ENGLISH HINDI Tuesday, July 16, 2019
Follow us on
पंजाब

महंगे सीमेंट-बजरी से लोगों को घर बनाना हुआ कठिन: चीमा

June 18, 2019 08:10 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के नेता और विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने निर्माण सामग्री की सातवें आसमान पर बढ़ी कीमतों को लेकर राज्य और केंद्र सरकारों को कोसा है। चीमा ने कहा कि गरीबों, दलितों-दिहाड़ीदारों और आम परिवारों के लिए घर या अन्य छोटा-मोटा निर्माण कार्य करना उनके बस से बाहर हो गए हैं, परंतु सरकारों का आम लोगों की ओर कोई ध्यान नहीं है।
पार्टी द्वारा जारी बयान में चीमा ने कहा कि हर माह निर्माण सामग्री की कीमतें बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि पिछले ढाई तीन माह के दौरान सीमेंट की बोरी के मूल्य में 60 रुपए से लेकर 80 रुपए तक की बढ़ौतरी हुई है। इसी तरह प्रति हजार ईंट का रेट 5500 रुपए से ज्यादा हो गया है। माफिया के कारण रेता-बजरी की हद से ज्यादा महंगे दाम हो गए है। यही हाल सरिया और लकडी आदि का है। ऐसे हालात में आम जनता तो दूर अच्छे पैसे वाले व्यक्ति के लिए भी घर बनाना चुनौती हो गया है। चीमा ने कहा कि महंगी हो रही निर्माण सामग्री के कारण पंचायतों समेत अन्य सरकारी कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं।
चीमा ने मांग की है कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार निर्माण-सामग्री की कीमतों को पहले अपने स्तर पर काबू करे और सराज्य स्तरीय टैक्स कम करे। रेत-माफिया की गुंडा पर्ची बंद करे और फिर केंद्र सरकार पर निर्माण सामग्री की जरूरी वस्तुओं पर टैक्स/जीएसटी की दरें कम करवाने के लिए दबाव बनाए।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
वफादार कुत्ते ने अपने मालिक की जान बचाकर मिसाल पेश की बारिश ने खोली नगर कौंसिल की पोल, थाने व नगर कौंसिल ऑफिस के बाहर भी भरा पानी स्कूटर पर जा रहे परिवार को सांड ने मारी टक्कर, 6 माह की बच्ची की मौत, पत्नी की लात फ्रैक्चर बिना वैरीफिकेशन करवाए किरायेदार खने के आरोप में 2 मकान मालिकों पर केस दर्ज रेगुलाइजेशन पॉलिसी की आड़ में बनाई जा रहीं है अवैध कालोनियां, ठगे जा रहे है लोग जिग-जैग तकनीक ना अपनाने वाले भट्टे 30 सितम्बर के बाद नहीं चल सकेंगे: पन्नू सुखबीर बादल को नशों के मुद्दों पर बोलने का कोई हक नहीं: रंधावा ज़ीरकपुर में डेंगू की दसतक : एक मामला पॉजिटिव बिना वैरीफिकेशन किरयेदार रखने पर 2 मकान मालिकों पर केस दर्ज बरसाती पानी के जमा होने से दुखी हैं लोग, बच्चों का स्कूल जाना हुआ मुश्किल