ENGLISH HINDI Sunday, December 15, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
ग्रेट पेरेंट्स डे पर वेद धारा ग्लोबल स्कूल में दादा दादी की धूम‘स्पाईमास्टरज़ और साईबर इंटेलिजेंस इन वॅार एंड पीस’ विषय पर हुई चर्चा ने साईबर सुरक्षा के कई अछूते पक्षों पर प्रकाश डालाबालाकोट एक्शन पर रक्षा विशेषज्ञों द्वारा गंभीर विचार-चर्चाभवन निर्माण व निर्माण श्रमिकों की रजिस्ट्रेशन का समय 31 मार्च तक बढ़ाने के आदेशअफगानिस्तान में 18 साल से तालिबान के साथ लम्बी लड़ाई लड़ रहा अमरीका हार की कगार परपेडा ने बायोमास आधारित ऊर्जा प्लांटों पर बातचीत सैशन करवायाशरीर के लिए जरूरी पौष्टिक तत्वों व कैलोरी की मात्रा कम नहीं होनी चाहिएआरटीआई में नगर परिषद् का अजीबोगरीब जवाब, हाईकोर्ट ने किया जवाब तलब
चंडीगढ़

नींद न आने की समस्या को नजऱअंदाज़ न करे: डॉ विरदी

July 14, 2019 08:55 PM

चंडीगढ़ सुनीता शास्त्री:
नींद से जुड़ी समस्याओं पर एक सीएमई आज ओजस अस्पताल, पंचकूला में आयोजित की गई, जिसमें 25 डॉक्टरों और विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया।

सीएमई का आयोजन नींद संबंधी बीमारियों पर चर्चा करने के साथ ही अन्य विशेषज्ञों की मदद के लिए किया गया ताकि वे अपने मरीजों में कॉमन टेस्ट्स आदि के माध्यम से स्लीप स्टडी और उनका सामान्य चैकअप कर उनकी समस्याओं को पहचान सकें। सीएमई को संबोधित करते हुए, डॉ.सनी विरदी, कंसल्टेंट -पल्मोनरी ने कहा कि नींद से संबंधित अत्यधिक समस्याएं जैसे काफी अधिक खर्राटे लेने से नींद के दौरान गंभीर सांस की समस्या होती है, जिन्हें ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (ओएसए) और सेंट्रल स्लीप एपनिया (सीएसए) कहा जाता है।

ये वे रोग हैं जो अन्य रोगों जैसे डायबटीज, हाई ब्लडप्रेशर, हार्ट रोग, किडनी रोग, स्ट्रोक आदि के अनुसार होते हैं।उन्होंने आगे कहा कि ओएसए और सीएसए में फेफड़ों के गहरे हिस्सों में हवा की डिलीवरी कम हो जाती है जिससे शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है जिससे दिल और ब्रेन में दवाब बढ़ जाता है।

डॉ. विरदी ने कहा कि ओजस में हाल ही में लॉंच की गयी ट्राइसिटी की बेस्ट स्लीप लैब है, जिसका उपयोग नींद से जुड़ी समस्याओं का प्रारंभिक अवस्था में ही उपचार किया जाता है जो डॉक्टरों को इन रोगों का प्रबंध करने में मदद करती है।उन्होंने डॉक्टरों और आम जनता से इस बीमारी के सामान्य लक्षणों जैसे अत्यधिक खर्राटे, नींद के दौरान सांस लेने में तकलीफ, दिन के समय काफी अधिक नींद आना, अच्छे से नींद न आना और कम उम्र में बिना किसी स्पष्ट कारण के ब्लड प्रेशर में उतार-चढ़ाव आना आदि को नजऱअंदाज़ न करने का अनुरोध किया ।

इस बीच अन्य विशेषज्ञों ने भी इस बीमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने और दिन-प्रतिदिन बीमारी के बढ़ते बोझ के बारे में अपने विचार साझा किया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
शारदा सर्वहितकारी मॉडल सीनियर सकेंडरी स्कूल का वार्षिक एवं पारितोषिक वितरण समारोह आयोजित द लास्ट बेंचर्स और एंडीज क्लिनिक ने किया फ्री मेडिकल चेकअप कैम्प का आयोजन से. 26 की सब्जी मंडी क्षेत्र में ना कोर्ट के आदेशों का असर, ना सरकार के शौचमुक्त भारत व स्वच्छ भारत अभियान का एक्साइज एंड टेक्सटेशन विभाग ने सेमिनार का आयोजन किया राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन की चण्डीगढ़ इकाई भंग सिंगला की बर्खास्तगी को लेकर राज्यपाल को मिलेगा ‘आप’ का प्रतिनिधिमंडल - हरपाल सिंह चीमा जागरूक निवेशक को अधिक आर्थिक रिटर्न होगा :निशान श्रीवास्तव फरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दा बढ़ती हुई रेप एवं हत्याओं की वारदातों के विरोध में जोरदार धरना-प्रदर्शन किया युवाओं ने स्ट्रीट वेंडिंग एक्ट के खिलाफ एकजुट हुए वेंडर्स: नगर निगम के खिलाफ मुंह पर काला कपड़ा बांध किया साइलेंट प्रोटेस्ट