ENGLISH HINDI Tuesday, February 25, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
होलाष्टक रहेगा 3 मार्च से 9 मार्च तक, जानिए क्यों नहीं करते इसमें शुभ कार्य ?टीचर्स ने एग्जाम में नहीं दी ड्यूटी, अब बोर्ड ने बच्चों को जारी नहीं किए रोलनंबर: कुलभूषण शर्माफाइल पर देरी के लिए संबधित अधिकारी की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाएअखिल भारतीय पुलिस कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लेने पहुंचे देशभर से खिलाड़ीपूर्व CIC हबीब उल्लाह ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, शाहीन बाग शांतिपूर्ण सभा का संगमदृष्टि पंजाब ने 23 विद्यार्थी किए 11.50 लाख के अवार्ड से सम्मानितसोलन की पूर्व विधायक मेजर कृष्णा मोहिनी का निधन मूलभूत सुविधाएं न मिलने को लेकर शिवालिक निवासियों ने खोला कॉलोनाइजर के खिलाफ मोर्चा
हरियाणा

दूसरे दिन भी फार्मासिस्ट वर्ग रहा अवकाश पर, मरीजों को बाहर से लेनी पड़ी दवाएं

August 27, 2019 09:10 PM

सिरसा, सतीश बांसल: एसोसिएशन गवर्नमेंट फार्मासिस्ट ऑफ हरियाणा के सभी जिलों के फार्मासिस्ट वर्ग ने मंगलवार को दूसरे दिन भी सामूहिक अवकाश लेकर सरकार द्वारा की जा रही अनदेखी पर जिला नागरिक अस्पताल सिरसा में एकत्रित होकर सरकार के खिलाफ रोष जताया। इस मौके पर जिला प्रधान रामकिशन कंबोज ने कहा कि फार्मासिस्ट जो स्वास्थ्य संस्था की रीढ़ होता है व अपने कार्य के साथ-साथ हर तरह की जिम्मेदारी का निर्वहन बेहतरीन तरीके से करता है। उन्होंने बताया कि फार्मेसी एक्ट 1948 के अनुसार कोई भी अन्य कर्मचारी दवाओं का वितरण नहीं कर सकता। अगर कोई कर्मचारी दवाओं का वितरण करता है तो वह एक अपराध है। क्योंकि अगर किसी व्यक्ति को कोई गलत दवा चली गई और किसी की जान पर बन आई तो इसके लिए जिम्मेवार कौन होगा? हालांकि इसके लिए बकायदा उन्होंने डीसी व विभाग के ड्रग कंट्रोलर को लिखित रूप में दिया हुआ है, लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की गई है। प्रधान ने बताया कि राजपत्रित फार्मासिस्ट का पे ग्रेड 4200 रुपए होना सिस्टम के उदासीन रवैये को दर्शाता है। सरकार ने समान पैरा मेडिकल केटेगरी का वेतनमान 4600 रुपए ग्रेड पे कर दिया है, वहीं फार्मासिस्ट को 4200 रुपए पर ही रख दिया है, जो इस वर्ग के साथ भेदभाव है। जिला प्रधान रामकिशन कंबोज ने कहा कि फार्मासिस्ट के ग्रेड पे 4600 रुपए पर मुख्यमंत्री व स्वास्थ्यमंत्री ने पूर्णत: सहमति जताते हुए स्वीकृति प्रदान कर दी थी। लेकिन वित्त विभाग उदासीन रवैया अपनाकर फार्मासिस्ट वर्ग को आंदोलन पर मजबूर कर रहा है। उनकी मुख्य दो ही मांगें हैं एक तो पे ग्रेड 4600 किया जाए व दूसरी रिक्त पड़े डिप्टी डायरेक्टर व अन्य पदों को भरा जाए। उन्होंने सरकार को स्पष्ट शब्दों में चेताया कि अगर सरकार जल्द हमारी मांग पर संज्ञान नहीं लेती है तो फार्मासिस्ट एसोसिएशन जल्द अनिश्चित कालीन आंदोलन की घोषणा से पीछे नहीं हटेगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
टीचर्स ने एग्जाम में नहीं दी ड्यूटी, अब बोर्ड ने बच्चों को जारी नहीं किए रोलनंबर: कुलभूषण शर्मा फाइल पर देरी के लिए संबधित अधिकारी की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाए अखिल भारतीय पुलिस कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लेने पहुंचे देशभर से खिलाड़ी किसानों की आय को दोगुना करने के लिए अनेक नवीन और महत्वाकांक्षी योजनाएं आपातकालीन रोगियों के लिए मार्ग उपलब्ध करवाने के लिए स्वीकृति मरीजों के साथ हो रहा है खिलवाड़ पीजीआई रोहतक में महापुरुषों की जयंतियां उनके जीवन पर शिक्षाओं पर कार्यक्रम आयोजित करके मनाई जाए: मुख्यमंत्री फाइनेंस कंपनी का कर्मी बता वाहन चोरी की वारदातों को दिया अंजाम, पुलिस के हत्थे चढा पुलवामा हमले की बरसी पर राहुल गांधी का ट्वीट शर्मनाक: मलिक जनगणना: मकान सूचीकरण कार्य 1 मई से 15 जून तक