पंजाब

समस्याओं से घिरा है ज़ीरकपुर का गाँव रामगढ़ भूडा

August 22, 2019 11:09 AM

ज़ीरकपुर, जे एस कलेर:
राज्य की सरकारें बदल जातीं हैं, परन्तु गाँवों में बसते लोगों की तकदीर जैसी की तैसी मुसीबतों में फंसी रहती हैं। इस दास्तां को बयान किया है ज़ीरकपुर नगर कौंसिल के वार्ड नंबर 22 गाँव रामगढ़ भूडा के लोगों ने। इस गाँव में 1300 के करीब वोट है और 2100 के करीब लोग रहते हैं। यह गाँव प्राइवेट कंपनियाँ की ओर से प्रापर्टी हब के तौर पर विकसित किये जा रहे। 200 फुट एयरपोर्ट रोड पर स्थित है लेकिन फिर भी प्राथमिक सुविधाओं का अभाव है। गाँववासियों गुरबाज सिंह, हरिपाल, गुरदेव सिंह, दलविन्दर सिंह, दलजीत, सुखजिन्दर, लाला, करनैल सिंह, सादी सिंह, मनिन्दर सिंह और मनदीप सिंह आदि ने बताया कि ज़ीरकपुर नगर कौंसिल में गाँव को 2017 में शामिल करने के बावजूद मौजूदा पार्षद ने विकास को प्राथमिकता नहीं दी और गाँव दु:ख दर्दों से घिरा है। गाँव में पीने वाले पानी की कमी, आवारा पशुओं, साफ़ सफ़ाई, कचरे की लिफ्टिंग, पार्क की सफ़ाई, गंदे पानी की निकासी न होना, स्ट्रीट लाईटों का काम न करना, यातायात के कोई साधन नहीं होने और टूटी सड़कों की समस्या है। जानकारी देते हुए गाँववासियों ने बताया कि गाँव की सड़क मुकम्मल न होने के कारण गाँव वासियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिस कारण थोड़ी बरसात होने पर भी गाँव की सड़क नदी का रूप धारण कर लेती है। उन्होंने कहा कि अकाली भाजपा सरकार के समय अकाली नेताओं ने राजनीति के अंतर्गत गाँव की पंचायत को भंग कर नगर कौंसिल में शामिल कर यहाँ सड़क बनाने का नींव पत्थर तो रख दिया था परन्तु अभी तक काम मुकम्मल नहीं हुआ हैं। गाँव वासियों ने इस सड़क पर तुरन्त प्रीमिकस डालने के साथ अन्य समस्याओं के हल की भी माँग की है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें