ENGLISH HINDI Wednesday, April 01, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
सेवामुक्त होने वाले पुलिसकर्मियों का सेवाकाल 31 मई तक बढ़ायाकोरोना : पहले कैदियों को रिहा किया, अब नशामुक्ति केंद्रों से नशेडिय़ों को भेजा जाएगा घर14 अप्रैल तक बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय और शैक्षणिक संस्थान: मुख्यमंत्रीगड़बड़झाला: दवा के नाम पर प्रशासन की आंखों में धूल झौंक रहे नगर परिषद अधिकारी व ठेकेदारगुरु का लंगर आई हॉस्पिटल ने प्रवासी मजदूरों और गरीब परिवारों में लंगर वितरण कियादिल्ली में गैर-सरकारी संस्थाओं से हिमाचलवासियों की मदद का अनुरेाधहरियाणा में 70,000 लोगों की क्षमता के 467 राहत शिविर स्थापितमरकज की तबलीगी जमात से लौटे नागरिकों की तुरंत दे सूचना: डीसी
हरियाणा

फायर सेफ्टी एप बनेगा, 22 जिलों के दमकल स्टेशन के साथ उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक और सीएमओ को जोड़ा जाएगा

June 27, 2019 07:56 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
हरियाणा में फायर सेफ्टी उपायों को सुदृढ़ करने के दृष्टिगत जल्द ही एक फायर सेफ्टी एप बनाया जाएगा, जिसमें सभी 22 जिलों के दमकल स्टेशनों के साथ-साथ उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक और सीएमओ को जोड़ा जाएगा। इससे राज्य में कहीं पर भी आग लगने की घटना होगी तो उसका अलर्ट सभी को चला जाएगा, जिससे तुरंत मदद उपलब्ध हो सकेगी।
हरियाणा शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्रीमती कविता जैन ने कहा कि पंचकूला में फायर सेफ्टी उपायों को लेकर राज्य स्तरीय बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण और महानिदेशक समीर पाल सरो भी उपस्थित थे। बैठक में आग लगने के हादसों में कमी लाने और हादसों के दौरान त्वरित मदद पहुंचाने तथा भविष्य में विभाग की कार्यप्रणाली को और सुदृढ़ करने पर गहन चर्चा की गई।
बैठक में श्रीमती जैन ने कहा कि फायर ब्रिगेड का कार्य किसी भी तरह से पुलिस और चिकित्सा सेवाओं से कम नहीं आंका जा सकता है। उन्होंने कहा कि दमकलकर्मी भी जान बचाने का कार्य करते हैं और उनकी भूमिका सैनिक से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि विभाग को और अधिक मजबूत करने की जरूरत है। इसके लिए जल्द ही फायर सेफ्टी एप बनाया जाएगा। इस एप के माध्यम से दमकल सेवा के साथ-साथ प्राथमिक चिकित्सा सेवा भी मुहैया करवाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि शहरों में भीड़ वाले क्षेत्रों व तंग गलियों में आग की घटनाओं पर तुरंत काबू पाने के लिये फायर बिग्रेडयुक्त 102 मोटरसाईकिल खरीद कर प्रदेश के सभी जिलों में उपलब्ध करवाये गये हैं। उन्होंने बताया कि विभाग में स्टाफ की कमी को पूरा करने के लिये आउटसोसिंग से लगभग एक हजार कर्मचारियों की व्यवस्था की गई है और 1046 नियमित पदों पर भर्ती के लिये हरियाणा राज्य कर्मचारी चयन आयोग को मांग भेजी जा चुकी है। इसके अलावा दमकल और सहायक दमकल अधिकारियों की भर्ती के लिये हरियाणा पब्लिक सर्विस कमीशन को मांग भिजवाई गई है।
उन्होंने कहा कि दमकल गाडिय़ों में जीपीएस सिस्टम लगाया जाएगा जिससे हादसे वाले स्थान की लोकेशन पता कर वहां पर जल्द पहुंचा जा सके। उन्होंने कहा कि जिला व ब्लॉक स्तर पर दमकल स्टेशनों पर सिस्टम ऑनलाइन होना चाहिए, जिससे आग लगने की सूचना तुरंत मिल सकेगी। मुख्यालय स्तर पर एक नोडल अधिकारी लगाया जाएगा जो प्रदेशभर के दमकल स्टेशनों के साथ समन्वय स्थापित उन्होंने कहा कि सिनेमा हॉल, अस्पताल, कोचिंग सेंटर जैसी बहुमंजिला इमारतों को एनओसी जारी करते समय अग्नि सुरक्षा उपायों का विशेष ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अधिकारी नियमों को ताक पर रखकर एनओसी या नवीनीकरण पत्र जारी न करें।
उन्होंने फायर ऑफिसरों को निर्देश दिए कि वे अपने जिलों में अग्नि सुरक्षा पखवाड़ा मनाए और इस दौरान मॉक ड्रील्स की जाए। इसके लिए वार्षिक कैलेंडर तैयार किया जाएगा। इस दौरान प्रदेश के सभी 22 जिलों में सालभर तक अग्नि सुरक्षा पखवाड़ा, मॉक ड्रील्स की गतिविधियां संचालित की जाएंगी ताकि आमजन को सुरक्षा उपायों की जानकारी मिलने के साथ-साथ विभाग भी हर पल-हर समय तत्पर रहे।
श्रीमती जैन ने विभाग की कार्यप्रणाली को और अधिक मजबूत करने और तकनीकि रूप से सबल बनाने के लिए 6 सदस्यीय कमेटी का गठन किया। इस कमेटी में 4 फायर स्टेशन ऑफिसर व 2 अधिकारी मुख्यालय स्तर के शामिल किए गए हैं। यह कमेटी आगामी सप्ताह में विभिन्न पहलुओं पर अपने सुझाव प्रस्तुत करेगी।
शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव श्री आनंद मोहन शरण ने कहा कि अग्निशमन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को स्तरीय प्रशिक्षण सुविधा उपलब्ध करवाने के लिये पंचकूला के सेक्टर-3 में प्रशिक्षण संस्थान हेतू जमीन उपलब्ध हो चुकी है। उन्होंने कहा कि विभाग के पास अलग से 60-65 करोंड़ रुपये का बजट का प्रावधान है।
शहरी स्थानीय निकाय विभाग के महानिदेशक श्री समीर पाल सरो कहा कि अग्नि शमन विभाग को वर्तमान चुनौतियों के अनुसार सक्षम बनाने के लिये सुविधाओं में विस्तार किया जा रहा है। इसके लिये जिला और उपमंडल स्तर पर स्थित दमकल कार्यालयों में फायर बिग्रेड की कमी पूरी करने के लिये नये वाहन खरीदने की प्रक्रिया शुरू की गई है और अब तक 64 हल्के और भारी वाहन खरीदे जा चुके है। उन्होंने बताया कि महानगरों में बहुमंजिला इमारतों में आग लगने की घटनाओं पर काबू पाने के लिये 32 व 70 मीटर उचाई की क्षमता के 2 हाईड्रोलिक फायर बिग्रेड खरीदने की प्रक्रिया भी आरंभ की गई है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
हरियाणा में 70,000 लोगों की क्षमता के 467 राहत शिविर स्थापित हरियाणा सरकार का कोविड-19 फाइनेंशियल सपोर्ट ऐलान प्रवासी मजदूरों की मूवमेंट के दृष्टिगत सभी अंतर्राज्यीय और अंतर-जिला सीमाएं सील करने के निर्देश हरियाणा : कोरोना रिलीफ फंड में 5 करोड़ दिए सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग की जिम्मेवारी बढ़ी: मीणा कोरोना के चलते एक महीने तक बिजली विभाग के सभी कैश काउंटर बंद, सारचार्ज से छूट सरसों और गेहूं की खरीद के व्यापक प्रबंधों के निर्देश कोरोना से निपटने को सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थाओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों का सहयोग जरूरी: कोविन्द हरियाणा में तीन महीने की अवधि के लिए नियुक्त होंगे तक्नीकी कर्मचारी आंगनवाडिय़ों को महीने के राशन की आपूर्ति घर द्वार पर पहुंचाने के निर्देश