ENGLISH HINDI Saturday, February 22, 2020
Follow us on
 
पंजाब

सीवरेज जाम से लोग हो रहे परेशान

October 06, 2019 06:20 PM

गिद्दड़बाहा (शक्ति जिंदल) लाईनों पार स्थित गिद्दड़बाहा गांव में सीवरेज की समस्या से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करने को विवश होना पड़ रहा है। गांव में स्थित एक ऐसा क्षेत्र भी है, जिसमें लोगो को आमने-सामने दो—दो वार्ड लगते है। इसके बावजूद उनकी सीवरेज समस्या का उचित हल नही निकल सका। सीवरेजयुक्त गंदे बदबुदार पानी से सडक़े लबालब भरी रहती है। अब स्थिती ओर भी खराब होने लगी है। सडक़ पर खड़े गदें पानी में मच्छर पनपने शुरू हो गए है। जिससे इलाके में कोई भंयकर बीमारी फैलने का खतरा पैदा हो गया है। यहां महिलाओं की ओर से नेताओं की जमकर निंदा की जा रही है, कि वे वोटों के दिनों में आकर बड़े-बड़े दावे तो करते है, लेकिन उसके बाद उनकी सार नही ली जाती। दूसरी ओर सीवरेज विभाग फंड की कमी के चलते दिक्कते आने का राग अलाप रहा है।
गिद्दड़बाहा गांव के वार्ड नंबर दस व ग्याराह में पिछले लबें समय से सिवरेज की समस्या है। सीवरेज जाम की वजह से गंदा बदबुदार पानी सडक़ों पर मेन होल के जरिए ओवरफलो होकर बहता रहता है। जिससे सडक़ पर से गुजरना मुश्किल हो जाता है। गांव में रहते जीत सिंह, महिला जसविद्र कौर, संदीप कौर आदि ने बताया कि वैसे तो समस्या पिछले करीब दो साल से चल रही है, मगर अब छह माह से उनको बदबुदार माहौल में रहना भी मुशकिल हो रहा है। उनकी ओर से उनके क्षेत्र में बड़ी मशीन लगाकर सीवरेज की सफाई की मांग की गई है। वही महिलाओं की ओर से तो इलाके के नेताओं को भी जमकर कोसने की कोई कसर नही छोड़ी जा रही है।
सीवरेज बोर्ड के जेई सुखविद्र सिंह से संर्पक करने पर उन्होने भी माना कि समस्या है, जिसके लिए बडी मशीनों को लगाकर प्रैशर से सिवरेज की सफाई की जरूरत है। साथ ही उनका कहना था कि उनके पास प्रयाप्त फंड नही होने की वजह से दिक्कतें आ रही है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जेलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे, करंट वाली तार लगाने व अलग ख़ुफिय़ा विंग सहित कई फ़ैसलों की मंजूरी सरकारी संस्थानों के साईन बोर्ड, सडक़ों के मील पत्थर पंजाबी में लिखे जाना अनिवार्य: बाजवा हाईकोर्ट के आदेशों पर 100 मीटर क्षेत्र में 13 गोदामों पर चला पीला पंजा उपभोक्ता फोर्म के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार?: चीमा ‘आप’ विधायका रूबी ने उठाया असुरक्षित स्कूलों का मामला चोरों ने बंद घर में लाखों की नगदी व गहनों पर किया हाथ साफ सरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरी डेराबस्सी— बरवाड़ा रोड पर एक फैक्ट्री में आग लगी नम्बरदारों का मानभत्ता 2000 रुपए करने का फैसला चार सरकारी स्कूलों का नाम स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों के नाम पर रखने की मंजूरी