ENGLISH HINDI Tuesday, January 21, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

एम्स ऋषिकेश में शुक्रवार से अंतरराष्ट्रीय रोबोटिक यूरोलॉजी कांफ्रेंस

August 21, 2019 02:02 PM

ऋषिकेश (ओम रतूड़ी)
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में शुक्रवार से उत्तराखंड की पहली दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रोबोटिक यूरोलॉजी कांफ्रेंस आयोजित की जाएगी, जिसमें देश-दुनिया के यूरोलॉजी विशेषज्ञ व्याख्यानमाला में शिरकत करेंगे। सम्मेलन में चिकित्सक अपने अनुभवों को साझा करेंगे और विभिन्न रोबोटिक पद्धतियों पर चर्चा करेंगे। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान प्रदेश में प्रथम अंतरराष्ट्रीय रोबोटिक यूरोलॉजी कांफ्रेंस का आयोजन कर रहा है। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि मरीजों के हित के लिए नवीनतम शोध को नियमित प्रेक्टिस में अपनाना जरुरी होता है। कांफ्रेंस का आयोजन मरीज हित में ज्ञान को बांटने की सतत् प्रक्रिया है। निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने बताया कि संस्थान इस तरह की शोध एवं शैक्षणिक गतिविधियों को आयोजित कराने में हमेशा अग्रणीय रहा है।  

-देश-दुनिया के यूरोलॉजी विशेषज्ञ करेंगे शिरकत, अपने अनुभवों को साझा कर विभिन्न रोबोटिक पद्धतियों पर चर्चा करेंगे

लिहाजा इसी कड़ी में संस्थान के यूरोलॉजी विभाग की ओर से शुक्रवार से दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रोबोटिक यूरोलॉजी सम्मेलन का अयोजन किया जाएगा,जिसमें देश-विदेश के नामी मेडिकल संस्थानों के वरिष्ठ रोबोटिक शल्य चिकित्सक व्याख्यानमाला के जरिए अपने अनुभव साझा करेंगे साथ ही नवीनतम चिकित्सा प्रणाली पर विमर्श होगा। संस्थान के यूरोलॉजी विभागाध्यक्ष एवं आयोजन सचिव डा. अंकुर मित्तल ने बताया कि एम्स ऋषिकेश में रोबोट सुविधा उपलब्ध होने के बाद से संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत की देखरेख में अब तक विभिन्न विभाग 400 से अधिक रोबोटिक सर्जरी कर चुके हैं,जिनमें अकेले यूरोलॉजी विभाग रोबोटिक पद्धति से 150 से अधिक सर्जरी कर चुका है। उन्होंने बताया कि यूरोलॉजी विभाग में जटिल ऑपरेशन जैसे रेडिकल प्रोस्टेटेक्टोमी,रेडिकल सिस्टेक्टोमी,पार्सियल नेफ्रेक्टोमी, वीडियो ऐंडोस्कोपिक, इंग्वाइनल लिम्फेडिनेक्टोमी आदि सभी ऑपरेशन रोबोटिक पद्धति से किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कांफ्रेंस को उत्तराखंड मेडिकल काउंसिल की ओर से 6 क्रेडिट हावर्स दिए गए हैं। डा. मित्तल ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय रोबोटिक यूरोलॉजी सम्मेलन के आयोजन में डा. किम जैकब मेमन,डा. सुनिल कुमार, डा. विकास कुमार पंवार,डा. शिवचरन के अलावा सभी सीनियर रेजिडेंट्स चिकित्सक सहयोग कर रहे हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
क्या मुस्लिम महिलाएँ और बच्चे अब विपक्ष का नया हथियार हैं? बीएमटीसी की प्रबंध निदेशक ने चलाई वाल्वो बस, कहीं प्रशंसा तो कहीं आलोचना जांच के दायरे में करीब 20 हजार लोग, दिल्ली पुलिस कर रही है पड़ताल भारत लहराएगा दुनिया में 5जी इंटरनेट का परचम, इसरो ने ताकतवर संचार उपग्रह किया लॉन्च जनगणना कार्य के लिए प्रारंभिक तैयारियां आरम्भः मुख्य सचिव जल होगा तो सब होगा: स्वामी चिदानन्द सरस्वती चिकित्सक को चिकित्सा ज्ञान के साथ व्यवहार कुशल होना भी जरुरी: प्रो. कांत फरवरी से अयोध्या में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ 100008 कुंडीय श्री सीताराम महायज्ञ नागरिकता संशोधन विधेयक किसी के भी विरोध में नहीं: स्वामी चिदानन्द सरस्वती गंगा नदी पर अवैध प्लेटफ़ार्म बनाने के विरोध में नगर आयुक्त को ज्ञापन