ENGLISH HINDI Wednesday, April 01, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
विदेशी हाई-प्रोफाइल कॉल गर्ल्स की नहीं हुई जांचसामाजिक दूरी को बनाए रखने में ई-पास मेकेनिज्म होगा सहायकः मुख्यमंत्रीगैर पंजीकृत प्रवासी मजदूरों को पंजीकृत कर प्रदान किए जाएं पहचान पत्रः राज्यपालकोविड-19 पर जागरूकता फैलाने की पहल, उद्देश्य मिथकों को दूर करने में मदद करना3 व्यक्तियों की गिरफ्तारी से पुलिस ने धारीवाल हत्याकांड मामला सुलझायाकोरोना की एंट्री पर रोक लगाने शहरों व गांवों में बेरीगेटिंग शुरुदिल्ली में भाग लेने वालों में तब्लीगी जमात से संबंधित बरनाला के भी थे दो लोगजम्मू कश्मीर प्रशासन ने एनपीपीए की मूल्य निगरानी और संसाधन इकाई स्थापित की
हरियाणा

डिस्पोजल व प्लास्टिक लिफाफों के खिलाफ धरपकड पर मार्च 2020 तक रोक की मांग

October 02, 2019 08:11 PM

सिरसा, बांसल: व्यापार सेवा संगठन कार्यालय में विभिन्न व्यापारी संगठनों की बैठक हुई। बैठक में हलवाई यूनियन, कपड़ा यूनियन, रेडीमेड यूनियन, डिस्पोजल व्यापार यूनियन, किरयाणा यूनियन, मैरिज पैलेस यूनियन, कैटरिंग यूनियन, कंफैक्शनरी बेकरीज यूनियन, डेयरी यूनियन, सब्जी फ्रूट यूनियन इत्यादि के पदाधिकारी शामिल हुए।
बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि सरकार 31 मार्च 2020 तक डिस्पोजल व प्लास्टिक लिफाफों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान व धरपकड़ पर एक बार रोक लगाए ताकि सभी दुकानदार अपने पुराने स्टॉक को विक्रय कर सके। इस बैठक को संबोधित करते हुए बलजीत सिंह रानियां ने कहा कि व्यापारी पहले ही मंदी की मार में है। सरकार के इस निर्णय से हजारों व्यापारी बेरोजगार हो पाए। उन्होंने कहा कि मामले में सरकार सहयोग करना चाहते है लेकिन इसके लिए सरकार को इस व्यवसाय से जुड़े लोगों को पर्याप्त समय देना चाहिए। इस दौरान निर्णय लिया गया कि उपायुक्त सिरसा को एक दर्जन ट्रेड यूनियन मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर 31 मार्च 2020 तक डिस्पोजल व प्लास्टिक लिफाफों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान व धरपकड़ पर रोक लगाई जाए। अगर सरकार इस सिलसिले में कोई कदम नहीं उठाती है, तो ट्रेड व्यापारी विधानसभा चुनाव का बहिष्कार कर अपना कारोबार बंद रखेंगे। इस मौके पर रेडीमेड यूनियन के प्रधान चंद्रेश जैन, सब्जी यूनियन के प्रधान प्रेम फुटेला, दुग्ध यूनियन के प्रधान तिलकराज, मैरिज पैलेस यूनियन के प्रधान विक्रम सिंह, लिफाफा यूनियन के प्रधान सतपाल फुटेला, डिस्पोजल यूनियन के प्रधान मोनू फडिया, कैटरिंग यूनियन के प्रधान लाला चाटवाला के अतिरिक्त सुभाष कुक्कड़, मोहनलाल, केवल कृष्ण खुंगर, रिंकू कालड़ा, फूल सिंह ने भी शिरकत की। सभी ने एक स्वर में कहा कि दुकानदारों के पास पुराना स्टॉक पड़ा है। वर्तमान में इन पर पाबंदी लगने से दुकानदारों को भारी नुकसान होगा। इसलिए सरकार 31 मार्च 2020 तक दुकानदारों को समय दें।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
हरियाणा में 70,000 लोगों की क्षमता के 467 राहत शिविर स्थापित हरियाणा सरकार का कोविड-19 फाइनेंशियल सपोर्ट ऐलान प्रवासी मजदूरों की मूवमेंट के दृष्टिगत सभी अंतर्राज्यीय और अंतर-जिला सीमाएं सील करने के निर्देश हरियाणा : कोरोना रिलीफ फंड में 5 करोड़ दिए सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग की जिम्मेवारी बढ़ी: मीणा कोरोना के चलते एक महीने तक बिजली विभाग के सभी कैश काउंटर बंद, सारचार्ज से छूट सरसों और गेहूं की खरीद के व्यापक प्रबंधों के निर्देश कोरोना से निपटने को सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थाओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों का सहयोग जरूरी: कोविन्द हरियाणा में तीन महीने की अवधि के लिए नियुक्त होंगे तक्नीकी कर्मचारी आंगनवाडिय़ों को महीने के राशन की आपूर्ति घर द्वार पर पहुंचाने के निर्देश