ENGLISH HINDI Friday, January 24, 2020
Follow us on
 
चंडीगढ़

कार्यशाला में मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल की बारीकियां बताई

August 19, 2019 10:49 PM

चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री। 

  प्राचीन कला केन्द्र द्वारा आयोजित व्यापक कार्यशाला का आयोजन किया गया । इस कार्यशाला का आयोजन एम.एल.कौसर सभागार में सुबह 10 30 बजे किया गया ।

इस कार्यशाला में चेन्नई से आए प्रसिद्ध मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल पद्वति की बारीकियां बताई एवं उनका संगीत में क्रियान्वयन किस तरह किया जाता है, इस कार्यशाला में दक्षिणी ताल पद्वति का इतिहास,तालों की बनावट,जातियों का निर्माण तालबद्ध सांचों का निर्माण इत्यादि बहुत सी दक्षिणी ताल पद्वति की बारीकियां सिखाई गई ।

इसके उपरांत बालाजी ने तालों का गणित आंकलन द्वारा उनको संगीत में लागू करना सिखाया । बालाजी ने कार्यक्रम के अंतिम भाग में कुछ प्रसिद्ध दक्षिणी तालों के समिश्रण को पेश करके खूब तालियां बटोरी । कार्यक्रम के अंत में के्रन्द्र की रजिस्टर डॉ.शोभा कौसर ने मननार काएल बालाजी को सम्मानित किया ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
68 लाख के नोटिस के खिलाफ भामसं नगर निगम के खिलाफ करेगा रोष प्रदर्शन नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती के अवसर पर योगासन खेल प्रतियोगिता का आयोजन उपलब्धि:गुरु का लंगर आई अस्पताल ने 11 माह के रिकॉर्ड समय में किये 200 कॉर्निया प्रत्यारोपण ट्राईसिटी चर्चेस एसोसिएशन ने पादरी नज़ीर मसीह के निधन पर जताया शोक पेपर मिल्स पर गैरकानूनी कोर्टल बनाकर मनमाने रेट बढ़ाने का आरोप लगाया गत्ता उद्योग मालिकों ने निचले तबके के बच्चों हेतु कार्यशाला 'टैलेंट अनअर्थड' आयोजित गौशाला में नहीं थम रहा गायों की मौतों का सिलसिला प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी योजना प्रचार प्रसार अभियान चंडीगढ़ संगठन ने अरुण सूद से मुलाकात कर दी बधाई परीक्षा पे चर्चा: पीएम मोदी से 60 से ज्यादा बच्चे पूछेंगे सवाल द लास्ट बेंचर्स ने गरीब बच्चों के साथ धूमधाम से मनाया लोहड़ी का त्यौहार: बच्चों को बांटे गर्म वस्त्र, कम्बल और गिफ्ट्स