ENGLISH HINDI Friday, July 19, 2019
Follow us on
हरियाणा

देश में वातावरण को लेकर गम्भीर समस्या, जल और वायु दोनों दूषित हो गए

July 12, 2019 12:33 PM

करनाल, फेस2न्यूज:
हरियाणा के करनाल में म्यूनिसिपल सोलिड वेस्ट मेनेजमेंट रूल-2016 की अनुपालना के लिए राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एन.जी.टी.) की ओर से गठित मॉनिटरिंग कमेटी के अध्यक्ष तथा पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस प्रीतमपाल सिंह ने निर्देश दिए कि जो लोग नियमों का उल्लंघन कर वातावरण को दूषित करते हैं, उनके चालान कर भारी जुर्माना लगाएं।
जस्टिस प्रीतमपाल गुरूवार को अपने करनाल दौरे के दौरान लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित एक बैठक में जिला प्रशासन, स्थानीय निकाय व प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों के साथ रूबरू थे। इस अवसर पवर करनाल शहर की सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि भी बैठक में शामिल हुए।
उन्होंने कहा कि जिस मकसद को लेकर तीन साल पहले सोलिड वेस्ट मेनेजमेंट रूल बनाए गए थे, उनके तहत पिछले कई महीनों से लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। उन्होंने कहा कि आज देश में वातावरण को लेकर गम्भीर समस्या बन गई है, जिससे जल और वायु दोनों दूषित हो गए हैं। यह भविष्य के लिए एक खतरे की घण्टी है। इससे निपटने के लिए अब सख्त कदम उठाने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि जो उद्योग नियमों का उल्लंघन करेंगे, उनके साथ सख्ती से निपटेंगे और भारी जुर्माना लगाएंगे। अपने संबोधन में उन्होंने विदेशी शहर तथा विभिन्न राज्यों के दौरे के संस्मरण सुनाएं, जिनमें पंजाब के नवां शहर, हिमाचल के परवाणु व पंजाब के ही सिंचेवाल की सफल कहानी सुनाते हुए बताया कि इन शहरों में प्रशासन और स्थानीय नागरिकों ने मिलकर स्वच्छता की मिसाल कायम की है। उन्होंने कहा कि सुधार का कोई भी कार्यक्रम अकेले प्रशासन से सफल नहीं बनाया जा सकता, जब तक उसमें जनता की स्वैच्छिक भागीदारी ना हो। बदलाव के लिए लोगों में संवेदनशीलता का होना जरूरी है। बैठक में करनाल की सामाजिक संस्थाओं की ओर से बड़ी संख्या में आए नागरिकों की हाजिरी को देखकर उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि अपने शहर को साफ-सुुथरा रखना एक पुण्य का कार्य है। वैसे भी स्वच्छता को ईश्वर के बाद दूसरा दर्जा दिया गया है। उन्होंने कहा कि हम भी अपने शहरों को यूरोपीय शहरों की तर्ज की विकसित कर सकते हैं, इसके लिए लोगों को अपना व्यवहार व मानसिकता में बदलाव लाना होगा।
उन्होंने कहा कि हरियाणा स्वच्छता की दिशा में तेजी से अग्रसर हो रहा है। प्रदेश के करनाल, पानीपत, कुरूक्षेत्र, जींद, गुरुग्राम, फरीदाबाद व पंचकूला सहित 7 शहरों को मॉडल सिटी बनाने की मुहिम चल रही है। करनाल चूंकि पिछले 3 सालों से प्रदेश का सबसे स्वच्छ शहर बनकर उभरा है। अब इसे देश का नम्बर-वन शहर बनाएं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
हरियाणा विधानसभा का मानसून सत्र 2 अगस्त को स्वयंसेवी संस्थाओं से आहवान: बच्चों व युवाओं को सामाजिक बुराईयां उन्मूलन हेतू प्रशिक्षित करें शादी समारोहों, विवाह सालगिरह, सामाजिक अवसरों व उत्सवों को यादगार बनाने हेतु पौधे लगाने चाहिए 20 से 30 अगस्त तक सेना में भर्ती का आयोजन जलशक्ति अभियान प्रभावी ढंग से लागू करने हेतु गुरुग्राम की तर्ज पर की जाएगी ‘क्लेंडर आफ एक्टिविटीज’ तैयार 203 ग्राम पंचायतों ने ‘सेवन स्टार रेनबो’ योजना के लिए भरा आवेदन 10 साल से ज्यादा पुराने प्रदूषण फैलाने वाले ऑटोरिक्शा नहीं चल सकेंगे एक आईएएस तथा दो एचसीएस अधिकारी तबदील अयोग्य लोगों के फर्जी गोल्डन कार्ड बनाने के आरोप में आयुष्मान मित्र के खिलाफ मामला दर्ज विधानसभा चुनाव को लेकर “आप” हुई सक्रिय