ENGLISH HINDI Tuesday, January 21, 2020
Follow us on
 
पंजाब

जीरकपुर में आफ़त की बारिश, घरों में भरा एक एक फुट पानी, अगले दो दिन भी तेज बारिश की संभावना

August 18, 2019 06:16 PM

जीरकपुर, जेस कलेर
मानसून ने अब अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया। अगले दो दिन क्षेत्र में भारी बरसात की संभावना को देखते हुए राज्य सरकार ने हाई अलर्ट भी जारी किया है। वहीं, शहर में शनिवार देर रात से हो लगातार बरसात कारण कई इलाके बारिश के पानी में डूबे नज़र आए। शहर के एम एस एन्कलेव ढकोली, पिरमुछाला, किशनपुरा, गोविन्द विहार बलटाना, हेम विहार बलटाना, ट्रिब्यून कालोनी, बादल कालोनी, दशमेश कालोनी, ग्रीन एन्कलेव, शिवालिक विहार, पभात गाँव, सावित्री एन्कलेव, जमुना एन्कलेव, एकेएस कालोनी, मेट्रो माल के सामने, सिंघपुरा चौक आदि क्षेत्रों में पानी की सही निकासी न होने के कारण प्रभावित रहने कारण घरों और दुकानों अंदर एक एक फुट पानी भर गया।

मौसम विभाग चण्डीगढ़ की तरफ से भारी बरसात की चेतावनी दी थी जिसको देखते हुए पंजाब सरकार नें अगले 48 से 72 घंटों के लिए हाई अलर्ट जारी किया हुआ है। यदि मौसम विभाग की भविष्यवाणी ठीक साबित होती है तो अगले दो दिन शहर के लिए आफ़त के साथ भरे हो सकता है। वहीं घग्घर नदी भी पूरे उफान पर है जिससे नदी किनारे झुग्गियों में भी जलभराव हो गया है जिसे देखते हुए प्रशासन ने उक्त कस्टर को खाली करवा दिया व जीरकपुर मुबारकपुर काज वे सड़क को भी आम लोगों के लिए बंद करवा दिया।



 
 
 
बरसात से गर्मी से राहत तो मिली परन्तु शहर में सिवरेज और ड्रेनेज व्यवस्था ठीक नहीं होने के कारण जनजीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त हो गया। शहर के निचले इलाको और बंद सड़क वाले रास्तों वाले मोहल्लों में लोगों के घरों में रात डेढ़ बजे से पानी घुसने कारण लोगों को सारी रात जाग कर काटनी पड़ी। हालाँकि बरसात के कारण किसी तरह के जान और माल के नुक्सान की कोई ख़बर नहीं है। वहीं सोशल मीडिया भाखड़ा बाँध से पानी छोड़े जाने वाले मेसेज ने भी लोगों को चिंता में डाले रखा हालाँकि जीरकपुर में भाखड़ा का पानी पहुंचने की अफ़वाह का आधिकारियों ने खंडन किया।

मौसम विभाग चण्डीगढ़ की तरफ से भारी बरसात की चेतावनी दी थी जिसको देखते हुए पंजाब सरकार नें अगले 48 से 72 घंटों के लिए हाई अलर्ट जारी किया हुआ है। यदि मौसम विभाग की भविष्यवाणी ठीक साबित होती है तो अगले दो दिन शहर के लिए आफ़त के साथ भरे हो सकता है। वहीं घग्घर नदी भी पूरे उफान पर है जिससे नदी किनारे झुग्गियों में भी जलभराव हो गया है जिसे देखते हुए प्रशासन ने उक्त कस्टर को खाली करवा दिया व जीरकपुर मुबारकपुर काज वे सड़क को भी आम लोगों के लिए बंद करवा दिया।

क्षेत्र के लोगों का कहना है कि हर बारिश उनके लिए सजा बन चुकी है क्योंकि दुकानों अंदर पानी दाख़िल होने साथ काफ़ी नुक्सान हो चुका है। उन्होंने बताया कि पिछले काफ़ी समय से शहर के सिवरेज और ड्रेनों की साफ़ नहीं हुई, जिसका खामियाजा लोग भुगत रहे हैं। इस सम्बन्धित दर्जनों बार नगर कौंसिल को शिकायत की गई परन्तु समस्या बरकरार है। लोगों ने चेतावनी देते हुए कहा कि बीते 10 सालों से वह नुक्सान करवा -करवा कर थक चुके हैं और मजबूरन संघर्ष का रास्ता अपनाने के लिए मजबूर होंगे।

बारिश और आँधी कारण 12 घंटों के लिए बिजली आपूर्ति प्रभावित

बीती रात आए तेज़ तूफान और बारिश कारण पारा गिरने साथ जहाँ गर्मी से लोगों को राहत मिली वहां आँधी और बरसात लोगों के लिए राहत साथ-साथ आफ़त बन कर आई। बरसात के साथ तेज़ तूफान कारण बलटाना की सभी कालोनियां, लोहगड़, बिशनपुरा, गाजीपुर, वीआईपी रोड़, यमुना एन्कलेव, दशमेश कालोनी, शिवालिक विहार, पभात गाँव व ढकोली क्षेत्र के ज़्यादातर हिस्सों में 12 घंटों तक लोगों को पावरकट्ट झेलना पड़ा, जिस कारण उपभोक्ताओं को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। जबकि कुछ देर के लिए बरसात हटने के बाद पावरकॉम टीम की मुस्तैदी कारण शहर के दक्षिण पूर्वी हिस्से में बिजली स्पलाई को सुचारू कर दिया गया।

पावरकॉम के एक्सईएन खुशविन्दर सिंह ने बताया कि तेज आँधी और बारिश कारण तारें टूटने, इंसुलेटर ख़राब होने, डीओ गिरने, लाईन फाल्ट, जंपर टूटने और ओर कारण कारण कई जगह पर फाल्ट आया है। कर्मचारियों की तरफ से एक - एक कर प्रभावित फीडरें में सुधार के बाद सप्लाई ठीक करने की कोशिश की जा रही है, जिसमें कुछ समय लग सकता है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें