ENGLISH HINDI Wednesday, December 11, 2019
Follow us on
 
पंजाब

फेरे से पहले दूल्हे की सड़क हादसे में मौत, शादी की तैयारी के सिलसिले में गया था नजदीकी गांव

November 20, 2019 07:31 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

घर का बड़ा छोटा बेटा सेहरा पहन सात फेरे लेकर दुल्हन लाने वाला था। घर में शादी की रस्मों की धूम-धाम से तैयारी चल रही थी। मंगलवार रात करीब 11 बजे अपने दो अन्य दोस्तों के साथ कार में सवार हो नजदीकी गांव में कुछ सामन लेने गए तो इनकी गाड़ी को एक ट्रक ने टक्कर मार दी। अचानक उसकी मौत की खबर ने लड़के और लड़की वालों को झकझोर कर रख दिया। जिस घर में शहनाइयां बज रही थीं वहां मातम पसर गया। पुलिस ने ट्रक चालक खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगामी कार्रवाई आरंभ कर दी है।

लौटते समय ट्रक ने मेरी कार को टक्कर, घर पहुंचा दूल्हे का शव, दोनों परिवारों में खुशियां मातम में बदलीं, परिवार में सबसे छोटा बेटा था मृतक

गुरतेज व उसके दोस्त नजदीकी गांव से अपनी कार में करीब पौने 12 बजे घर लौट रहे थे। तभी छत्त गांव की ओर से आ रहे अनियंत्रित ट्रक ने उसे चपेट में ले लिया। गुरतेज की अस्पताल पहुचने से पहले ही मौत हो गई ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के भाई के बयानों पर ट्रक के अज्ञात चालक के खिलाफ केस दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों के हवाले कर दिया। जहां आज उसकी बारात जानी थी लेकिन परिवार वालों को आज के दिन अपने छोटे बेटे का अंतिम संस्कार करना पड़ा।

 

छत्त गांव में गुरतेज सिंह पुत्र जरनैल सिंह की शादी की रस्मों की तैयारी चल रही थी। बुधवार को शादी होनी थी। मंगलवार रात को विवाह की तैयारी चल रही थी। मिठाइयां बन रही थीं डीजे चल रहा था।

जानकारी अनुसार 31 वर्षीय युवक गुरतेज सिंह तेजा पुत्र जरनैल सिंह जो प्राईवेट तौर पर ड्राईवरी करता था की 20 नवंबर को शादी थी, जिस कारण घर में शादी की रस्में पूरी की जा रही थीं डीजे की ताल पर सभी नाच रहे थे। सुबह बारात राजपुरा के नज़दीक देवी नगर जानी थी। रस्मों और डीजे बन्द होने के बाद गुरतेज अपने दोस्तों मनजीत सिंह और प्रवीण के साथ आलटो गाड़ी में सवार होकर नज़दीकी गाँव रामपुरा की ओर चले गए। गाड़ी को रणजीत चला रही था और गुरतेज कंडक्टर सीट पर बैठा था और प्रवीण पीछे बैठा था। वापिस घर को आते हुए छत्तबीड़ चिड़ियाघर के नज़दीक एक तेज रफ़्तार ट्रक नंबर एचआर 57 5891 नें गाड़ी को जोरदार टक्कर मार दी। ट्रक की गुरतेज वाले साइड टक्कर हुई। गंभीर हालत में उन्हें तुरंत ज़ीरकपुर के एक निजी अस्पताल में पहुँचाया गया परन्तु सिर में लगीं गंभीर चोटों के चलते गुरतेज को अस्पताल पहुंचने पर मृत करार दे दिया गया। जबकि दुर्घटना में प्रवीण और मनजीत के भी गंभीर छोटे लगी जिन्हें चंडीगढ़ के पीजीआई और सैक्टर 32 अस्पताल में रेफर कर दिया गया जहाँ उनका इलाज चल रहा है जिनकी हालत गंभीर बतायी जा रही है। गुरतेज की मौत की ख़बर के बाद उसके घर मातम पसर गया है।

शादी वाले टैंट की जगह अब सफ़ेद टैंट नें ले ली है और शादी समारोह में शामिल होने आए रिश्तेदार परिवार की इस दुख की घड़ी में साथ खड़े हैं। घर में गुरतेज के अलावा उसका एक बड़ा भाई और बड़ी बहन हैं जो शादीशुदा हुए हैं। ज़ीरकपुर पुलिस नें मृतक के भाई गुरप्रीत सिंह पुत्र जरनैल सिंह के बयानों दे आधार पर ट्रक नंबर एच आर 57 5891 के अज्ञात चालक ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर आगामी कारवाई आरंभ कर दी है।

काल बनकर आया तेज रफ्तार ट्रक
गुरतेज व उसके दोस्त नजदीकी गांव से अपनी कार में करीब पौने 12 बजे घर लौट रहे थे। तभी छत्त गांव की ओर से आ रहे अनियंत्रित ट्रक ने उसे चपेट में ले लिया। गुरतेज की अस्पताल पहुचने से पहले ही मौत हो गई ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के भाई के बयानों पर ट्रक के अज्ञात चालक के खिलाफ केस दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों के हवाले कर दिया। जहां आज उसकी बारात जानी थी लेकिन परिवार वालों को आज के दिन अपने छोटे बेटे का अंतिम संस्कार करना पड़ा।

जहां से निकलनी थी बारात वहां पड़ा था दूल्हे का शव

जिस दरवाजे से गाजे-बाजे के साथ बारात निकलनी थी वहीं दूल्हे का कफन में लिपटा शव पड़ा था। रिश्तेदार और गांव के लोग भी थे, लेकिन सबकी आंखें छलक रही थीं। घटना से पूरा गांव गमगीन हो गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें