ENGLISH HINDI Sunday, February 23, 2020
Follow us on
 
पंजाब

ज़ीरकपुर निवासियों को जल्द ही 24 घंटे निर्विघ्न बिजली आपूर्ति मिलेगी: ढिल्लों

October 06, 2019 09:59 PM

ज़ीरकपुर, जे एस कलेर:
ज़ीरकपुर शहर के निरंतर विकास के कारण बिजली की बढ़ती मांग को ध्यान में रखते हुए, कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार द्वारा बिजली के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। कांग्रेस जिला प्रधान दीपिंदर सिंह ढिल्लों ने जानकारी देते हुए कहा कि लगभग 1.5 करोड़ रुपये की लागत से 66 केवी ढकोली के सिंगल सर्किट से 66 केवी फीडर लाइन के डबल सर्किट का काम सोमवार से शुरू होगा और यह एक महीने में पूरा हो जाएगा।

 पिछली अकाली सरकार ने 10 साल तक सत्ता में रहने के बावजूद ज़ीरकपुर के निवासियों की बुनियादी समस्याओं जैसे बिजली, पानी, सीवरेज, सड़कों आदि को हल करने पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। जबकि कांग्रेस ने ढाई साल में ज़ीरकपुर के बिजली के बुनियादी ढांचे की अपग्रेड करने पर लगभग 20 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। जिसमे सबसे अधिक ध्यान बिजली के सुधार को दिया गया है। इसके तहत 66 केवी एकोली ग्रिड पर पुराने 10 एमवीए पावर ट्रांसफार्मर की जगह नया 31.5 एमवीए पावर ट्रांसफॉर्मर स्थापित किया गया, पभात स्थित सब-स्टेशन नंबर 2 में पुराने 10 एमवीए के पावर ट्रांसफॉर्मर की जगह 31.5 एमवीए के पावर ट्रांसफॉर्मर स्थापित किया गया। 205 नए वितरण ट्रांसफार्मर की स्थापना सहित नई 11KV फीडर लाइनों के निर्माण व अन्य आवश्यक ट्रांसफार्मर की क्षमता में वृद्धि की गई। जो लोगों के लिए अति साहसी साबित हुए हैं।

इसके अलावा, नए 66KV रामगढ़ भूड़ा ग्रिड का निर्माण कार्य भी युद्धस्तर पर जारी है जो जनवरी 2020 तक पूरा हो जाएगा। नए 66केवी ग्रिड सब-स्टेशन और 66केवी लाइन निर्माण के पूरा होने के बाद जीरकपुर निवासियों को 24 घंटे बेहतर बिजली की आपूर्ति मिलेगी और वे इस तरह की परियोजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए वचनबद्ध है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जेलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे, करंट वाली तार लगाने व अलग ख़ुफिय़ा विंग सहित कई फ़ैसलों की मंजूरी सरकारी संस्थानों के साईन बोर्ड, सडक़ों के मील पत्थर पंजाबी में लिखे जाना अनिवार्य: बाजवा हाईकोर्ट के आदेशों पर 100 मीटर क्षेत्र में 13 गोदामों पर चला पीला पंजा उपभोक्ता फोर्म के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार?: चीमा ‘आप’ विधायका रूबी ने उठाया असुरक्षित स्कूलों का मामला चोरों ने बंद घर में लाखों की नगदी व गहनों पर किया हाथ साफ सरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरी डेराबस्सी— बरवाड़ा रोड पर एक फैक्ट्री में आग लगी नम्बरदारों का मानभत्ता 2000 रुपए करने का फैसला चार सरकारी स्कूलों का नाम स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों के नाम पर रखने की मंजूरी