविष्य अंधकार की ओर धकेला: मान चोर गिरोह का पर्दाफाश, चोरी में इकट्ठा हुआ सामान बांट रहे तीन में से 2 गिरफ्तार 370 हटाने का विरोध करने वालों के आगे अड़ गए शिव सैनिक नेत्र व दंत चैकअप शिविर में 300 से ज्यादा रोगियो की जांच