ENGLISH HINDI Monday, January 20, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी योजना प्रचार प्रसार अभियान चंडीगढ़ संगठन ने अरुण सूद से मुलाकात कर दी बधाई छुप छुप कर किए थियेटर से हासिल किया मुकाम : मनु सिंहपरीक्षा पे चर्चा: पीएम मोदी से 60 से ज्यादा बच्चे पूछेंगे सवालएडवाकेट गुरदयाल शर्मा के सुपुत्र विनय शर्मा की रस्म पगड़ी 24 जनवरी कोद लास्ट बेंचर्स ने गरीब बच्चों के साथ धूमधाम से मनाया लोहड़ी का त्यौहार: बच्चों को बांटे गर्म वस्त्र, कम्बल और गिफ्ट्सविश्व हिंदू परिषद पंजाब की तरफ से पंजाब के माननीय राज्यपाल को दिया ज्ञापन1652 होमगार्ड जवानों की होगी भर्ती26 को राज्यपाल अंबाला में, मुख्यमंत्री जींद में फहराऐंगे राष्ट्रीय ध्वज
हिमाचल प्रदेश

गोविंद ठाकुर ने किया बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

August 13, 2019 06:21 PM

कुल्लू, (विजयेन्दर शर्मा) वन, परिवहन व युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज पतलीकूहल थाना से लेकर कटराईं तक ब्यास नदी के किनारे रिहायशी क्षेत्रों का दौरा किया। हाल ही में इस क्षेत्र में बादल फटने की घटना तथा वर्षा व बर्फ पिघलने के कारण नदी के जलस्तर में हुई बढ़ौतरी के कारण ब्यास नदी के किनारे बसे लोगों और उनके बागीचों को खतरा उत्पन्न हो रहा है।
ठाकुर ने सभी घरों में जाकर लोगों से स्थिति का जायजा लिया और नुकसान का भी निरीक्षण किया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से डंगों व मार्गों को शीघ्र दुरूस्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जहां सड़क किनारे नुकसान हुआ है, इसकी तुरंत मुरम्मत की जाए ताकि लोगों को अपने उत्पादों को मण्डियों तक पहुंचाने में किसी प्रकार की असुविधा न हो।
वनमंत्री ने इसके उपरांत बड़ाग्रां के समीप सुंदरी बाग क्षेत्र का भी दौरा किया जहां पर बीते दिनों बादल फटा था जिससे निचले क्षेत्रों को काफी नुकसान भी पहुंचा था। उन्होंने सुंदरी बाग क्षेत्र के लोगों से मिलकर उनकी समस्याओं को सुना और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए। उन्होंने कहा कि जिला में कुछ क्षेत्र काफी संवेदनशील हैं जो बरसात के दिनों प्रभावित होते हैं। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं को सेब सीजन के दौरान सभी ग्रामीण सड़कों का समय-समय पर निरीक्षण करने और लोगों की मांग पर इनकी तुरंत से मुरम्मत करने को कहा।
गोविंद ठाकुर ने कहा कि अगस्त माह में ब्यास नदी तथा इसकी उप-नदियां काफी उफान पर होती हैं और ऐसे में लोगों को सावधान रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि नदी के समीप न स्वयं जाएं और पर्यटकों को भी स्थिति से अवगत करवाएं ताकि वे सतर्क रहे। उन्होंने कहा कि नदी में साहसिक गतिविधियों पर भी आजकल रोक है और नियमों की अवहेलना करने से जिंदगी खतरे में पड़ सकती है। इसलिए सभी लोग सहयोग करें। ठाकुर ने मनाली से कुल्लू के बीच जगह-जगह पर लोगों की समस्याएं भी सुनी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
शोभा यात्रा से हुआ प्रागपुर राज्य स्तरीय लोहड़ी मेले का शुभारंभ मकर संक्रांति पर पर्यटन विभाग पकाएगा 1100 किलो खिचड़ी नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर प्रदेश स्तरीय जन जागरण अभियान 5 से नये साल के पहले दिन श्रद्धालुओं का तांता ज्वालामुखी में आरोह सांस्कृतिक समारोह का आयोजन एनजीओ-द लास्ट बेंचर्स और अमृत फाउंडेशन ने महिलाओं के लिए लगाया कैंसर अवेयरनेस एंड डिटेक्शन कैम्प पठन पाठन का तौर तरीका बदलना होगा: डिप्टी स्पीकर हंस राज कंपनी में रोजगार के लिए चयनित किया विद्यार्थियों में सामाजिक चेतना विकसित करें शिक्षक एवं अभिभावक: परमार ग्रेट पेरेंट्स डे पर वेद धारा ग्लोबल स्कूल में दादा दादी की धूम