ENGLISH HINDI Monday, September 16, 2019
Follow us on
 
चंडीगढ़

कार्यशाला में मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल की बारीकियां बताई

August 19, 2019 10:49 PM

चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री। 

  प्राचीन कला केन्द्र द्वारा आयोजित व्यापक कार्यशाला का आयोजन किया गया । इस कार्यशाला का आयोजन एम.एल.कौसर सभागार में सुबह 10 30 बजे किया गया ।

इस कार्यशाला में चेन्नई से आए प्रसिद्ध मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल पद्वति की बारीकियां बताई एवं उनका संगीत में क्रियान्वयन किस तरह किया जाता है, इस कार्यशाला में दक्षिणी ताल पद्वति का इतिहास,तालों की बनावट,जातियों का निर्माण तालबद्ध सांचों का निर्माण इत्यादि बहुत सी दक्षिणी ताल पद्वति की बारीकियां सिखाई गई ।

इसके उपरांत बालाजी ने तालों का गणित आंकलन द्वारा उनको संगीत में लागू करना सिखाया । बालाजी ने कार्यक्रम के अंतिम भाग में कुछ प्रसिद्ध दक्षिणी तालों के समिश्रण को पेश करके खूब तालियां बटोरी । कार्यक्रम के अंत में के्रन्द्र की रजिस्टर डॉ.शोभा कौसर ने मननार काएल बालाजी को सम्मानित किया ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
भगवान वाल्मीकि शोभायात्रा आयोजक कमेटी के चेयरमैन बने गुरचरण सिंह: निकाली जाएगी भव्य रथ यात्रा ट्राईसिटी वेटर एसोसिएशन ने किया पौधरोपण लास्ट बेंचर्स"-हेल्पिंग द हेल्पलेस ने की"कहो प्लास्टिक को ना" मुहिम की शुरुआत लिप्पी परिदा ने प्रकृति के रंग द ताओ ऑफ थिंग्स, में कैमरे ऑख से पेश किये अरविंदो स्कूल के खिलाड़ियों ने चैंपियनशिप में तीन गोल्ड मेडल झटके हेरोइन के साथ अम्बाला से दबोचे तस्कर की निशानदेही पर मुख्य आरोपी को चंडीगढ़ से किया काबू, पूछताछ के लिए दो दिन का पुलिस रिमांड डाइट क्लिनिक ने पंचकूला में खोला अपना नया क्लिनिक काव्य संग्रह ‘मन की लहरें’ का हुआ विमोचन व चर्चा से. 43 स्थित बस अड्डे पर बाथरूम जा रहे ऑटो रिक्शा चालक को सीटीयू कर्मियों ने पीट डाला : पैसे भी छीन लिए वैदिक गर्ल्स स्कूल की प्रिंसिपल पूनम सेखरी को सम्मानित किया