ENGLISH HINDI Friday, July 10, 2020
Follow us on
 
पंजाब

सीएम की सुरक्षा में सेंध से डेराबस्सी के बहुचर्चित कब्जा विवाद ने पकड़ा तूल: दूसरे पक्ष ने लगाया मुख्यमंत्री के आदेशों के उल्लंघन का आरोप

December 08, 2019 08:18 PM

डेराबस्सी, पिंकी सैनी

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की मोहाली में एक कार्यक्रम दौरान सुरक्षा में सेंध लगा कर उन्हें मिलने वाले नौजवान का दुकान पर कब्जा करवाने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। प्रशासनिक अधिकारियों की ओर से कब्जा करवाने के अगले दिन दूसरी पक्ष की ओर से प्रैस कांफ्रेंस कर प्रशासनिक आधिकारियों व मुख्यमंत्री के हुक्मों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है।

 इस मौके प्रैस कांफ्रेंस करने वाले पक्ष के साथ मार्किट के बड़ी संख्या में दुकानदार व अन्य लोग उपस्थित थे जिन्होंने प्रशासनिक आधिकारियों पर जल्दबाजी में गलत फैसला लेने का आरोप लगाया।

डेराबस्सी प्रैस क्लब में दूसरे पक्ष से अजीत सिंह, सिमरन सिंह, हरपाल नागपाल सहित अन्य ने बताया कि मुख्य मंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने डिप्टी कमिशनर मोहाली व एसएसपी मोहाली को मामले की जांच कर बनती कार्रवाई करने की हिदायत की थी, परंतु प्रशासनिक आधिकारियों ने बिना किसी की जांच के शनिवार छुट्टी वाले दिन अवैध तौर पर उनके कब्जे वाली दुकान के ताले तोड़कर मुख्यमंत्री को मिलने वाले नौजवान अमर को धक्के के साथ कब्जा करवा दिया। उन्होंने पत्रकारों को साल 2003 से अपने नाम वाली वक्फ बोर्ड की लीज की कापी दिखाई।

डिप्टी कमिशनर मोहाली गिरिश द्यालन ने कहा कि यह दुकान वक्फ बोर्ड की प्राप्रर्टी है और वहां लीज अमन के नाम है। अदालत की ओर से भी अमन को स्टे मिली हुई है। धोखे के साथ लीज नाम करवाने बारे उन्होंने कहा, इसका जवाब वक्फ बोर्ड दे सकता है प्रशासनिक आधिकारियों ने किसी का कोई कब्जा नहीं करवाया बल्कि उसकी दुकान खुलवाने में मदद करवाई है ‌जो दूसरा पक्ष खोलने नही दे रहा था।*दुकानदारों ने कहा  कल को कोई भी नौकर या अन्य व्यक्ति धोखे के साथ दुकान की लीज अपने नाम करवा लेता है ओर वह मुख्यमंत्री के पास पेश हो जाएगा तो प्रशासन बिना किसी जांच के उसका कब्जा करवा देगा, यह कहां का कानून है। 

  
मुख्यमंत्री को मिलने वाला नौजवान अमन निवासी त्रिवेदी कैंप पहले एक निजी गैस एजेंसी में सिलंडरों की डिलीवरी देने का काम करता था। उसकी बीमारी पर तरस खाते हुए 2017 में उसे नौकरी पर रखा गया था। उनकी तबीयत खराब रहने पर नौकर अमर को दुकान बंद करने के लिए कहा गया। साल 2019 के एक अप्रैल को उन्होंने दुकान बंद करनी थी लेकिन इससे पहले ही वह अप्रैल के महीने में धोखे के साथ अपने नाम लीज करवा आया जबकि दुकान पर सारा सामान, दुकान के बाहर नागपाल कम्यूनिकेशन का बोर्ड, पानी के बिल का कनेक्शन उनके नाम है। इस के अलावा यह दुकान अन्य दुकानों के साथ पीर की जगह पर है जिसका वह पीर कमेटी को अन्य दुकानदारों के तरह अब तक का किराया देते आ रहे हैं जिनकी रसीदें भी पत्रकारों को दिखाईं गईं।

दुकानदार भी खुल कर दूसरे पक्षके साथ एकजुट दिखे

दुकानदारों ने कहा कि यदि कल को कोई भी नौकर या अन्य व्यक्ति धोखे के साथ दुकान की लीज अपने नाम करवा लेता है ओर वह मुख्यमंत्री के पास पेश हो जाएगा तो प्रशासन बिना किसी जांच के उसका कब्जा करवा देगा, यह कहां का कानून है। कब से प्रशासन लोगों के कब्जा करवाने लग गया जबकि केस अदालत में विचारधीन है।

बात करने पर मुख्यमंत्री को मिलने वाले अमन ने कहा कि इस दुकान की लीज उनके नाम है जिस पर उसका कब्जा है। दूसरा पक्ष उसे दुकान खोलने नहीं दे रहा था, जिस कारण आधिकारियों ने उसकी दुकान खुलवाई है।

डिप्टी कमिशनर मोहाली गिरिश द्यालन ने कहा कि यह दुकान वक्फ बोर्ड की प्राप्रर्टी है और वहां लीज अमन के नाम है। अदालत की ओर से भी अमन को स्टे मिली हुई है। धोखे के साथ लीज नाम करवाने बारे उन्होंने कहा, इसका जवाब वक्फ बोर्ड दे सकता है प्रशासनिक आधिकारियों ने किसी का कोई कब्जा नहीं करवाया बल्कि उसकी दुकान खुलवाने में मदद करवाई है ‌जो दूसरा पक्ष खोलने नही दे रहा था।

मुख्यमंत्री को मिलने वाले नौजवान का सट्टे खेलते का ‌वीडियो किया जारी

प्रैस कांफ्रेंस के दौरान उक्त व्यक्तियों ने एक वीडियो मीडियाकर्मियों को दिखाया जिसमें मुख्यमंत्री से मिलने वाला युवक पैसे लगाकर सरेआम सट्टा खेल रहा है। मुख्यमंत्री को गल्त तथ्य पेश कर युवक ने उनकी सहानभुति ली है जबकि जिस तरह से वह सुरक्षा में सेंध लगाकर घुसा है, उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

डिप्टी कमिशनर के दफ्तर के बाहर देंगे धरना

इस पक्ष ने दावा किया कि अगर उनको इंसाफ न मिला तो वह डिप्टी कमिशनर के कार्यालय के बाहर धरना देंगे ताकि उनको अहसास हो सके कि उन्होंने जल्दबाजी में गल्त फैसला लिया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
बरगाड़ी-बहबल कलां कांड में लोगों की कचहरी के मुख्य आरोपी हैं बादल: मान इंतकाल फीस 300 रुपए से बढ़ाकर 600 रुपए की, महामारी झेल रहे लोगों पर अतिरिक्त भार राज्य में खेल ढांचे की मज़बूती के लिए कड़े निर्देश शिरोमणि कमेटी के फ़ैसले से पंजाब के 3.5 लाख दूध उत्पादकों के पेट पर पड़ी लात: रंधावा पहलकदमी : बरनाला में घुटनों की तकलीफ के मरीजों का दूरबीन से इलाज डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा