ENGLISH HINDI Friday, June 05, 2020
Follow us on
 
हरियाणा

अरावली पर्वत श्रृंखला में सफारी योजना विकसित करने के प्रस्ताव पर विचार

August 13, 2019 12:14 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
राज्य की सबसे पुरानी अरावली पर्वत श्रृंखला में प्राकृतिक सम्पदा एवं वन्य प्राणी संरक्षण के लिए तेन्दुए व हिरण की सफारी योजना विकसित करने के प्रस्ताव पर गम्भीरता से विचार किया जा रहा है।
परियोजना की सम्भावना तलाशने के लिए हरियाणा के वन एवं वन्य प्राणी मंत्री राव नरबीर सिंह वन विभाग के अधिकारियों के साथ उत्तर प्रदेश के इटावा में विकसित लायन सफारी का अवलोकन करने के लिए दौरे पर गए है।
उल्लेखनीय है कि गुरुग्राम के सेक्टर 76 के पास गांव सकतपुर और गैरतपुर बास के आसपास के क्षेत्र में सिटी फॉरेस्ट विकसित किया जा रहा। यह इस सफारी परियोजना के लिए सबसे उपयुक्त स्थल होगा। आने वाले समय में ग्लोबल सिटी गुरुग्राम में यह सिटी फॉरेस्ट व तेन्दुआ व हिरण सफारी प्रकृति व पर्यावरण प्रेमियों की पहली पसंद बनकर उभरेगा और इन्दिरा गांधी हवाई अड्डा, दिल्ली से मात्र 25 मिनट में इस स्थान पर पहुंचा जा सकता है।
गौरतलब है कि इस वर्ष वन महोत्सव के दौरान सीएसआर के तहत पौधारोपण कार्यक्रम चलाने वाली विभिन्न कंपनियां भी उपस्थित थी। वन मंत्री के अनुसार सिटी फोरेस्ट में पौधारोपण करने सहित विभिन्न प्रकार की गतिविधियां, जिनसे प्रकृति को नुकसान ना हो, चलाई जाएंगी ताकि लोग यहां भ्रमण के लिए आए और प्राकृतिक वातावरण का लाभ उठा सकें।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
हरियाणा में सामाजिक दूरी और अंतरराज्यीय बसों और यात्री वाहनों को लेकर एसओपी जारी काम की तलाश में आने वाले मजदूरों के लिए लेबर चौक पर उपायुक्तों को प्रतिनिधि तैनाती के निर्देश हरियाणा: व्यक्तिगत डिस्टेंसिंग की पालना के साथ सभी दुकानें 9 से सायं 7 बजे तक खोलने की स्वीकृति पत्रकारिता व्यक्ति और समाज के बीच एक सशक्त माध्यम: मुख्यमंत्री सैनिक की गर्भवती पत्नी कोरोना पॉजिटिव, अम्बाला के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती चौकसी ब्यूरो ने दिया 7 राजपत्रित व 3 अराजपत्रित अधिकारियों के विरूद्ध जांच सीबीआई से करवाने का सुझाव एक आईएएस अधिकारी स्थानांत्रित टैक्सी, कैब एग्रीगेटर, मैक्सी कैब और ऑटो रिक्शा चलाने के दिशानिर्देश जारी विपक्ष को तसल्ली करवा देंगे: विज थोक एवं परचून विक्रेताओं की अनियमितताओं पर 763 चालान किये गये