ENGLISH HINDI Wednesday, November 20, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पुलिस फोर्स तथा मोबाइल फौरेसिंग युनिट को आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा: अनिल विज पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमति इंदिरा गांधी की 102वी जयन्ती पर श्रद्धासुमन अर्पितदादागिरी पर उतरे ओकेशन मैरिज पैलेस के संचालक,पुलिसकर्मियों व शिकायतकर्ता से मारपीट, 35 पर कटा पर्चाअवैध माइनिंग: गुंडा टैक्स को लेकर प्रशासन हरकत में, माइनिंग में लगी मशीनरी की जब्तप्रधानमंत्री को हिमाचली टोपी पहनाना दस लाख रुपये में पड़ा : कुलदीप राठौरप्रिंस बंदुला के प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र की शुरुआत, संजय टंडन ने किया उद्घाटनपंडित यशोदा नंदन ज्योतिष अनुसंधान केंद्र एवं चेरिटेबल ट्रस्ट (कोटकपूरा ) ने वार्षिक माता का लंगर लगायाछतबीड़ जू में व्हाइट टाइगर 'दिया' ने दिया 4 शावकों को जन्म
हरियाणा

सिरसा का छोरा साऊथ अफ्रीका में दिखाएगा ‘मुक्के’ का दम

October 18, 2019 03:41 PM

सिरसा, बांसल: सिरसा के युवाओं में टेलेंट की कमी नहीं है। जरूरत है तो उस टेलेंट को बाहर लेकर आने की। लक्ष्य निर्धारित कर की गई मेहनत एक न एक दिन जरूर रंग लाती है। सिरसा निवासी संजय सहारण का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चयन होना जिले के लिए बहुत बड़ी बात है। सिरसा में खेलों का स्तर उठाने के लिए वे नाइट फाइट भी शुरू करवाएंगे। उक्त जानकारी टीआरजेएसटी एकेडमी के संचालक व अर्जुन अवार्डी बॉक्सर मनदीप जांगड़ा ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी। जांगड़ा ने बताया कि उनकी जन्मभूमि सिरसा जिले का गांव खारिया है। उन्होंने सिरसा जिले में महसूस किया है कि यहां खेलों के लिए कुछ भी नहीं किया जा रहा है। यहां के युवाओं में प्रतिभा बहुत है, लेकिन अपनी प्रतिभा को दिखाने का उन्हें उचित मंच नहीं मिल पा रहा है। उनका प्रयास है कि युवाओं को ऐसा मंच उपलब्ध करवाया जाए, जिससे कि वे सिरसा जिले का नाम विश्व पटल पर चमका सकें। उन्होंने बताया कि कोच ही सबकुछ नहीं करता, खिलाड़ी की अपनी मेहनत भी बहुत कुछ मायने रखती है। जांगड़ा ने बताया कि यहां नशे का प्रकोप अधिक है। युवाओं को नशे से बचाकर खेलों की तरफ लेकर आने के लिए इस तरह के इवेंट जरूरी हैं। अभिभावकों को चाहिए कि वे शिक्षा के साथ-साथ खेलों में भी बच्चों की रूचि बढ़ाएं। खेल तनाव को दूर कर मनुष्य को शारीरिक बल प्रदान करते हैं।
अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चयन होने से उत्साहित सिरसा के हुडा सैक्टर निवासी संजय सहारण ने बताया कि उनकी सफलता का श्रेय अभिभावकों व एकेडमी के कोच को जाता है। अपने बॉक्सिंग के अब तक के सफर बारे संजय ने बताया कि जब वह छोटा था तो उसे तोडफ़ोड़ व मारपीट की आदत थी। इसके बाद वह क्रिकेट व अन्य खेलों में रूचि लेने लगा। 8 वर्ष पूर्व उसके मौसी के लडक़े प्रदीप कुमार ने उसे बॉक्सिंग के बारे में बताया। इसके बाद उसने कभी पीछे मुडक़र नहीं देखा। शुरूआत में वह बरनाला रोड स्थित शहीद भगत सिंह स्टेडियम में ट्रेनिंग ले रहा था। पिछले तीन माह से वह टीआरजेएसटी में अर्जुन अवार्डी बॉक्सर मनदीप जांगड़ा से ट्रेनिंग ले रहा है। उसकी बॉक्सिंग के प्रति रूचि को देखकर अभिभावकों ने भी उसका पूरा स्पोट किया, जिसके चलते वह इस मुकाम तक पहुंचा है। 4 सालों से वह आर्मी में भी नौकरी कर रहा है और बड़ी बात ये है कि यहां से भी उसे पूरा स्पोट मिल रहा है। जिससे उसका हौंसला सातवें आसमान पर है। इससे पहले संजय स्टेट में ाी चैंपियन रह चुका है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
पुलिस फोर्स तथा मोबाइल फौरेसिंग युनिट को आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा: अनिल विज होटल के कमरे में पंखे से लटकती मिली युवती की लाश, मचा हड़कंप मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को कार्यभार ग्रहण करवाया मनोहर लाल ने राष्ट्रीय प्रैस दिवस पर मीडिया कर्मियों को दी बधाई नशा मुक्त तथा कानून व्यवस्था चुस्त करने में कोई कमी नही छोड़ेंगे: अनिल विज बिना विलम्ब शुल्क आवेदन की नई तारीखें घोषित हरियाणा के नए मंत्रियों को मिले विभाग डॉ. वैशाली शर्मा पुन्हाना की नई एसडीएम सहिकारिता मंत्री बनवारी लाल ने की अधिकारियों से बैठक राज्यपाल ने 10 विधायकों को मंत्री व राज्य मंत्री के रूप में शपथ दिलवाई