ENGLISH HINDI Wednesday, February 19, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
हिन्दू महासभा और हिन्दू संगठनों के लिए फ़िल्म द हंड्रेड बक्स की होगी स्पेशल स्क्रीनिंगसरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरीडेराबस्सी— बरवाड़ा रोड पर एक फैक्ट्री में आग लगीपरमजीत कला, संस्कृति और खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नियुक्तश्रीसालासर बालाजी परिवार की मूर्तियो का विधिवत रूप से श्री सनातन धर्म मंदिर सेक्टर-32 में प्राण प्रतिष्ठा कर स्थापित की गईनम्बरदारों का मानभत्ता 2000 रुपए करने का फैसलाफ़िल्म 'द हंड्रेड बक्स' की होगी स्पेशल स्क्रीनिंगआनुवांशिक सुधार व निवेश लागत घटाकर दुग्ध उत्पादन में वृद्धि के प्रयास
पंजाब

ब्यान वापस ले आकली या फिर कानूनी कार्यवाही के लिए तैयार रहे 'आप' का अकाली-भाजपा पर पलटवार

August 13, 2019 12:09 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में श्री गुरु रविदास जी को समर्पित सैंकड़ों वर्ष पुराने ऐतिहासिक मंदिर को दिल्ली में भाजपा के नेतृत्व वाली दिल्ली विकास अथॉरिटी (डीडीए) की ओर से बीते 10 अगस्त को भारी पुलिस फोर्स की मदद से तोड़ दिए जाने के बारे में अकालीदल (बादल) पर गलत और झूठा प्रचार करने के दोष लगाते हुए आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब बादल दल के विधायकों पर मुकदमा ठोकेगी।
'आप' द्वारा जारी बयान में पार्टी के कोर समिति के चेयरमैन और विधायक प्रिंसिपल बुद्धराम, उप नेता सरबजीत कौर माणूंके, कुलतार सिंह संधवां, प्रो. बलजिन्दर कौर, रुपिन्दर कौर रूबी, जै किशन सिंह रोड़ी, एस.सी विंग के प्रधान मनजीत सिंह बिलासपुर और सह-प्रधान कुलवंत सिंह पंडोरी (सभी विधायक), सीनियर नेता जस्टिस जोरा सिंह और जालंधर से जिला प्रधान डा. शिव दियाल माली ने स्पष्ट किया कि श्री रविदास मंदिर तोड़-फोड़ में दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार की कोई भूमिका नहीं, क्योंकि डीडीए पर सीधा कंट्रोल केंद्रीय की भाजपा सरकार का है, जिसका हिस्सा अकाली दल बादल भी है। इसलिए मंदिर तोड़-फोड़ के लिए भाजपा और बादल दल जिम्मेदार हैं। इस गुनाह का क्षतिपूर्ति दोनों को भुगतना पड़ेगा।
'आप' नेताओं ने कहा कि पूरा देश जानता है कि दिल्ली में जमीनी मामले, पुलिस व कानून व्यवस्था और सरकारी नौकरियों में बदली और तैनातियों के मामले का पूर्ण अधिकार केंद्र की मोदी सरकार के पास है और केजरीवाल सरकार चाह कर भी इन मामलों में कुछ नहीं कर सकती, इस लिए केजरीवाल सरकार दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की मांग कर रही है।
'आप' नेताओं ने कहा कि मंदिर गिराए जाने के उपरांत आज मगरमच्छ के आंसू बहा रहे अकाली विधायक पवन टीनू, बलदेव सिंह खहरा, डा. सुखविन्दर सुखी और पूर्व मंत्री सोहन सिंह ढंडल इस मामले सम्बन्धित केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पूरी, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, सोम प्रकाश, भाजपा प्रधान अमित शाह और प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी को क्यों नहीं मिले? 'आप' नेताओं ने कहा कि यदि समय-समय की केंद्र सरकारें सहृदय होती तो अदालतों में इस केस की ठोस पैरवी करती और जरूरत पडऩे पर संसद का विशेष सत्र बुला कर इस ऐतिहासिक स्थान को विशेष छूट देती, परंतु डीडीए ने सही तरीके से केस नहीं लड़ा और अपनी दलित विरोधी सोच दिखा दी।
'आप' नेताओं ने कहा कि पवन टीनू के नेतृत्व में अकाली विधायकों की तरफ से इसलिए डीडीए-भाजपा को जिम्मेदार ठहराने की बजाए केजरीवाल सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए प्रेस नोट जारी करना न केवल झूठ का पुलंदा है बल्कि अपने 'पापों' पर पर्दा डालने के लिए गुमराह करने वाला बयान है। यदि अकाली विधायकों ने यह बयान वापस न लिया तो 'आप' पंजाब इन अकाली विधायकों पर मुकदमा ठोकेगी।
दिल्ली के कैबिनेट मंत्री ने प्रधानमंत्री को दखल देने की अपील की -इसके साथ ही 'आप' नेताओं ने बताया कि दिल्ली के कैबिनेट मंत्री रजिन्दर पाल गौतम ने प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी को पत्र लिख कर दलितों समेत समूचे समाज की भावनाओं और अमन-कानून की स्थिति के मद्देनजर उसी जगह पर मंदिर का फिर से निर्माण करने की मांग की है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
सरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरी डेराबस्सी— बरवाड़ा रोड पर एक फैक्ट्री में आग लगी नम्बरदारों का मानभत्ता 2000 रुपए करने का फैसला चार सरकारी स्कूलों का नाम स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों के नाम पर रखने की मंजूरी लौंगोवाल कांड के बाद शिक्षा विभाग सहित सिविल, पुलिस, परिवहन हरकत में अमनदीप कौर को बहादुरी पुरस्कार और मुफ़्त शिक्षा देने का ऐलान 4504 स्कूली वाहनों की जांच; 1649 के चालान और 253 वाहनों को किया जब्त रिश्वत लेते हुए सी.डी.पी.ओ. सेवक समेत गिरफ़्तार संगरूर के लौंगोवाल में स्कूल वैन को लगी आग, 4 मासूम जिन्दा जले, मुख्यमंत्री ने दिए घटना की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश जनगणना 2021 की सफलता के लिए राज्य स्तरीय काँफ्रेंस