ENGLISH HINDI Thursday, November 14, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
एन.आर.आई महिला से पैसे लेने के बावजूद दुकानें न देने पर धोखाधड़ी का मामला दर्जहरियाणा पुलिस ने मादक पदार्थों के तस्करों पर की नए सिरे से कार्रवाई , चार काबूमनोहर ने दूसरी पारी की शुरुआत की, चौटाला की मौजूदगी में उपायुक्तों से की मीटिंग साइकिल सवार 65 वर्षीय बुजुर्ग को ट्रक ने रौंदा, मौतबाल दिवस के अवसर पर नन्हें मुन्नों ने कार्यक्रम में खूबसूरत डांस प्रस्तुत किएअमृत कैंसर फाउंडेशन और एनजीओ-द लास्ट बेंचर्स और एजी ऑडिट पंजाब ने महिला स्टाफ़ के लिए लगाया कैंसर अवेयरनेस एंड डिटेक्शन कैम्पकैन बायोसिस ने पराली से होने वाले प्रदुषण के समाधान के लिए पेश किया स्पीड कम्पोस्टरोजाना एक हज़ार बार "धन गुरु नानक" लिख रहें हैं मंजीत शाह सिंह
राष्ट्रीय

बच्चे की किडनी के कैंसर की रोबोटिक सर्जरी करने में सफलता हासिल

October 31, 2019 11:38 AM

ऋषिकेश, रातुड़ी:
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में बाल शल्य चिकित्सा विभाग ने एक चार वर्षीय बच्चे की किडनी के कैंसर की रोबोटिक सर्जरी करने में सफलता प्राप्त की है। संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने चिकित्सकीय टीम की इस सफलता के लिए सराहना की और उन्हें बधाई दी है। उन्होंने बताया कि संस्थान के बाल शल्य चिकित्सा विभाग द्वारा बीते करीब एक वर्ष से रोबोटिक सर्जरी की मदद से काफी संख्या में सफल ऑपरेशन किए जा चुके हैं। प्रो. कांत ने बताया एम्स संस्थान में मरीजों को वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जा रही हैं, साथ ही साथ स्वास्थ्य सेवाओं का सतत विस्तारीकरण किया जा रहा है,जिससे उत्तराखंड व समीपवर्ती राज्यों के मरीजों को किसी भी तरह के उपचार के लिए राज्य से बाहर नहीं जाना पड़े। निदेशक ने बताया कि मुजफ्फरनगर निवासी परिजन चार साल के बच्चे के बाईं किडनी के कैंसर के उपचार के लिए एम्स पहुंचे। विभागीय सह आचार्य डा. रजत पिपलानी ने सभी तरह के परीक्षण के बाद उन्हें बताया कि किडनी के इस कैंसर को विलम्स ट्यूमर के नाम से जाना जाता है, जिसमें सर्जरी करने से पहले कुछ हफ्ते मरीज को कैंसर की दवा दी जाती है। इसके बाद ऑपरेशन से उस गुर्दे को निकाला जाता है। उन्होंने बताया कि अधिकांश मामलों में यह ऑपरेशन चीरा लगाकर किया जाता है। डा. रजत पिपलानी के अनुसार उन्होंने बच्चे के परिजनों को रोबोटिक सर्जरी द्वारा ऑपरेशन करने के बाबत अवगत कराया, इसके बाद परिजनों की सहमति लेने पर चार वर्षीय बच्चे की सफलतापूर्वक रोबोटिक सर्जरी की गई। इसके बाद अब बच्चे की दोबारा अगले कुछ महीनों की दवा मेडिकल ओंकोलॉजी विभाग के डा. अमित सहरावत की देखरेख में चलाई जा रही है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
सड़क दुर्घटना में पौड़ी गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत समेत तीन घायल सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के साथ साधु संतों ने की बैठक अमेज़न फ्लिपकार्ट के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन के लिए 10 नवम्बर को दिल्ली में व्यापारियों की राष्ट्रीय बैठक आरसीईपी को अपनाने के केंद्र के निर्णय का सीआईआई ने किया समर्थन इस्‍पात मंत्री ने निवेशकों को भारत के विकास क्रम में भागीदार बनने का न्‍यौता दिया नराकास पंचकूला द्वारा स्वरचित काव्य पाठ प्रतियोगिता आयोजित ईपीएफओ पेंशन न्यूनतम 7500 रूपये करने की मांग तेज झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के कार्यक्रम की घोषणा वॉट्सऐप में जल्द शुरू होगा पेमेंट की खास सर्विस: सीईओ ज़करबर्ग राष्ट्रपति करेंगे 2 से 4 नवम्बर तक सिक्किम और मेघालय का दौरा