ENGLISH HINDI Monday, December 09, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मन की शांति की नितांत आवश्यकता हैद स्काई मेंशन मैं पहुंचे करण औजला , लोगों का किया मनोरंजनसीएम की सुरक्षा में सेंध से डेराबस्सी के बहुचर्चित कब्जा विवाद ने पकड़ा तूल: दूसरे पक्ष ने लगाया मुख्यमंत्री के आदेशों के उल्लंघन का आरोप सिंगला की बर्खास्तगी को लेकर राज्यपाल को मिलेगा ‘आप’ का प्रतिनिधिमंडल - हरपाल सिंह चीमाअंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव : 18 हजार विद्यार्थी, 18 अध्यायों के 18 श्लोकों के वैश्विक गीता पाठ की तरंगें गूंजीअविनाश राय खन्ना हरियाणा व गोवा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चुनाव हेतू आब्र्जवर नियुक्तहिमाचल प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र 9 दिसम्बर से तपोवन धर्मशाला में: डॉ राजीव बिंदलधर्मशाला में 10 दिसम्बर को लगेगा रक्तदान शिविर
पंजाब

खजाना खाली है तो ओर 'सफेद हाथी' क्यों बांध रहे हैं कैप्टन: मान

September 11, 2019 10:14 AM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा अपने 6 विधायकों को 'मंत्री के रुतबे' के साथ निवाजे जाने पर सख्त ऐतराज करते हुए इसको संविधान की सीधी उल्लंघन और खजाने की फजूल की लूट बताया है।
पार्टी द्वारा जारी बयान में मान ने कहा कि बेरोजगार नौजवान रोजगार के लिए टैंकियों पर चढ़े हुए हैं। आंगणवाड़ी केन्द्रों में दलितों-गरीबों के बच्चों को 2 महीने से दलिया-रोटी नसीब नहीं हो रही, बुजुर्ग, विधवाएं और अपंग 2500 रुपए पैंशन और योग्य नौजवान रोजगार भत्ते को तरस रहे हैं। मनरेगा मजदूरों को लम्बे समय से दिहाड़ी नहीं दी जा रही। गरीब लोग पक्के घरों के लिए अर्जियां लिए भटक रहे हैं। खेती और किसानी कर्जों का संकट ओर गहरा हो रहा है। ऐसे हालत में सरकार के पास एक ही जवाब रहता है कि खजाना खाली है। वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल अपने दफ्तर में चाय पिलाने को भी वित्तीय बोझ बताते है।
मान ने कहा कि हर समय बुरे हालत की दुहाई देने वाली कैप्टन सरकार रेवडिय़ों की तरह कैबिनेट रैंक कैसे बांट सकती हैं?
मान ने कैप्टन पर तंज कसते कहा कि सलाहकारों की जरूरत उनको होती है, जिनके पास हद से अधिक काम होता है।
मान ने कहा कि राज्य के वित्तीय हालत मुताबिक फजूल खर्ची घटाने के संकेतक संदेश देने चाहिए थे, परंतु कैप्टन 'शाही अंदाज' में सरकार चलाने में बादलों से भी दो कदम आगे हैं। लोग 5 मरलेे के प्लाट लेने को तरस रहे हैं, कैप्टन ने सुखबीर बादल के सात तारा होटल सुख विलास के बराबर 'सारागढ़ी' महल बना लिया। कर्ज माफी का वायदा किसानों के साथ किया था। 84 लाख की माफी रजिन्दर कौर को दे दी। इसी तरह घर-घर नौकरी का वायदा पंजाब के योग्य नौजवानों के साथ किया था, नौकरी बेअंत सिंह के ओवरएज पोते को ही दे दी।
मान ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को कहा कि वह पहले ही जरूरत से ज़्यादा सलाहकारों और ओएसडीज़ की 'फौज' लिए बैठे मुख्यमंत्री को इनके कैबिनेट रैंक वापस लेने चाहिए। मान ने इन विधायकों को भी सलाह दी कि वह जमीर की आवाज पर यह पद न संभालें ऐसा करने पर अदालतें यह पद कानूनी डंडे के साथ छीन भी सकती हैं, क्योंकि कैप्टन सरकार का यह कदम संविधान और कानून के विरुद्ध है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
सीएम की सुरक्षा में सेंध से डेराबस्सी के बहुचर्चित कब्जा विवाद ने पकड़ा तूल: दूसरे पक्ष ने लगाया मुख्यमंत्री के आदेशों के उल्लंघन का आरोप सीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार। मोहाली को विश्व का पहला स्टार्टअप केंद्र बनाने की वकालत की युवक को अज्ञात लोगों ने अगवा कर अधमरा कर रेलवे लाइनों के फैंका पुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी जीएम के आगमन के चलते दुल्हन की तरह सजा रेलवे स्टेशन पेश कर रहा मेट्रो स्टेशन का नजारा सूखे दरख्तों की कटाई या हरे वृक्षों पर कुल्हाड़ी सुखबीर बादल को भी राजोआना के साथ जेल में बिठाने पर ही होगा पंजाब का माहौल शांत: सिंगला निर्दोष स्कूल ने कैलेन्डर 2020 लांच किया दो दिवसीय पांचवीं वार्षिक कॉन्फ्रेंस मेडिकॉन-2019 आयोजित