ENGLISH HINDI Sunday, July 21, 2019
Follow us on
चंडीगढ़

42660 रूपये डिजिटल भुगतान पर 535 रुपया का बैंक चार्ज, चंडीगढ़ फोरम ने शिकायत ही ख़ारिज कर दी

July 10, 2019 09:54 PM

चंडीगढ, संजय मिश्रा:
खालसा कॉलेज चंडीगढ़ द्वारा बच्चों के वार्षिक फीस रुपया 42660 के डिजिटल भुगतान पर डेबिट कार्ड ट्रांजेक्सन चार्जेस रुपया 535 वसूला गया जिसकी शिकायत चंडीगढ़ के उपभोक्ता मंच को दी गई। लेकिन फोरम ने उपरोक्त अवैध वसूली को वापस दिलाने के बजाय शिकायत ही ख़ारिज कर दी।
अपनी शिकायत में पंचकूला निवासी ने बताया था की वार्षिक फीस रुपया 42660 के भुगतान पर उनसे बैंक ट्रैंज़ैक्शन चार्ज के नाम पर 535 रुपए अधिक वसूले गए जो कि रिजर्व बैंक के सर्कुलर दिनांक 17 सितंबर 2013 एवं 6 दिसंबर 2017 का उल्लंघन है। चंडीगढ़ कंज़्यूमर फोरम-1 ने शिकायत संख्या 481 ऑफ 2018 को दर्ज कर सुनवाई करते हुए अवैध वसूली को वापस दिलाने के बजाय आखिर में शिकायत ही ख़ारिज कर दी। शिकायत ख़ारिज करने के तर्क में फोरम ने कहा कि शिकायतकर्ता ने अवैध चार्ज वसूली से सम्बंधित रिजर्व बैंक का कोई सर्कुलर पेश ही नहीं किया जबकि शिकायतकर्ता का कहना है कि रिजर्व बैंक के सभी सम्बंधित सर्कुलर रिजॉइंडर के साथ फोरम को दिए गए थे, फिर भी फोरम के द्वारा अवैध वसूली को न रोक कर एवं अवैध वसूले गए रकम को वापस नहीं दिलाना यह जाहिर करता है कि कंज्यूमर फोरम अब मर्चेंट फोरम में तब्दील हो गया है।
ज्ञात हो कि 6 दिसंबर 2017 को रिजर्व बैंक ने एक सर्कुलर जारी कर बैंक को डेबिट कार्ड द्वारा भुगतान में 0.8 प्रतिशत से 0.9 प्रतिशत तक चार्जेस लगाने की अनुमति दी थी लेकिन इस शर्त पर कि संबन्धित बैंक ये सुनिश्चित करे कि ये एम डी आर चार्जेस किसी भी हालत में उपभोक्ता से नहीं वसूला जायेगा। शिकायतकर्ता ने इस सर्कुलर की कॉपी अपने रिजॉइंडर के साथ संलग्नक 4 के रूप में फोरम को सौपा था जिसे दरकिनार करते हुए फोरम ने उपरोक्त फैसला मर्चेंट के हित में दिया है।
बीते दिनों राम मनोहर लोहिया लॉं यूनिवर्सिटी लखनऊ के एक स्टूडेंट चाणक्या के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। गोवा घूमने के दौरान रेस्टोरेन्ट में खाना खाने का बिल का भुगतान डेबिट कार्ड से करने पर 2% का अतिरिक्त चार्ज वसूला गया जिसकी शिकायत चाणक्य ने दक्षिण गोवा के मरगाओं उपभोक्ता मंच मे दी। उपभोक्ता मंच ने शिकायत संख्या 79 ऑफ 2016 का निपटारा करते हुए 21 सितंबर 2017 को अपने आदेश मे संबन्धित मर्चेन्ट को डेबिट कार्ड से खाने के बिल भुगतान पर 2% चार्जेस अवैध रूप से वसूलने का दोषी पाया और 25000 रुपए का जुर्माना लगाया। फोरम ने कहा कि उपभोक्ता से उपरोक्त वसूली रिजर्व बैंक के 17 सितंबर 2013 के निर्देश का उल्लंघन है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
शिवानन्द चौबे ट्रस्ट व समस्या-समाधान टीम ने इंदिरा कॉलोनी के ग्रीन बेल्ट मे पौधा रोपण किया पातर द्वारा कला भवन में हस्त निर्मित कलाकृतियां प्रदर्शनी का उद्घाटन काजल मंगलमुखी शुरू करेंगी किन्नरों के अधिकारों की लड़ाई देव समाज कॉलेज फॉर वीमेन में नये शैक्षणिक ब्लॉक का उद्घाटन किया अनुपयोगी प्लास्टिक को री-साइकिल करना सिखाया एनजी ओ द लास्ट बेंचर ने लगाया मेडिकल कैंप गुरु पूर्णिमा महोत्सव के अवसर पर अखंड हरिनाम संकीर्तन कल से नींद न आने की समस्या को नजऱअंदाज़ न करे: डॉ विरदी खाली प्लॉट में गैरकानूनी तौर पर कचरा डालने से करना पड़ रहा है समस्याओं का सामना वरिष्ठ नागरिक बैंकर्स ने पेंशन विसंगतियां दूर करने का आह्वान किया