ENGLISH HINDI Monday, August 26, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
नैक्टर लाईफ़ केमिकल फैक्ट्री में हादसे के मामले में डीसी ने जांच के दिए आदेश , 16 ज़ख़्मियों में से एक की हालत गंभीर ब्राह्मण समाज के बेरोजगार नौजवानों के लिए रोजगार के प्रबंध कराएगा ब्राह्मण यूथ विंगबठिंडा में तीन दिवसीय 12वीं जूनियर स्टेट नैटबॉल चेंपिअनशिप 2019-20 धूमधाम से संपन्न पुलिस प्रशासन की नाक के नीचे किसके सरंक्षण में चल रहे अवैध आटो?डॉक्टरों की लापरवाही से गई मासूम की जान, स्वास्थ्य मंत्री ने दिए जांच के आदेशनिकासी प्रबंधों का आभाव: आधे घंटे की बरसात में ही भबात की सड़कों में भरा पानीकरंट लगने से राजमिस्त्री की मौत का मामला :तिवारी - दुबे ने पुलिस चौकी एवं थाने का घेराव कियासेक्टर 18 की चर्च में लगाया गया जांच शिविर
पंजाब

रहस्यमय हिरासती मौतों की सीबीआई जांच हो: सांसद मान

August 14, 2019 08:23 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने राज्य में रहस्यमय तरीके से हो रही हिरासती मौतें/आत्म-हत्याओं की समयबद्ध सीबीआई जांच की मांग की है
पार्टी द्वारा जारी बयान में मान ने कहा कि कैप्टन के कार्यकाल के दौरान जेलों और पुलिस हिरासतों में डेढ़ दर्जन से अधिक मौतें हो चुकी हैं, मरने वालों में बहुत से हिरासती नशा तस्करी जैसे संगीन दोषों का सामना कर रहे हैं। अमृतसर में ए.एस.आई अवतार सिंह की ओर से हिरासत दौरान खुद को गोली मार लेना, इस कड़ी की ताजा मिसाल है, जो अपने एक ओर एएसआई साथी जोरावर सिंह के साथ नशा तस्करी के संगीन दोषों के अंतर्गत 11 अगस्त की रात को गिरफ्तार किया था।
मान ने कहा कि पंजाब पुलिस और सरकार की तरफ से हिरासती मौतें /आत्म हत्याओं के बारे में दिए जाते करीब-करीब एक ही जैसे विवरण हैरान और परेशान करने वाले हैं। मान अनुसार, ''यह साधारण व्यवहार नहीं है, इस पर यकीन करना मुश्किल है। यह नशा तस्करी के बड़े रसूखवान व्यापारियों के अगले भेद खुलने के डर से करवाए गए सोचे समझे कत्ल हो सकते हैं। एक के बाद एक हुई इन हिरासती मौतें/आत्म-हत्याओं की कड़ी हमारे सबके संदेह को ओर गहरा करती है। इस लिए इन हिरासती मौतें की संयुक्त कडिय़ों के मद्देनजर सीबीआई जांच जरूरी है, क्योंकि राज्य की पुलिस की भूमिका खुद संदेहजनक है।''
मान ने कहा कि इस कड़ी में अमृतसर के गुरपिन्दर सिंह की हिरासती मौत का मामला बेहद गंभीर है, जो नमक का व्यापारी था और उस पर पाकिस्तान में नमक के बोरों में अरबों रुपए की हेरोइन तस्करी का दोष था।
मान के अनुसार फरीदकोट के जसपाल सिंह की हिरासती मौत के उपरांत पुलिस इंस्पैक्टर नरिन्दर सिंह की ओर से रहस्यमय ढंग के साथ की आत्म-हत्या के बारे में सवाल आज भी वैसा का वैसा ही हैं। जबकि पिछले ढाई सालों में लुधियाना पुलिस की हिरासत में मौतें/आत्म-हत्याओं के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
नैक्टर लाईफ़ केमिकल फैक्ट्री में हादसे के मामले में डीसी ने जांच के दिए आदेश , 16 ज़ख़्मियों में से एक की हालत गंभीर ब्राह्मण समाज के बेरोजगार नौजवानों के लिए रोजगार के प्रबंध कराएगा ब्राह्मण यूथ विंग पुलिस प्रशासन की नाक के नीचे किसके सरंक्षण में चल रहे अवैध आटो? डॉक्टरों की लापरवाही से गई मासूम की जान, स्वास्थ्य मंत्री ने दिए जांच के आदेश निकासी प्रबंधों का आभाव: आधे घंटे की बरसात में ही भबात की सड़कों में भरा पानी नशे से मर रहे बेटों से कोई सरोकार नहीं रखती सरकारें: माणूंके दो युवकों से मारपीट करने के आरोप में एक दर्जन के ख़िलाफ़ मामला दर्ज तीन महीने पहले खोदी सड़क मुरम्मत को तरसी वाटर वर्कस की पाईप में सीवरेज युक्त पानी की सप्लाई जारी, 12 बिमार केमिकल फैक्ट्री में ब्लास्ट होने से 16 कर्मी झुलसे, करोड़ों का नुकसान, पांच की हालत गंभीर