ENGLISH HINDI Saturday, December 07, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
फरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दापॉस्को एक्ट के तहत होने वाली घटनाओं के दोषियों को दया याचिका के अधिकार से वंचित किया जाए: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदसीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार।मोहाली को विश्व का पहला स्टार्टअप केंद्र बनाने की वकालत कीयुवक को अज्ञात लोगों ने अगवा कर अधमरा कर रेलवे लाइनों के फैंकापुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थीजीएम के आगमन के चलते दुल्हन की तरह सजा रेलवे स्टेशन पेश कर रहा मेट्रो स्टेशन का नजारासूखे दरख्तों की कटाई या हरे वृक्षों पर कुल्हाड़ी
पंजाब

स्वच्छ, सार्थक और लोक हितों की गायकी आज के समय की बड़ी ज़रूरत

July 16, 2019 01:13 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
अमरजीत गुरदासपुरी स्वच्छ, सार्थक और लोक हितों की गायकी का मुजस्समा है जिसकी गायकी की परंपरा को आगे चलाना समय की सबसे बड़ी ज़रूरत है। इस लोक गायक की जीवनी से आज की पीढ़ी के गायक सीख लेकर कला और सभ्याचार क्षेत्र को और समृद्ध बना सकते हैं। अमरजीत गुरदासपुरी द्वारा जो पंजाबी गायकी क्षेत्र में नवीन कदम उठाये, वह बहुत से लोगों का मार्गदर्शक भी बन रहे हैं। ‘यह बात पंजाब के सहकारिता और जेल संबंधी मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने पंजाब कला भवन में पंजाब संगीत नाटक अकादमी द्वारा ‘उडीकां सावन दियां संगीत और नाटक उत्सव’ के अधीन अपने समय के प्रसिद्ध गायक अमरजीत गुरदासपुरी को श्रोताओं के सम्मुख करवाए प्रोग्राम के दौरान संबोधित करते हुये कही।
रंधावा ने कहा कि गुरदासपुर जिले को मान है कि शिव बटालवी और अमरजीत गुरदासपुरी जैसे दो अनमोल हीरे साहित्य और कला क्षेत्र को दिए। उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए निजी ख़ुशी की बात है कि अमरजीत गुरदासपुरी के गाँव उदोंवाली में हमारी ज़मीन है और इस परिवार के साथ मेरी पुरानी सांझ है।’ उन्होंने कहा कि गंदली और लचर गायकी के दौर में अमरजीत गुरदासपुरी की गायकी ठंडी हवा का झौंका है जिस पर समूचे पंजाबियों को मान है। उन्होंने कहा कि आज के समय में गायकी, राजनीति आदि हर क्षेत्र में गिरावट आ रही है और इस समय में ऐसी पवित्र रूहों के कारण ही पंजाब की लोक गायकी बची हुई है।
रंधावा ने इस मौके पर अमरजीत गुरदासपुरी को सम्मानित किया और अपने ऐच्छिक कोटे में से पंजाब संगीत नाटक अकादमी को तीन लाख रुपए का अनुदान देने का ऐलान किया जिसमें से एक लाख रुपए विशेष तौर पर निन्दर घुगियानवी द्वारा अमरजीत गुरदासपुरी की जीवनी पर बनाई डाक्यूमैंटरी के निर्माण के लिए दिए जाएंगे। अमरजीत गुरदासपुरी श्रोतओं के रूबरू भी हुए और अपनी बुलंद आवाज़ में हीर की कली भी सुनाई।
इसी मौके पर निन्दर घुगियानवी द्वारा प्रो. गुरभजन गिल की प्रेरणा से अमरजीत गुरदासपुरी की गायकी और साथ-साथ उनके जीवन को दर्शाती बनाई गई 50 मिनट की डाक्यूमैंटरी भी दिखाई गई जिसकी श्रोतओं द्वारा बहुत सराहना की गई। अपने समय के प्रसिद्ध गायक गुरचरन सिंह बोपाराए, स्वर्न सिंह और युद्धवीर ने अपने प्रसिद्ध गीतों से श्रोताओं का भरपूर समर्थन मिला। इसी लड़ी में गायक गुरिन्दर गैरी ने जहां स्वर्गीय गीतकार इंद्रजीत हसनपुरी के गीत ‘जदों याद सज्जना वे तेरी आए’ और गायक पिंक शैंडी ने ‘दूल्हा भट्टी’ लोक गाथा गाकर अच्छा समां बांधा।
पंजाब संगीत नाटक अकादमी के सचिव प्रीतम रुपाल द्वारा प्रत्येक का धन्यवाद किया गया। डा. सुरिन्दर गिल, शमशेर संधू, नवदीप सिंह गिल और संजीवन सिंह द्वारा अमरजीत गुरदासपुरी के साथ जहां अपनी यादों को सांझा किया, वहीं उनके द्वारा उनकी सार्थक कला को भी सराहा गया। इस मौके पर पंजाब संगीत नाटक अकादमी द्वारा कैबिनेट मंत्री रंधावा और पंजाब कला परिषद के मीडिया कोआर्डीनेटर और लेखक निन्दर घुगियानवी को सम्मान देकर नवाजा गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
सीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार। मोहाली को विश्व का पहला स्टार्टअप केंद्र बनाने की वकालत की युवक को अज्ञात लोगों ने अगवा कर अधमरा कर रेलवे लाइनों के फैंका पुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी जीएम के आगमन के चलते दुल्हन की तरह सजा रेलवे स्टेशन पेश कर रहा मेट्रो स्टेशन का नजारा सूखे दरख्तों की कटाई या हरे वृक्षों पर कुल्हाड़ी सुखबीर बादल को भी राजोआना के साथ जेल में बिठाने पर ही होगा पंजाब का माहौल शांत: सिंगला निर्दोष स्कूल ने कैलेन्डर 2020 लांच किया दो दिवसीय पांचवीं वार्षिक कॉन्फ्रेंस मेडिकॉन-2019 आयोजित राजस्व विभाग में 1090 पटवारी भर्ती की मंजूरी