ENGLISH HINDI Monday, November 18, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पंडित यशोदा नंदन ज्योतिष अनुसंधान केंद्र एवं चेरिटेबल ट्रस्ट (कोटकपूरा ) ने वार्षिक माता का लंगर लगायाछतबीड़ जू में व्हाइट टाइगर 'दिया' ने दिया 4 शावकों को जन्मसरकार विदेशों में, यहां दरिन्दे इंसानियत का कर रहे है 'शिकार' : भगवंत मानगुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ संस्कारों का समावेश जरूरी : राजेंद्र राणासन्यासी ही समाज को दिशा दे सकते हैं :आयुषीजददी जायदाद देखने गए व्यक्ति पर चाचा ने किया हमला मामला दर्जहोटल में युवती के सुसाइड के तार गुड़गांव के बहुचर्चित बिहार के पूर्व डीजीपी के बेटे नीरज दत्त की आत्महत्या के साथ जुड़ेजमीन पर कब्जा करने के आरोप में 7 व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज
हरियाणा

जर्नलिज्म एवं मास कम्युनिकेशन आनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाई

July 04, 2019 10:06 AM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
हरियाणा के फरीदाबाद की जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय एम.ए. (अंग्रेजी) और एम.ए. (जर्नलिज्म एवं मास कम्युनिकेशन) पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि को बढ़ाने का निर्णय लिया है। एम.ए. (अंग्रेजी) के लिए आवेदन की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 31 जुलाई किया गया है तथा एम.ए. (जर्नलिज्म एवं मास कम्युनिकेशन) के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 15 जुलाई तक बढ़ाई गई है।
इस संबंध में जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि यह निर्णय विद्यार्थियों के हितों को देखते हुए लिया गया है। इससे पूर्व, दोनों पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 जून थी। आगामी शैक्षणिक सत्र में शुरू किये जा रहे एमए (अंग्रेजी) पाठ्यक्रम में सीटों की संख्या 35 है जबकि एम.ए. (जर्नलिज्म एवं मास कम्युनिकेशन) पाठ्यक्रम में सीटों के संख्या 30 है।
उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा एमए (अंग्रेजी) आगामी शैक्षणिक सत्र से शुरू किया जा रहा है और इस पाठ्यक्रम को अंग्रेजी भाषा विशेषज्ञों द्वारा डिजाइन किया गया है, जिसमें रोजगार की दृष्टि से मूल साहित्यिक और महत्वपूर्ण ग्रंथों के अलावा ग्राफिक-नॉवल राइटिंग, ट्रांसलेशन, फिल्म स्टडीज, नॉन-फिक्शन और क्रिएटिव राइटिंग जैसे पहलुओं का ध्यान रखा गया है। इसी प्रकार, विश्वविद्यालय द्वारा एम.ए. (जर्नलिज्म एवं मास कम्युनिकेशन) भी विगत तीन वर्षों से चल रहा है। दो वर्ष की अवधि के इन दोनों पाठ्यक्रमों के उपरांत विद्यार्थियों को शिक्षण, अनुसंधान, लेखन, विज्ञापन और जनसंपर्क जैसे क्षेत्रों में रोजगार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध हो सकेंगे।
प्रवक्ता ने बताया कि दोनों ही पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी भी विषय में 50 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक है और स्नातक में प्राप्त अंकों की मैरिट के आधार पर किया जायेगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें