ENGLISH HINDI Monday, November 18, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पंडित यशोदा नंदन ज्योतिष अनुसंधान केंद्र एवं चेरिटेबल ट्रस्ट (कोटकपूरा ) ने वार्षिक माता का लंगर लगायाछतबीड़ जू में व्हाइट टाइगर 'दिया' ने दिया 4 शावकों को जन्मसरकार विदेशों में, यहां दरिन्दे इंसानियत का कर रहे है 'शिकार' : भगवंत मानगुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ संस्कारों का समावेश जरूरी : राजेंद्र राणासन्यासी ही समाज को दिशा दे सकते हैं :आयुषीजददी जायदाद देखने गए व्यक्ति पर चाचा ने किया हमला मामला दर्जहोटल में युवती के सुसाइड के तार गुड़गांव के बहुचर्चित बिहार के पूर्व डीजीपी के बेटे नीरज दत्त की आत्महत्या के साथ जुड़ेजमीन पर कब्जा करने के आरोप में 7 व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज
चंडीगढ़

से.- 52 (टिनशेड) निवासियों को आवास देने का मसला पहुंचा प्रधानमंत्री के द्वार

July 09, 2019 12:40 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
वार्ड नं 12 की पार्षद चंद्रावती शुक्ला ने से. 52 (टिनशेड) के निवासियों को आवास देने के मसले को लेकर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। उनके मुताबिक शहर की कालोनी नंबर 5, नेहरू कालोनी, पंडित कालोनी आदि के झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों को प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत धनास में मकान आबंटित किए गए थे। उस समय जिन परिवारों के पास नियमानुसार निर्धारित दस्तावेजों में कुछ कमियां थी और वह उस समय पूरी नहीं कर पाए थ। प्रशासन ने ऐसे 1750 परिवारों को से.-52 में बने अस्थायी बने टिनशेड (एक कमरे के मकान) में शिफ्ट कर दिया था और यह आश्वासन दिया था कि जल्दी ही इन सभी परिवारों को भी मकान आबंटित किए जायेंगे। उल्लेखनीय है कि इनमें रहने वाले परिवार दैनिक मजदूर, रिक्शा चालक व घरों में झाड़ू-पोंछा, बर्तन इत्यादि करने वाली महिलाओं के हैं जो दूसरे प्रदेशों से रोजगार की तलाश में चंडीगढ़ आये हुए हैं। इनमें से अधिकतर सुबह काम पर चले जाते हैं और देर रात काम से लौटते हैं इसलिए चुनाव आयोग के कर्मचारियों अथवा बायोमेट्रिक सर्वे के लिए प्रशासन द्वारा नियुक्त अधिकारियों के आने पर इनकी झुग्गियां ज्यादातर बंद मिलती थी। इस कारण से 1996 से 2013 के बीच इनका वोटर लिस्ट में कभी नाम लिखा गया, कभी नहीं और इनमें से कुछ का बायोमीट्रिक सर्वे भी नहीं हो सका।
अब प्रशासन इनको घर से बेघर करने की तयारी कर चुका है क्योंकि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कालोनी नं 4 के निवासियों को मलोया में इसी जुलाई मास में मकान आबंटित किये जाने हैं तथा उनमें से जिनके पास दस्तावेज पूरे नहीं है उन्हें इन्ही टीनशेड कालोनी में लाया जाएगा और जो पहले से यहाँ रह रहे हैं उनसे जबरन खाली कराया जाएगा। प्रशासन द्वारा गरीब परिवारों के साथ धोखा किया जा रहा है ।
श्रीमती शुक्ल ने आगे लिखा है कि ये गरीब मजदूर है जिनके परिवार की मासिक आय पांच से दस हजार रुपये है। ये अपने परिवार का पालन पोषण करने और अपने बच्चो की शिक्षा के लिए यहाँ रह रहे हैं। एक ओर सरकार सब को छत देने की बात कर रही है जो कि एक सराहनीय कदम है, वहीँ चंडीगढ़ प्रशासन इनको बेघर करने पर तुला है। क्षेत्र की पार्षद ने पीएमओ से इस मामले में हस्तक्षेप कर प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत इनको आवास दिलाने की मांग की है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
पंडित यशोदा नंदन ज्योतिष अनुसंधान केंद्र एवं चेरिटेबल ट्रस्ट (कोटकपूरा ) ने वार्षिक माता का लंगर लगाया गुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ संस्कारों का समावेश जरूरी : राजेंद्र राणा सन्यासी ही समाज को दिशा दे सकते हैं :आयुषी अयोध्या राम मंदिर फैसला: राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन ने सुप्रीम कोर्ट फैसले का किया स्वागत चिल्ड्रेंस डे: एनजीओ द लास्ट बेंचर्स ने स्टूडेंट्स को किया सम्मानित अमृत कैंसर फाउंडेशन और एनजीओ-द लास्ट बेंचर्स और एजी ऑडिट पंजाब ने महिला स्टाफ़ के लिए लगाया कैंसर अवेयरनेस एंड डिटेक्शन कैम्प कैन बायोसिस ने पराली से होने वाले प्रदुषण के समाधान के लिए पेश किया स्पीड कम्पोस्ट रोजाना एक हज़ार बार "धन गुरु नानक" लिख रहें हैं मंजीत शाह सिंह मंदिर बनाने के हक में देर से आया सुप्रीम कोर्ट का दरूसत फैसला- सतिगुरू दलीप सिंह जी पूर्वांचल वेलफेयर एसोसिएशन ने गुरु नानक देव के 550वें प्रकटोत्सव के उपलक्ष्य में छठ पूजा स्थल पर दीपमाला