ENGLISH HINDI Monday, February 24, 2020
Follow us on
 
पंजाब

छतबीड़ चिड़ियाघर में स्कूली बच्चों के लिए बना क्लब

October 05, 2019 09:17 PM

ज़ीरकपुर , जेएस कलेर

शुक्रवार को जंगलात मंत्री साधू सिंह धर्मसोत ने जंगली जीव सप्ताह के मौके पर आयोजित राज्य स्तरीय प्रोग्राम में छतबीड़ चिड़ियाघर में स्कूली बच्चों के क्लब की बनाई गई एप्प का उद्घाटन किया था।

इस क्लब की मेंबरशिप हासिल करने के लिए स्कूल प्रबंधकों को चिड़ियाघर की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा या फिर चिड़िया घर पहुंचकर भी रजिस्ट्रेशन करवाई जा सकेगी। जिसकी फीस 1 हज़ार रुपए रखी गई है। इस फीस के बदले स्कूल को चिड़ियाघर द्वारा उतनी ही कीमत का सम्मान दिया जाएगा जिसमें टीशर्ट और जंगली जीवों के साथ संबंधित अन्य सामग्री होगी।

-मेंबर बनने के लिए स्कूल को करना होगा रजिस्ट्रेशन 
-क्लब मेंबर स्कूल की दाखिला फीस होगी 10 रुपए प्रति बच्चा

रजिस्ट्रेशन करने वाले स्कूलों को चिड़ियाघर को 10 से 15 वालंटियर देने होंगे ,जिनको चिड़ियाघर प्रबंधक वातावरण संभाल व जंगली जीवों के बारे में ट्रेनिंग देंगे। बदले में चिड़ियाघर मैनेजमेंट क्लब के मेंबर स्कूल के विद्यार्थियों को 10 रुपए प्रति विद्यार्थी दाखिला लेकर सैर करने का मौका देंगे। जबकि यह फीस प्राइमरी स्कूल के समूह के लिए 20 रुपए प्रति बच्चा और हाई स्कूल के बच्चों के लिए फीस 30 रुपए रखी गई है ।

चिड़ियाघर के शिक्षा अधिकारी हरपाल सिंह ने बताया कि छतबीड़ चिड़िया घर आने से पहले क्लब मेंबर स्कूल को चिड़ियाघर मैनेजमेंट से अपॉइंटमेंट लेनी होगी ।जिसका समय चिड़ियाघर प्रबंधक निर्धारित करेगा। एक दिन में सिर्फ दो ही स्कूलों को घूमने का मौका दिया जाएगा। सिर्फ 150 के करीब बच्चों के चिड़िया घर पहुंचने पर प्रबंधकों द्वारा बच्चों को एक गाइड भी दिया जाएगा जो बच्चों को जानवरों के अलग-अलग बाड़ों में ले जाकर उन जानवरों के रहने सहने के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देंगे। इसके बाद बच्चों को जानकारी केंद्र में जंगली जानवरों व वातावरण संभाल के साथ संबंधित फिल्म भी दिखाई जाएगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
मूलभूत सुविधाएं न मिलने को लेकर शिवालिक निवासियों ने खोला कॉलोनाइजर के खिलाफ मोर्चा अवैध पुल व माईनिंग के खिलाफ विभाग ने दी पुलिस को शिकायत, पुलिस की जांच शुरु सर्वहितकारी विद्या मंदिर में वार्षिक कार्यक्रम सम्पन्न जेलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे, करंट वाली तार लगाने व अलग ख़ुफिय़ा विंग सहित कई फ़ैसलों की मंजूरी सरकारी संस्थानों के साईन बोर्ड, सडक़ों के मील पत्थर पंजाबी में लिखे जाना अनिवार्य: बाजवा हाईकोर्ट के आदेशों पर 100 मीटर क्षेत्र में 13 गोदामों पर चला पीला पंजा उपभोक्ता फोर्म के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार?: चीमा ‘आप’ विधायका रूबी ने उठाया असुरक्षित स्कूलों का मामला चोरों ने बंद घर में लाखों की नगदी व गहनों पर किया हाथ साफ सरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरी