ENGLISH HINDI Thursday, November 14, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
एन.आर.आई महिला से पैसे लेने के बावजूद दुकानें न देने पर धोखाधड़ी का मामला दर्जहरियाणा पुलिस ने मादक पदार्थों के तस्करों पर की नए सिरे से कार्रवाई , चार काबूमनोहर ने दूसरी पारी की शुरुआत की, चौटाला की मौजूदगी में उपायुक्तों से की मीटिंग साइकिल सवार 65 वर्षीय बुजुर्ग को ट्रक ने रौंदा, मौतबाल दिवस के अवसर पर नन्हें मुन्नों ने कार्यक्रम में खूबसूरत डांस प्रस्तुत किएअमृत कैंसर फाउंडेशन और एनजीओ-द लास्ट बेंचर्स और एजी ऑडिट पंजाब ने महिला स्टाफ़ के लिए लगाया कैंसर अवेयरनेस एंड डिटेक्शन कैम्पकैन बायोसिस ने पराली से होने वाले प्रदुषण के समाधान के लिए पेश किया स्पीड कम्पोस्टरोजाना एक हज़ार बार "धन गुरु नानक" लिख रहें हैं मंजीत शाह सिंह
हरियाणा

उम्मीदवार 23 तक प्रस्तुत करें चुनाव खर्च लेखा-जोखा: उपायुक्त

October 31, 2019 07:31 PM

सिरसा, सतीश बांसल:
विधानसभा आम चुनाव 2019 के दौरान चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार 23 नवंबर तक अपने चुनाव खर्च संबंधी लेखा जोखा प्रस्तुत कर दें। इसके लिए उम्मीदवार निर्धारित तिथि को अपने चुनाव खर्च के लेखे-जोखे के मूल वाऊचर संबंधित उम्मीदवार या एजेंट द्वारा हस्तारित हो को नोडल अधिकारी एवं उप आबकारी एवं कराधान आयुक्त के कार्यालय में प्रस्तुत करें।   

लेखे प्रस्तुत न करने पर जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 10ए के अंतर्गत भविष्य में चुनाव लडऩे के लिए अयोग्य घोषित किया जा सकता है।


जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार गर्ग ने जानकारी देते हुए बताया कि उम्मीदवार को चुनाव परिणाम से 30 दिन के अंदर अपने चुनावी खर्च का लेखा-जोखा प्रस्तुत करना होता है। इसी कड़ी में हरियाणा विधानसभा आम चुनाव 2019 में चुनाव लडऩे वाले उमीदवार 23 नवम्बर तक अपने चुनाव खर्च के मूल वाउचर नोडल अधिकारी एवं उप आबकारी एवं कराधान आयुक्त के कार्यालय में प्रस्तुत करवा दें। उन्होंने बताया कि जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 78 के अंतर्गत चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों को चुनाव परिणाम की तिथि से 30 दिनों की अवधि के दौरान अपने चुनाव के खर्च के लेखे प्रस्तुत करना जरूरी है।
उन्होंने कहा कि चुनाव खर्च के लेखे पूरे मूल वाऊचर जोकि उम्मीदवार या चुनाव एजेंट से हस्ताक्षरित हो, चुनाव खर्च रजिस्टर में पूर्ण खर्च विवरण, चैक बुक, बैंक स्टेटमेंट, जोकि खर्च के रजिस्टर में वर्णित हो पूरी तरह से क्रॉस चैक हो व उम्मीदवार / चुनाव एजेंट द्वारा प्रमाणित एवं हस्ताक्षरित हो नोडल अधिकारी एवं उप आबकारी एवं कराधान आयुक्त (बिक्रीकर) को उनके कार्यालय में अविलंब प्रसत करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि यदि निश्चित समयावधि में चुनाव खर्च के लेखे प्रस्तुत न करने पर जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 10ए के अंतर्गत भविष्य में चुनाव लडऩे के लिए अयोग्य घोषित किया जा सकता है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
हरियाणा पुलिस ने मादक पदार्थों के तस्करों पर की नए सिरे से कार्रवाई , चार काबू मनोहर ने दूसरी पारी की शुरुआत की, चौटाला की मौजूदगी में उपायुक्तों से की मीटिंग हरियाणा पुलिस का ई-सिगरेट पर अंकुश लगाने के लिए विशेष अभियान शुरू युवा अधिवक्ता ही न्याय प्रणाली का भविष्य: न्यायमूर्ति राजन गुप्ता सीएम मनोहर लाल पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के छोटे भाई के निधन पर शोक प्रकट करने पहुंचे 80 वर्ष की आयु पार करने वाले बिजली पैंशनर्स को सम्मानित करेगी बिजली पैंशनर एसोसिएशन बरसाती जल भराव से मुक्ति के लिए बनवाया मास्टर प्लॉन पराली जलाने वाले संवेदनशील गांव चिन्हित, अधिकारियों की लगाई ड्यूटी 18 लाख रुपये की चोरीशुदा संपत्ति बरामद कुरुक्षेत्र में 26 दिसंबर को सूर्य ग्रहण मेले का आयोजन