ENGLISH HINDI Monday, October 14, 2019
Follow us on
 
पंजाब

गैस एजेंसी के मालिक को पिस्तौल की नोक पर अगवा करने के आरोप में तीन काबू, एक फरार

July 06, 2019 10:29 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

स्थानिय पुलिस ने एक गैस एजेन्सी के मालिक व उसके दो कर्मचारियों को अगवा करने के आरोपी 4 व्यक्तियों पर मामला दर्ज करके तीन को काबू कर लिया है।

थानामुखी ज़ीरकपुर इंस्पेक्टर गुरचरन सिंह ने बताया कि चण्डीगढ़ अम्बाला सड़क पर स्थित आयुश इंडेन गैस एजेंसी के मालिक की शिकायत पर उसे बंदूक की नोक पर अगवा करने के आरोपी 4 व्यक्तियों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर तीन को काबू कर लिया गया है।

  अपनी शिकायत में जैमल कुमार पुत्र दीवान चंद निवासी मकान नंबर 326 सैक्टर 46ए चण्डीगढ़ ने बताया कि उस की जीरकपुर में आयुश इंडेन नामक गैस एजेंसी है। उसने बताया कि 5 जुलाई को प्रातःकाल 10 बजे उसके स्टाफ के कर्मचारी तरुन कुमार का फ़ोन आया कि एक डलीवरी मैन गाड़ी से एक सिलंडर जो कि सिलवर सीटी में डलीवर किया गया था साथ राजवीर सिंह सोढी नामक व्यक्ति ने हंगामा किया हुआ है और फूड सप्लाई विभाग के कर्मचारी भी बुलाए हुए हैं। उसने बताया कि वहाँ फूड सप्लाईविभाग की तरफ से उनके सिलेंडर सही पाये गए।

शाम को करीब 5 बजे जब वह अपने दफ़्तर से गैस गोदाम जो कि 200 फूटी एयरपोर्ट रोड पर स्थित है और गया तो वहां एक सविफट कार में सवार हो कर 4 व्यक्ति निकले जिनमें से एक राजवीर सिंह सोढी पुत्र स्व: अरमजीत सिंह और उसदा लड़का अमराज सिंह सोढी वासियान सैक्टर 33 चंडीगढ़ और सुखवीर सिंघ पुत्र कुलदीप सिंह और घोला वासियान गाँव डेरा जगाधरी आए थे जिन में से राजबीर सिंह के हाथ में एक पिस्तौल पकड़ा हुआ था। जिसने पिस्तौल उसकी तरफ तान कर उसे अपने साथ चलने के लिए कहा और राजबीर सिंह के लड़के ने उस के हाथ में से मोबायल और उसकी स्याज कार की चाबी छीन ली और उसे और उसके दो कर्मचारियों राम सिंह और महिंद्र सिंह को ज़बरदस्ती उसकी ही कार में फैंक लिया और कार बंद कर दी।

उसने बताया कि वह उन को सिद्धू फार्म गाँव महदूदा नज़दीक मजात ले गए जहाँ उन्होंने उसे बुरी तरह से पीटा और ज़बरदस्ती कागज़ों पर दस्तखत करने के लिए कहा। उस ने बताया कि इस दौरान उस के दोनों कर्मचारी वहाँ से भागने में कामयाब हो गए। उसने बताया कि जब वह उस की मारपीट कर रहे थे तो इसी दौरान उसकी खोज करते हुए उस के दो अन्य कर्मचारी तरूण कुमार और अजय सिंह भी पहुँच गए जिनको पकड़ कर पीटा गया। उस ने कथित आरोप लगाया कि राजबीर सिंह सोढी ने उसे कहा कि यदि वह कागज़ों और दस्तखत नहीं करेगा तो उसे जान से मार कर उसके शव को गाड़ी समेत नदी में फैंक देगा।

उसने बताया कि राजबीर सिंह सोढी, उस के लड़के अरमाज सिंह, घोला और सुखवीर सिंह सोढी ने उसके गोदाम वाली जगह पर बयाना किया हुआ है और वह उसकी गैस एजेंसी में जबरदस्ती हिस्सा पाना चाहता है जिसके कारण उसे अगवा करके मारपीट कर ज़बरदस्ती दस्तख़त करवाने की कोशिश की गई।

बात करते हुए थाना प्रमुख ने बताया कि उनको पता लगा कि जीरकपुर से आयुश गैस एजेंसी के मालिक को अगवा करके गाँव महदूदा के सिद्धू फार्म में लिजाया गया था, पुलिस ने वहां पर रेड करके राजबीर सिंह सोढी, अमराज सिंह सोढी और सुखवीर सिंह को काबू कर लिया और घोले को पुलिस ने प्रातःकाल काबू कर लिया है। पुलिस ने दोषियों के ख़िलाफ़ अलग अलग धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई आरंभ कर दी है।

 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
लाखों की लागत से छह साल पहले बना कम्युनिटी सेंटर बना सफेद हाथी, नहीं होते फंक्शन रेल गाड़ी के नीचे आकर बुज़ुर्ग की मौत उत्तराखंड पर्वतीय सभा के रक्तदान शिविर में 43 यूनिट एकत्रित 40 लाख एडवांस लेकर नहीं करवाई प्लाट की रजिस्ट्री, कंपनी के डायरेक्टर सहित 5 पर केस दर्ज गड़बड़झाला: जमीनों की कीमतें बढ़ाने के लिए नेश्नल ग्रीन ट्रिब्यूनल एक्ट की धज्जियां उड़ा रहे कॉलोनाईजर लॉरेट ग्लोबल स्कूल कथोग के छात्रों का शानदार प्रदर्शन कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार ने दिया कर्मियों और पैनशनरों को दीवाली का तोहफ़ा, एक नवंबर से महंगाई भत्ते में तीन प्रतिशत वृद्धि ओपन सेंच्युरी के गांवों में आवारों कुत्तों का आंतक, प्रशासन मौन पाक तस्करों के संपर्क वाले महल सिंह के करीबी को पकड़ा तो बरामद हुई करोड़ों की हेरोइन साख गवा चुका बादल परिवार राजनैतिक अस्तित्व बचाने को शिरोमणि कमेटी को बना रहा है ढाल: चन्नी