ENGLISH HINDI Thursday, July 09, 2020
Follow us on
 
चंडीगढ़

रोजाना एक हज़ार बार "धन गुरु नानक" लिख रहें हैं मंजीत शाह सिंह

November 12, 2019 07:29 PM

चण्डीगढ़ : स्थानीय निवासी मंजीत शाह सिंह ने गुरु नानक जी के 550वें जन्म प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य पर "धन गुरु नानक" लिखना शुरू किया है। उनका कहना है कि इस कंसेप्ट से मेडिटेशन करना आसान होता हैै। परमात्मा की तरफ लगन बढ़ती है। मंजीत शाह सिंह ने बताया कि आप चाहे किसी भी धर्म को मानते हो और यदि आप ईश्वर के बारे में लिखते हैं तो मन की एकाग्रता बढ़ती है। भक्ति के साथ-साथ शारीरिक थकावट भी कम होती हैै।

अगले प्रकाश पर्व तक एक लाख बार लिखने का लक्ष्य,ईश्वर के बारे में लिखने से मनुष्य का चित्त एकाग्र होता है: मंजीत शाह सिंह

जिंदगी की दौड़ धूप में यदि हम कुछ समय निकालकर कुछ पवित्र शब्द लिखते हैं तो परमात्मा का ध्यान करना बड़ा ही आसान हो जाता है। उन्होंने बताया कि वे पिछले 13 दिनों से "धन गुरु नानक" लिख रहे हैं व रोजाना यह हज़ार बार के हिसाब से अब तक 13000 बार इसे लिख चुके हैं।

  
जिंदगी की दौड़ धूप में यदि हम कुछ समय निकालकर कुछ पवित्र शब्द लिखते हैं तो परमात्मा का ध्यान करना बड़ा ही आसान हो जाता है। उन्होंने बताया कि वे पिछले 13 दिनों से "धन गुरु नानक" लिख रहे हैं व रोजाना यह हज़ार बार के हिसाब से अब तक 13000 बार इसे लिख चुके हैं।

उन्होंने कहा कि उनके द्वारा गुरु नानक देव जी के अगले जन्म प्रकाश पर्व तक एक लाख बार लिखने का टारगेट तय किया है। उनका मानना है कि लिखने से मनुष्य का चित्त एकाग्र होता है और वह आसानी से परमात्मा का ध्यान कर सकता है। उन्होनें बताया कि कोई भी व्यक्ति, किसी को धर्म को भी मानने वाला है यदि वह कुछ मंत्र या धर्म से संबंधित कुछ स्लोगन लिखना चाहता है तो उन्हें उनकी तरफ से निशुल्क स्टेशनरी उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके लिए उनसे मो. नं. 70099 03082 पर संपर्क किया जा सकता है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
ट्राइसिटी में बढ़िया कारगुजारी दिखाने वालों का सम्मान टंडन ने परिवार के साथ किया मिलकर पौधरोपण गोरैया: कम होती संख्या पर चिन्ता, पुन: चहचहाट के लिए संरक्षण पर बढते कदम विश्व हिंदू परिषद ने समाज सेविका सुप्रिया गोयल को किया सम्मानित स्वामी अशीम देब गोविंद धाम सोसायटी ने धूमधाम से मनाया गुरु पूर्णिमा का त्यौहार ज्वेलर्स मार्केट सेक्टर 23 में कोरोना कर्मयोद्धा किये सम्मानित मिली एक नई जिम्मेदारी नया दायित्व, आईसीएसई की बनी राष्ट्रीय सचिव सेक्टर 26 मंडी में पीने के पानी के लिए मचा हाहाकार क्यों बढ़ता गया मर्ज पंचकूला में कोरोना संक्रमण से पहली मौत, 74 वर्षीय बुजुर्ग महिला ने तोड़ा दम, 10 नए मामले भी आए