ENGLISH HINDI Monday, October 21, 2019
Follow us on
 
राष्ट्रीय

क्वालिटी के साथ समझौता न करना ही सफलता का मूल मंत्र- अतुल मलिकराम

July 12, 2019 10:02 AM

चंडीगढ़ : "कोई भी इंडस्ट्री दो कारणों से फेल होती है। पहली या तो वहां व्यवस्थाएं बेहतर नहीं है या फिर उन्होंने क्वालिटीके साथ समझौता कर लिया है। इसलिए कभी इन दोनों बातों का अनुसरण नहीं करना चाहिए। जब हम क्वालिटी के साथसमझौते की बात को अपनी डिक्शनरी से निकाल देते हैं और समय पर काम को अंजाम देते है, तब हमारा क्लाइंट बेसअपने आप तैयार होने लगता है और नतीजतन हमें अपनी बेहतर क्वालिटी के लिए सम्मानित किया जाता है।" ये कहनाहै पब्लिक रिलेशन क्षेत्र की अग्रणी कंपनी PR24x7 के फाउंडर अतुल मलिकराम का, जिनके संस्थान को एक बार फिरबेस्ट क्वालिटी सर्विस के लिए सम्मानित किया गया है।

दूसरी बार किया गया क्वालिटी मार्क अवार्ड से सम्मानित 

1200 आवेदनों में चुनी गई 32 कंपनियों में एक रही पीआर 24x7
समय पर क्वालिटी कंटेंट से मिले बेहतर परिणाम

अहमदाबाद में क्वालिटी मार्क ट्रस्ट द्वारा आयोजित किए गएक्वालिटी मार्क अवार्ड 2019 में देश की कुछ प्रतिष्ठित कंपनियों को उनकी बेस्ट क्लाइट सर्विसेस के लिए सम्मानितकिया गया। कुल 1200 आवेदनों में 32 कंपनियों को इस अवार्ड के लिए चुना गया, जिनमें पीआर 24x7 का नाम भी शामिल है। 

ख़ास बात यह है कि कंपनी को यह अवार्ड दूसरी बार मिला है। इससे पहले, साल 2015 में भी पीआर 24x7 को इस अवार्डसे नवाजा गया था। इस अवसर पर श्री मलिकराम ने कहा कि यह सम्मान उनकी कंपनी की विश्वसनीयता व उनकेसहयोगियों एवं कर्मचारियों के विश्वास को और बढ़ाएगा। मलिकराम के मुताबिक़ जब हम एक सर्विस प्रोवाइडर कीभूमिका निभा रहे होते हैं तब हमारे सामने क्वालिटी सर्विस देने के आलावा अन्य कोई विकल्प नहीं होता, और समय परकाम की डिलीवरी करना हमेशा प्राथमिकता रहती है। पीआर 24x7 इसी अवधारणा के साथ आगे बढ़ रही है और इसकेपरिणाम साफ़ तौर पर देखे जा सकते हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
डीआरडीओ ने प्रौद्योगिकी हस्‍तातंरण से जुड़े 30 समझौते किये सुरक्षित और किफायती प्रौद्योगिकियों की दिशा में नवाचार उन्मूलन के लिए टीबी दर गिरना काफ़ी नहीं, गिरावट में तेज़ी अनिवार्य: नयी WHO रिपोर्ट बिना मानवाधिकार उल्लंघन के, व्यापार करे उद्योग: वैश्विक संधि की ओर प्रगति प्रकृति ही देगी प्लास्टिक का हल चिकित्सकों व नर्सिंग कर्मचारियों का ट्रॉमा केयर में दक्ष होना नितांत आवश्यक कूड़ा मुक्त, कुरीति मुक्त भारत बने अनुभव व नवीनतम तकनीकि ज्ञान का लाभ मरीजों को मिले: प्रो. कांत जल संरक्षण पर कार्य करने की जरूरत हिमालयी क्षेत्रों में बड़े उद्योगों के बजाय लघु उद्योगों को महत्व दिया जाये