ENGLISH HINDI Thursday, October 17, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
सिंघपुरा चौक पर फिर शुरू हुआ टैक्सी वालों से अवैध वसूली का खेल, 1000 मंथली के इलावा 200 रुपए प्रति चक्कर वसूलीसुखबीर का अहंकार ही उसे और अकाली दल को ख़त्म करेगा- कैप्टन अमरिन्दर सिंहमोदी जी हरियाणा में मंदी के पर्याय बन गए: कुमारी सैलजालॉरेट फार्मेसी संस्थान कथोग में पांच दिवसीय इंस्पायर" कैंप सम्पन्नवीआईपी रोड पर बिना पार्किंग दुकानें बनाने की इजाजत मतलब ट्रैफिक जाम, सावित्री इन्क्लेव के दबंगों की दबंगई, मीडियाकर्मियों पर हमलासाईं बाबा का महासमाधि दिवस: 48 घंटे का साईं नाम जाप सम्पन्नरिकॉर्ड की जांच के बाद मार्केट कमेटी बटाला का सचिव मुअत्तलशर्तों के विपरीत किराए पर ले गोदाम किया सबलेट, धमकियां देने के आरोप में दो पर केस दर्ज
चंडीगढ़

42660 रूपये डिजिटल भुगतान पर 535 रुपया का बैंक चार्ज, चंडीगढ़ फोरम ने शिकायत ही ख़ारिज कर दी

July 10, 2019 09:54 PM

चंडीगढ, संजय मिश्रा:
खालसा कॉलेज चंडीगढ़ द्वारा बच्चों के वार्षिक फीस रुपया 42660 के डिजिटल भुगतान पर डेबिट कार्ड ट्रांजेक्सन चार्जेस रुपया 535 वसूला गया जिसकी शिकायत चंडीगढ़ के उपभोक्ता मंच को दी गई। लेकिन फोरम ने उपरोक्त अवैध वसूली को वापस दिलाने के बजाय शिकायत ही ख़ारिज कर दी।
अपनी शिकायत में पंचकूला निवासी ने बताया था की वार्षिक फीस रुपया 42660 के भुगतान पर उनसे बैंक ट्रैंज़ैक्शन चार्ज के नाम पर 535 रुपए अधिक वसूले गए जो कि रिजर्व बैंक के सर्कुलर दिनांक 17 सितंबर 2013 एवं 6 दिसंबर 2017 का उल्लंघन है। चंडीगढ़ कंज़्यूमर फोरम-1 ने शिकायत संख्या 481 ऑफ 2018 को दर्ज कर सुनवाई करते हुए अवैध वसूली को वापस दिलाने के बजाय आखिर में शिकायत ही ख़ारिज कर दी। शिकायत ख़ारिज करने के तर्क में फोरम ने कहा कि शिकायतकर्ता ने अवैध चार्ज वसूली से सम्बंधित रिजर्व बैंक का कोई सर्कुलर पेश ही नहीं किया जबकि शिकायतकर्ता का कहना है कि रिजर्व बैंक के सभी सम्बंधित सर्कुलर रिजॉइंडर के साथ फोरम को दिए गए थे, फिर भी फोरम के द्वारा अवैध वसूली को न रोक कर एवं अवैध वसूले गए रकम को वापस नहीं दिलाना यह जाहिर करता है कि कंज्यूमर फोरम अब मर्चेंट फोरम में तब्दील हो गया है।
ज्ञात हो कि 6 दिसंबर 2017 को रिजर्व बैंक ने एक सर्कुलर जारी कर बैंक को डेबिट कार्ड द्वारा भुगतान में 0.8 प्रतिशत से 0.9 प्रतिशत तक चार्जेस लगाने की अनुमति दी थी लेकिन इस शर्त पर कि संबन्धित बैंक ये सुनिश्चित करे कि ये एम डी आर चार्जेस किसी भी हालत में उपभोक्ता से नहीं वसूला जायेगा। शिकायतकर्ता ने इस सर्कुलर की कॉपी अपने रिजॉइंडर के साथ संलग्नक 4 के रूप में फोरम को सौपा था जिसे दरकिनार करते हुए फोरम ने उपरोक्त फैसला मर्चेंट के हित में दिया है।
बीते दिनों राम मनोहर लोहिया लॉं यूनिवर्सिटी लखनऊ के एक स्टूडेंट चाणक्या के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। गोवा घूमने के दौरान रेस्टोरेन्ट में खाना खाने का बिल का भुगतान डेबिट कार्ड से करने पर 2% का अतिरिक्त चार्ज वसूला गया जिसकी शिकायत चाणक्य ने दक्षिण गोवा के मरगाओं उपभोक्ता मंच मे दी। उपभोक्ता मंच ने शिकायत संख्या 79 ऑफ 2016 का निपटारा करते हुए 21 सितंबर 2017 को अपने आदेश मे संबन्धित मर्चेन्ट को डेबिट कार्ड से खाने के बिल भुगतान पर 2% चार्जेस अवैध रूप से वसूलने का दोषी पाया और 25000 रुपए का जुर्माना लगाया। फोरम ने कहा कि उपभोक्ता से उपरोक्त वसूली रिजर्व बैंक के 17 सितंबर 2013 के निर्देश का उल्लंघन है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
साईं बाबा का महासमाधि दिवस: 48 घंटे का साईं नाम जाप सम्पन्न एमडब्ल्यूआई इंटरनेशनल मिस फोटोजेनिक-2018 ने अपने ब्रांड मैबेल किंग्स एंड क्वीन यूनिसेक्स ब्यूटी सैलून की शुरुआत की शर्मनाक टिप्पणियां कर रहे हैं खट्टर- अक्षय शर्मा, पंजाब प्रधान एनएसयूआई चीफ़ जस्टिस ने जस्टिस श्री पुल्लगोरू को हाई कोर्ट के जज की शपथ दिलाई 25 महिलाओं सहित 178 निरंकारी श्रद्धालुओं ने किया रक्तदान साईं मंदिर के गल्लों में से निकली 13 हज़ार की पुरानी करंसी आने वाला समय आयुर्वेदिक चिकित्सा का : डॉ. नरेश मित्तल भगवान वाल्मीकि के प्रकटोत्सव अवसर पर निकाली शोभायात्रा: दिया प्लास्टिक फ्री इंडिया का सन्देश आरोप प्रत्यारोपों के बीच मसीही समाज उतरा पास्टर के समर्थन में, निकाला प्रार्थना मार्च आईसीआईसीआई बैंक ने किया कॉइन मेला का आयोजन