ENGLISH HINDI Monday, October 14, 2019
Follow us on
 
पंजाब

डेराबस्सी केमिकल फैक्ट्री में आग का मामला: पीसीसीपीएल कंपनी के मालिक, डायरेक्टर व मैनेजमेंट पर लापरवाही का मामला

July 11, 2019 10:07 PM

डेराबस्सी,जेएस कलेर,पिंकी सैनी

यहां की मुबारिकपुर सड़क पर स्थित पंजाब कैमीकलज एंड क्रोप प्रोटेक्शन लिमटिड (पीसीसीपीएल) नाम की केमिकल कंपनी के प्लांट में बीते बुधवार धमाके के बाद भयानक आग लगने साथ दो वर्करों की मौत व एक के लापता होने के मामले में पुलिस ने फैक्ट्री के मालिक, डायरेक्टर व मैनेजमेंट खिलाफ लापरवाही बरतने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है।

 पुलिस ने हादसे में मृतक सुखविंद्र सिंह उर्फ बंटी निवासी गांव बिजनपुर के पिता पवन कुमार की शिकायत में कंपनी के डायरेक्टर अवतार सिंह सैनी को नामजद कर लिया है जबकि बाकी आरोपियों के नाम सामने आने बाद उनको नामजद किया जाएगा। इस हादसे में एक दर्जन के करीब कर्मी घायल हो गए थे। जिनमें से सात वर्कर अब भी चंडीगए़, मोहाली व पंचकूला के अलग अलग निजी अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। जबकि बाकी घायलों को प्राथमिक उपचार देने के बाद छुट्टी दे दी गई थी। घायलों में से दो वर्करों की हालत नाजुक बताई जा रही है।

-मृतक के पिता की शिकायत पर पुलिस ने कंपनी के डायरेक्टर अवतार सिंह सैनी को किया नामजद 
-रवि कुमार के रूप में हुई दूसरे मृतक की पहचान 
-फैक्ट्री प्रबंधकों की ओर से पहले भी बरती जाती रही है लापरवाही 
-पत्रकारों को देख फरार हुआ फैक्ट्री का आरोपी डायरेक्टर

यहां बता दें इस कंपनी में यह आग लगने का पहले मामला नहीं है बल्कि इस से पहले फैक्ट्री प्रबंधकों की लापरवाही कारण कई बार आग लगने के हादसे घट चुके हैं परंतु प्रबंधकों ने कोई सबक नहीं लिया। अब प्रबंधकों की लापरवाही के कारण दो कर्मियों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।
दूसरी ओर पुलिस को कल देर शाम आग बुझने बाद में मलबे में से मिली लाश की पहचान लापता रवि कुमार निवासी बिजनपुर के रूप में हुई है। इसके अलावा अभी भी एक ओर लापता रिक्की (30) निवासी गांव बतौड़, बरवाला हरियाणा का पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला। पुलिस आज सारा दिन लापता रिक्की की तलाश में जुटी रही। रिक्की के परिवार में उसकी पत्नी व तीन बच्चें है। पुलिस को कंपनी के रिकार्ड में सामने आया है कि रिक्की जो हैलपर था कि कल सुबह फैक्ट्री में पूरे समय पर अपनी ड्यूटी पर आया था व हादसे समय पर वह अंदर ही था। इस बाद में उसके बाहर नहीं निकला है। पुलिस को शक है कि हादसे में रिक्की की मौत हो गई जिसकी लाश की पुलिस आज सारा दिन मलबे में तलाश करती रही। जांच में सामने आया कि मृतक सुखविंद्र सिंह उर्फ बंटी, रवि व लापता रिक्की तीनों हादसाग्रस्त प्लांट की तीसरी मंजिल पर रिएक्टर के पास काम कर रहे थे जो आग लगने के बाद फट गया था।
बात करने पर थाना प्रभारी सहायक इंस्पेक्टर सतिंद्र सिंह ने बताया कि मृतक के पिता पवन कुमार ने अपने ब्यान में बताया कि उसका 23 वर्षों का लड़का सुखविंद्र सिंह बीते कल सुबह सात बजे घर से उक्त फैक्ट्री में गया था। तकरीबन साढ़े बारह बजे उनको पता लगा कि कंपनी में भयानक आग लग गई है। मौके पर जा कर देखा तो फैक्ट्री के एसीएफ प्लांट में भयानक आग लगी हुई है और उसके लड़के समेत मौके पर काम कर रहे कुछ वर्कर गंभीर घायल हो गए हैं।

मौके पर प्रबंधकों ने बताया कि उसके लड़के घायलावस्था में पंचकूला सेक्टर 26 एक निजी अस्पताल में ले गया। जहां पहुंचने पर डाक्टरों ने बताया कि उसके बेटे की वहां पहुंचने से पहले ही आग से झुलसने व चोट लगने के कारण उसकी मौत हो गई। सुखविंद्र की मौत आग की लपेट में आने व ऊपर से छलांग लगाने कारण आई चोट के कारण हुई है जिसने आग की लपेट में आने बाद में तीसरी मंजिल से नीचे छलांग मार दी थी। शिकायतकर्ता ने अपने ब्यान में बताया कि हादसा फैक्ट्री के एसीएफ प्लांट में लगे रिएक्टर की सेफ्टी पिन को समय समय पर जांच न करने कारण उसके फटने व आग लगने कारण घटा है।

सात घायलों में से दो की हालत गंभीर
एकत्रित की जानकारी अनुसार घायलों में मनप्रीत सिंह निवासी गांव पंडवाला, अक्षय निवासी नया गांव जिला पंचकूला, मनदीप निवासी लुधियाना को पंचकूला सेक्टर 26 के निजी अस्पताल में दाखिल है। इसके अलावा धर्मजीत सिंह व जसबीर सिंह निवासी गांव पंडवाला मोहाली को एक निजी अस्पताल, चंद्र पाल व सचिन को सेक्टर 34 चंडीगढ़ के निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया है।
पत्रकारों को देख कर भागा आरोपी डायरेक्टर
पुलिस की ओर से नामजद किए गए फैक्ट्री का डायरेक्टर अवतार सिंह व अन्य मैनजमेंट आज सारा दिन खुलेआम फैक्ट्री में घूमते रहे। जिसे बारे में मीडियाकर्मियों को ‌भनक लगने पर वह मौके पर पहुंच गए जिन्होंने डायरेक्टर व मैनेजमेंट की तस्वीरें लेने की कोशिश की तो डायरेक्टर अवतार सिंह व अन्य अपनी गाड़ी ले कर मौके से फरार हो गए।

मीडियाकर्मियों से की बदसलूकी
कंपनी प्रबंधकों की ओर से शुरु से ही स्थानीय मीडिया‌कर्मियों के साथ बदसलूकी की जाती है। बीते कल भी आग लगने के दौरान मीडियाकर्मियों को अंदर दाखिल होने से रोका गया। इसके बाद जब मीडियाकर्मी अंदर दाखिल हो गए तो उनका कैमरा छीनने की कोशिश की गई। इसके अलावा आज भी मीडियाकर्मियों को अंदर जाने से रोका गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
लाखों की लागत से छह साल पहले बना कम्युनिटी सेंटर बना सफेद हाथी, नहीं होते फंक्शन रेल गाड़ी के नीचे आकर बुज़ुर्ग की मौत उत्तराखंड पर्वतीय सभा के रक्तदान शिविर में 43 यूनिट एकत्रित 40 लाख एडवांस लेकर नहीं करवाई प्लाट की रजिस्ट्री, कंपनी के डायरेक्टर सहित 5 पर केस दर्ज गड़बड़झाला: जमीनों की कीमतें बढ़ाने के लिए नेश्नल ग्रीन ट्रिब्यूनल एक्ट की धज्जियां उड़ा रहे कॉलोनाईजर लॉरेट ग्लोबल स्कूल कथोग के छात्रों का शानदार प्रदर्शन कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार ने दिया कर्मियों और पैनशनरों को दीवाली का तोहफ़ा, एक नवंबर से महंगाई भत्ते में तीन प्रतिशत वृद्धि ओपन सेंच्युरी के गांवों में आवारों कुत्तों का आंतक, प्रशासन मौन पाक तस्करों के संपर्क वाले महल सिंह के करीबी को पकड़ा तो बरामद हुई करोड़ों की हेरोइन साख गवा चुका बादल परिवार राजनैतिक अस्तित्व बचाने को शिरोमणि कमेटी को बना रहा है ढाल: चन्नी