ENGLISH HINDI Friday, September 20, 2019
Follow us on
 
पंजाब

लोकसभा चुनाव और बिजली आंदोलन को लेकर 'आप' ने की लंबी बैठक

June 11, 2019 10:09 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब ने सोमवार को लोकसभा चुनाव (2019) के बारे में गंभीर रूप से विचार विमर्श करने के साथ-साथ राज्य के लोगों की रोजमर्रा जिंदगी के साथ सीधा जुड़े महंगी बिजली और निकम्मी सेहत और शिक्षा सेवाओं जैसे मुद्दों पर भी विचार-चर्चा की और बार-बार महंगी की जा रही बिजली के विरोध में राज्य स्तरीय 'बिजली आंदोलन' शुरु करने की रूप रेखा के बारे में गहनता से विचार-चर्चा की गई।
कोर समिति पंजाब के चेयरमैन और विधायक प्रिंसिपल बुद्धराम और विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा की अध्यक्षता में कई घंटे तक चली इस बैठक में कोर समिति के सदस्यों ने हिस्सा लिया। इसके इलावा कोर समिति ने लोग सभा चुनाव के लिए पार्टी उम्मीदवारों के साथ भी एक-एक कर चुनाव सम्बन्धित फीडबैक और सुझाव लिए गए, जिससे भविष्य में पार्टी को मजबूत करने के लिए पेश आई कमियों को दूर किया जा सके।
लंबी बैठक के उपरांत मीडिया के साथ बातचीत करते हुए चीमा और प्रिंसिपल बुद्धराम ने बताया कि जल्दी ही 'बिजली आंदोलन' की रूप रेखा ऐलान दी जाएगी और सरकार को बिजली के बार-बार बढ़ाए जा रहे रेट कम करने के लिए मजबूर किया जाएगा। एक सवाल के जवाब में चीमा ने नए बिजली मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से अपील की है कि वह तुरंत बिजली मंत्रालय का कार्यभार संभाल कर पंजाब के लोगों को महंगी बिजली से राहत दें और कांग्रेस खास करके कैप्टन अमरिन्दर और पंजाब कांग्रेस के प्रधान सुनील जाखड़ की तरफ से किया गया वह वायदा पूरा करें जिस में पिछली बादल सरकार की तरफ से सरकारी थर्मल प्लांटों की कुर्बानी देकर निजी कंपनियों के साथ किए गए पंजाब और लोक विरोधी महंगे बिजली खरीद समझौते सरकार बनने पर तुरंत रद्द करने के वचन दिए गए थे परंतु सरकार बनने पर कैप्टन भी निजी बिजली कंपनियों के साथ मिल गए हैं। इसलिए नवजोत सिद्धू को पंजाब के लोगों का भला करने और कांग्रेस के चुनाव मैनीफैस्टो का वायदा पूरा करने का सुनहरा मौका मिला है।
चीमा और प्रिंसिपल बुद्धराम ने बताया कि कोर समिति की विचार चर्चा और उम्मीदवारों की फीडबैक पर आधारित एक विस्तार रिविऊ रिपोर्ट पार्टी के राज्य प्रधान भगवंत मान के द्वारा राष्ट्रीय कनवीनर और दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल को सौंपी जाएगी। उन्होंने बताया कि पार्टी को बूथ स्तर से लेकर राज्य स्तर तक नए जोश के साथ मजबूत किया जाएगा। चीमा ने स्पष्ट किया कि पार्टी का ढांचा भंग नहीं किया जाएगा बल्कि इस में ओर अधिकारियों को जोड़ कर और ज्यादा मजबूत किया जायेगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें