ENGLISH HINDI Wednesday, July 08, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

सड़क दुर्घटना में पौड़ी गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत समेत तीन घायल

November 10, 2019 07:18 PM

ऋषिकेश: ओम रातुड़ी: 

सड़क दुर्घटना में घायल पौड़ी गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत समेत तीन लोगों को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया है। जहां ट्रामा सर्जरी विभागाध्यक्ष प्रो. कमर आजम व कन्सल्टेंट डा. अजय कुमार की देखरेख में विभिन्न विभागों के चिकित्सकों की संयुक्त टीम उनके स्वास्थ्य की निगरानी में लगी है। चिकित्सकों के अनुसार घायलों की स्थिति खतरे से बाहर है।                                                     

रविवार सुबह सड़क दुर्घटना में घायल गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत, उनके निजी सचिव विजय सती व चालक हरीश सिंह को एम्स के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। घायलों का विभाग के वरिष्ठ चिकित्सकों की टीम ने परीक्षण किया, जिसमें ट्रामा विभागाध्यक्ष प्रो. कमर आजम, ट्रामा सर्जरी कन्सल्टेंट डा. अजय कुमार, न्यूरो सर्जरी के डा. जितेंद्र चतुर्वेदी, डाइबिटिक विभाग की टीम के सदस्य शामिल हैं। सांसद समेत सभी अन्य घायलों की स्थिति सामान्य बताई गई है, उनका संयुक्त चिकित्सकीय दल की निगरानी में एम्स संस्थान के वीआईपी निजी वार्ड में उपचार चल रहा है।               

एम्स के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. ब्रह्मप्रकाश ने बताया कि उनका इमरजेंसी में अल्ट्रासाउंड व एक्स- रे कराया गया। उन्होंने बताया कि सांसद तीरथ सिंह रावत की गर्दन, पीठ व बाएं कूल्हे में दर्द की शिकायत है, जिसके लिए उनके पूरे शरीर का पैन सीटी परीक्षण कराया गया। जिसमें स्थिति सामान्य पाई गई। एमएस डा. ब्रह्मप्रकाश के अनुसार उन्हें सिर अथवा हड्डी में कहीं कोई फ्रैक्चर नहीं है। सांसद समेत सभी अन्य घायलों को विभिन्न विभागों के चिकित्सकों की गठित टीम की निगरानी में रखा गया है।                                                                                                           

इस अवसर पर डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता, डीन प्रोटोकॉल प्रो. ब्रिजेंद्र सिंह, प्रो. आरएस मित्तल,डा. रजनीश अरोड़ा, डा. अनिरूद्ध मुखर्जी,डीएमएस डा. संतोष कुमार आदि मौजूद थे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
भारत में दीपगृह पर्यटन के अवसरों को विकसित करने का आह्वान महामारी को देखते हुए परीक्षाओं पर यूजीसी संशोधित दिशानिर्देश, अकादमिक कैलेंडर जारी कोविड—19: ठीक होने वालों की संख्या करीब 4 लाख 40 हजार हुई आईसीएआर-राष्ट्रीय पादप आनुवांशिक संसाधन ब्यूरो ने किए एमओयू पर हस्ताक्षर सतत विकास के लिए आयु-अनुकूल व्यापक यौनिक शिक्षा क्यों है ज़रूरी? कोविड-19: ठीक होने की दर बढ़कर 60 प्रतिशत पहुंची उच्च स्तरीय उद्योग परामर्श में शीर्ष हस्तियां ले रही है भाग वेबिनार में बताए महिला सुरक्षा और महिला सशक्तिकरण के गुर केरल व हिमाचल दो राज्यों में बहुत सी साझी बातें: डॉ. चौहान किसानों को घर पर मिलेगी मिट्टी के नमूनों के मुफ्त परीक्षण की सुविधा