ENGLISH HINDI Tuesday, June 18, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

समुद्रीय सूचना साझाकरण कार्यशाला का आयोजन

June 11, 2019 06:22 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
हिंद महासागर क्षेत्र (आईओआर) में समुद्रों की रक्षा और सुरक्षा विश्‍व व्‍यापार और अनेक देशों की आर्थिक समृद्धि के लिए महत्‍वपूर्ण है। समुद्र में गतिविधियों का पैमाना, क्षेत्र और बहुराष्‍ट्रीय स्‍वरूप समुद्रीय सुरक्षा के लिए एक सहयोगी दृष्टिकोण की जरूरत दर्शाता है। इसे ध्‍यान में रखते हुए सूचना संलयन केन्‍द्र- हिंद महासागर क्षेत्र (आईएफसी-आईओआर) का दिसंबर, 2018 में रक्षा मंत्री ने उद्घाटन किया था। ऐसा इस क्षेत्र में समुद्रीय रक्षा और सुरक्षा को बढ़ाने के लिए किया गया है। इस केन्‍द्र ने 16 से अधिक देशों और 13 अंतर्राष्‍ट्रीय समुद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के साथ अब तक संबंध स्‍थापित कर लिए हैं।
समुद्रीय सूचना साझा करने के क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रक्रियाओं को साझा करने में सहायता प्रदान करने और आईओआर में हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्रीय सुरक्षा चुनौतियों को बेहतर ढंग से समझने के लिए भारतीय नौसेना आईएफसी-आईओआर में 12 से 13 जून तक समुद्रीय सूचना साझाकरण कार्यशाला (एमआईएसडब्‍ल्‍यू) की मेजबानी कर रही है। लगभग 30 देशों के 50 से अधिक प्रतिनिधि इस कार्यशाला में भागीदारी करेंगे। इस कार्यशाला में भागीदार देशों के विषय वस्‍तु विशेषज्ञों द्वारा समुद्री डकैती, मानव और मादक पदार्थों की तस्‍करी तथा इन चुनौतियों से निपटने के लिए कानूनी पहलुओं के बारे में संवादमूलक सत्र आयोजित किए जाएंगे। इस कार्यशाला में सूचना साझा करने का अभ्‍यास भी आयोजित किए जाएगा। भारतीय नौसेना के उप-प्रमुख इस कार्यशाला का उद्घाटन करेंगे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
राजनीति से परे कुछ सवाल उठाती डॉक्टरों की हड़ताल डॉ. हर्षवर्धन ने डॉक्टरों संग मारपीट करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने हेतु मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा वायुसेना प्रमुख ने वायु सेना अकादमी में संयुक्त स्नातक परेड की समीक्षा की मेघालय में तुरंत प्रतिनिधिमंडल भेजने का फैसला, पंजाबियों को धमकियों मद्देनजऱ उठाया कदम मरीजों और डॉक्‍टरों से संयम बरतने की अपील कारगिल विजय की 20वीं वर्षगांठ 25 से27 जुलाई तक भाजपा का महत्वपूर्ण बैठक पार्टी मुख्यालय दिल्ली में हुई भारतीय भाषाओं को अधिक सशक्त बनाने पर बल गुजरात तट के लिए ‘बेहद खतरनाक तूफान’ की चेतावनी जारी चक्रवात वायु के मद्देनजर भारतीय नौसेना की तैयारियां