ENGLISH HINDI Saturday, July 04, 2020
Follow us on
 
पंजाब

डिप्टी कमिश्नर ने किया जेल में औचक निरीक्षण, मरीजों की समस्याएं सुन जताई नाराजगी

October 17, 2019 04:31 PM

फिरोजपुर, मनीष बावा:
डिप्टी कमिश्नर फिरोजपुर चंद्र गैंद ने मंगलवार बाद दोपहर केंद्रीय जेल में औचक निरीक्षण किया और खामियां मिलने पर जेल प्रशासन के अधिकारियों की क्लास लगाई। डिप्टी कमिश्नर बिना किसी पूर्व सूचना के सुरक्षा काफिले के बगैर अचानक जेल परिसर पहुंचे और औचक निरीक्षण शुरू कर दिया। यहां उन्होंने बैरकों में रह रहे मरीजों और हवालातियों से भी मुलाकात की और उनकी समस्याएं सुनी। कुछ मरीजों ने बताया कि जेल में स्किन प्रॉब्लम की समस्या बहुत ही ज्यादा हैं। डॉक्टर की तरफ से दवाईयां लिखकर दी गई हैं लेकिन ये दवाईयां उन्हें मुहैया नहीं करवाई गई। इस पर डिप्टी कमिश्नर ने जेल प्रशासन के अधिकारियों से नाराजगी जताते हुए मरीजों को तुरंत इलाज मुहैया करवाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि स्किन प्रॉब्लम वाले मरीजों का खास तौर पर इलाज करवाया जाए। इसी तरह जेल की सभी बैरकों में पड़ी अंगिठियां और उन्हें पड़ी लौहे की रॉड देखकर डिप्टी कमिश्नर ने काफी हैरानी जताई। डिप्टी कमिश्नर ने पूछा कि जब जेल की रसोई में खाना बनता है तो हरेक बैरग में अंगीठी का क्या काम है। उन्होंने कहा कि इन अंगीठियों में पड़ी लौहे की रॉड का गलत इस्तेमाल किया जा सकता है, इसलिए इन्हें तुरंत यहां से हटाया जाए। जेल में खुले गंदे नाले से डेंगू मच्छर पैदा होने की आशंका जताते हुए डिप्टी कमिश्नर ने जेल अधिकारियों से इसे ठीक करने के लिए कहा ताकि इसकी वजह से कोई बीमारी न फैले। डिप्टी कमिश्नर का दौरा पूरी तरह से औचक था और डीसी अपने साथ सुरक्षा काफिले को भी नहीं लेकर गए। डिप्टी कमिश्नर में कुछ जेल अधिकारियों के गैर-हाजिर होने पर भी नाराजगी जताई लेकिन उन्हें बताया कि संबंधित अधिकारियों की तबीयत ठीक नहीं होने की वजह से वह रेस्ट पर हैं। डिप्टी कमिश्नर ने निरीक्षण में सामने आई सभी खामियों को जेल की विजिटर बुक में भी दर्ज कर दिया है और अधिकारियों को अगले औचक निरीक्षण से पहले गलतियां सुधारने के लिए कहा गया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें