ENGLISH HINDI Tuesday, January 21, 2020
Follow us on
 
चंडीगढ़

कार्यशाला में मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल की बारीकियां बताई

August 19, 2019 10:49 PM

चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री। 

  प्राचीन कला केन्द्र द्वारा आयोजित व्यापक कार्यशाला का आयोजन किया गया । इस कार्यशाला का आयोजन एम.एल.कौसर सभागार में सुबह 10 30 बजे किया गया ।

इस कार्यशाला में चेन्नई से आए प्रसिद्ध मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल पद्वति की बारीकियां बताई एवं उनका संगीत में क्रियान्वयन किस तरह किया जाता है, इस कार्यशाला में दक्षिणी ताल पद्वति का इतिहास,तालों की बनावट,जातियों का निर्माण तालबद्ध सांचों का निर्माण इत्यादि बहुत सी दक्षिणी ताल पद्वति की बारीकियां सिखाई गई ।

इसके उपरांत बालाजी ने तालों का गणित आंकलन द्वारा उनको संगीत में लागू करना सिखाया । बालाजी ने कार्यक्रम के अंतिम भाग में कुछ प्रसिद्ध दक्षिणी तालों के समिश्रण को पेश करके खूब तालियां बटोरी । कार्यक्रम के अंत में के्रन्द्र की रजिस्टर डॉ.शोभा कौसर ने मननार काएल बालाजी को सम्मानित किया ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी योजना प्रचार प्रसार अभियान चंडीगढ़ संगठन ने अरुण सूद से मुलाकात कर दी बधाई परीक्षा पे चर्चा: पीएम मोदी से 60 से ज्यादा बच्चे पूछेंगे सवाल द लास्ट बेंचर्स ने गरीब बच्चों के साथ धूमधाम से मनाया लोहड़ी का त्यौहार: बच्चों को बांटे गर्म वस्त्र, कम्बल और गिफ्ट्स सूद बने चंडीगढ़ भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष, टंडन बने राष्ट्रीय परिषद् के सदस्य अनजान व्यक्ति पर कभी भी भरोसा न करे: ममता समाजवादी पार्टी ने डिम्पल यादव का जन्म दिन मनाया आल कांट्रैक्चयुल कर्मचारी संघ ने चंडीगढ प्रशासन और नगर निगम के खिलाफ किया रोष प्रदर्शन होम्योपैथी से दिल के सुराख का ईलाज अब संभव: डॉ अनुकांत गोयल मकर संक्रांति के पावन पर्व के उपलक्ष्य में उद्योगपतियों ने भंडारे का किया आयोजन वाल्मीकि जयंती के पोस्टर लगाने पर लाखों का जुर्माना ठोकने पर चण्डीगढ़ नगर निगम के खिलाफ युवा कांग्रेस का चक्का जाम