ENGLISH HINDI Tuesday, July 16, 2019
Follow us on
हरियाणा

नवजात शिशु की मेडीकल केयर देश में अभी भी चिंताजनक: डा. भकू

June 15, 2019 11:36 AM

पंचकूला, फेस2न्यूज:
स्थानीय पारस बलिस अस्पताल के बाल रोग विभाग के डायरेक्टर डा. ओ.एन.भकू ने कहा कि मुर्दा जन्म लेने वाले बच्चों के मामले में भारत विश्व के पांचवे हिस्से पर खड़ा है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा नवजात बच्चों की मौत भी भारत में विश्व भर के मुकाबले तीसरे हिस्से में होती है, जो कि एक चिंता का विषय है। नवजात बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी भारत में मौजूद सुविधाओं संबंधी जागरूकता पैदा करने के मकसद से रखी प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधन करते हुए उन्होंने कहा कि 6.6 मिलियन बच्चे पांच साल की उम्र के दौरान ही विश्वभर में मौत की गोद में चलते जाते हैं। उन्होंने कहा कि भारत में हर वर्ष 28 दिनों तक की उम्र बिता चुके नवजात बच्चों में से तकरीबन 0.75 मिलियन बच्चे मर जाते हैं, जबकि 70 फीसदी चार सप्ताह तक की उम्र बिता चुके बच्चे मर रहे हैं।
इस अवसर पर बोलते हुए डा. सौरभ गोयल ने कहा कि बीते दो दशकों दौरान गर्भवती महिलाओं व बच्चों की स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए बड़ी खोजें हुई हैं। उन्होंने कहा कि नवजात बच्चों की मौतों के ज्यादा कारण जन्म के समय इनफेक्शन हो जाने से भी होती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में 1000 जन्म के पीछे हर वर्ष 28 बच्चों की मौतें हो रही हैं, जो कि झारखंड व बिहार जैसे पिछड़े राज्यों से अधिक हैं। उन्होंने कहा कि पारस अस्पताल ने फैसला किया है कि नवजात बच्चों की स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए अंबाला, करनाल, यमुनानगर व सोलन में वेंटीलेटेड एंबूलैंस की सुविधा मुहैया करवाई जाए।
बाल सर्जरी विभाग के डायरेक्टर डा. के.एल.एन राओ ने कहा कि पारस अस्पताल में बच्चों के आप्रेशन की आधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि पारस अस्पताल आसपास के शहरों के डाक्टरों के लिए नई तकनीकों की ट्रेनिंग देने की सुविधा भी उपलब्ध करवा रहा है। उन्होंने कहा कि नर्सों एवं पैरा मैडीकल स्टाफ को टेली मैडीसन विधि द्वारा आईसीयू की ट्रेनिंग दी जाती है। कहा कि फिलहाल वेंटीलेटेड सुविधा उक्त शहरों में दी जाएगी, जिनको बाद में और भी नजदीकी शहरों में बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि आम तौर पर सही टाइम पर अस्पताल न पहुंचने के कारण नवजात बच्चों की मौत होती है, जिस कारण फैसला किया गया है कि बढिय़ा सुविधा वाली ट्रांसपोर्ट सेवाएं मुहैया करवाई जाएं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
203 ग्राम पंचायतों ने ‘सेवन स्टार रेनबो’ योजना के लिए भरा आवेदन 10 साल से ज्यादा पुराने प्रदूषण फैलाने वाले ऑटोरिक्शा नहीं चल सकेंगे एक आईएएस तथा दो एचसीएस अधिकारी तबदील अयोग्य लोगों के फर्जी गोल्डन कार्ड बनाने के आरोप में आयुष्मान मित्र के खिलाफ मामला दर्ज विधानसभा चुनाव को लेकर “आप” हुई सक्रिय एक आईएएस तथा दो एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश यातायात नियमों की अनुपालना करने वालों को दस्तावेजों की जाँच के लिए नहीं रोका जाएगा देश में वातावरण को लेकर गम्भीर समस्या, जल और वायु दोनों दूषित हो गए बढ़ती जनसंख्या पहुँचाती है देश और पर्यावरण दोनों को नुकसान पारदर्शिता लाने के लिए सूचना के अधिकार अधिनियम लागू करें सरपंच: सूचना आयुक्त