ENGLISH HINDI Wednesday, January 29, 2020
Follow us on
 
पंजाब

बिना किसी मंजूरशुदा गड्ढों से कैसे रॉयल्टी मांग रहे हैं ठेकेदार?

December 11, 2019 10:06 AM

डेराबस्सी, पिंकी सैनी:

क्षेत्र में गुंडा टैक्स वसूलने का मामला दिन ब दिन तूल पकड़ता जा रहा है। इसको लेकर जहां बीते सोमवार मोहाली में ठेकेदारों की ओर से प्रेस कांफ्रेंस कर क्रशर मालिकों पर अवैध माइनिंग करने का आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की। वहीं इसके बाद क्रशर एसोसिएशन की ओर से प्रेस ब्यान जारी कर आरोप लगाया कि प्रेस कांफ्रेंस करने वाले ठेकेदार ही गुंडा टैक्स वसूल रहे हैं। जिनकी ओर से अपना गुनाह कबूल किया गया है। परंतु इसके बावजूद पंजाब सरकार उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। जिससे उनकी भूमिका संदिग्ध साबित हो रही है।  

आरोप: राजनीतिक सरप्रस्ती में चल रहा है गोरखधंधा


क्रशर एसोसिएशन के प्रधान अमरजीत बांसल ने कहा कि ठेकेदारों की ओर से दावा किया गया कि वह रॉयल्टी वसूल रहे हैं जबकि अभी तक किसी भी घाट की उनको मंजूरी नहीं मिली है। वह किस आधार पर रॉयल्टी वसूल रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन मंजूरशुदा घाट की बोली हुई है उनमें से किसी में क्रशरों में प्रयोग होने वाला कच्चा मॉल (पत्थर) नहीं है, सिर्फ रेत व मिट्टी है। यहां के क्रशर सारा कच्चा मॉल हरियाणा की नदियों से लाते हैं जहां वह बनती रॉयल्टी व जीएसटी भरने बाद मॉल लाते है। ठेकेदारों की ओर से क्रशर एसोसिएशन पर अवैध माइनिंग का लगाया आरोप बेबुनियाद बताया है जबकि उक्त व्यक्तियों की ओर से कथित तौर पर खुलेआम राजनीतिक सरप्रस्ती में नाजायज माइनिंग की जा रही है। उन्होंने कहा कि जो घाट ठेकेदारों को अलॉट हुए हैं अभी नियम मुताबिक उनकी वातावरण मंजूरी नहीं मिली। इससे पहले वे रॉयल्टी नहीं वसूल सकते। इसके अलावा नियम के मुताबिक ठेकेदार अपने घाट (नदी) के अंदर ही नियम मुताबिक कांटा (भार तोलने) व सीसीटीवी कैमे लगाते के बावजूद रॉयल्टी वसूल सकते हैं परंतु ठेकेदारों की ओर से क्रशर जोन में अपनी मर्जी से सड़कों पर कहीं भी नाका लगा कर गुंडा टैक्स वसूल रहे हैं। उन्होंने ठेकेदारों की ओर से मामले की सीबीआई जांच की मांग का समर्थन करते केंद्र सरकार से मामले की उच्च स्तरीय जांच करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि गांव छत में जंगलात के क्षेत्र में बीते दिनों एसडीएम खरड़ हिमांशु जैन की ओर से पकड़ी गई पौकलैन मशीन बारे भी ठेकेदार मान गए कि यह मशीन उनकी है जो 16 अक्तूबर को खराब हो गई थी। जबकि इस से पहले यह मशीन के साथ वहां नाजायज माइनिंग कर रहे थे। इसके बावजूद उनके खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई। उन्होंने ने आरोप लगाया कि इससे पहले भी उक्त ठेकेदारों की ओर से इस क्षेत्र के घाट लिए गए थे परंतु यहाँ से नाजायज तौर पर माईनिंग करने बाद में यह कह कर छोड़ दिए था कि यहां मॉल नहीं है। उन्होंने मांग की यहां से अवैध रुप से उठाए मॉल की पैमायश कर चोरी किए मॉल की भरपाई करनी चाहिए। क्रशर एसोसिएशन ने मांग करते हुए डिप्टी कमिशनर को अपनी हाजिरी में ठेकेदारों को बुलाने व दोनों पक्षों को सुनने की अपील करते हुए कहा कि वह साबित कर देंगे कि उक्त व्यक्ति गुंडा टैक्स वसूल रहे हैं।
इस संबंधी ठेकेदारों की ओर से दिए गए फोन नंबर पर बार बार फोन करने में फोन नही मिला। जिस कारण उनसे संपर्क नही हो सका।
क्रशर एसो‌सिएशन ने आरोप लगाया कि पंजाब में जंगल राज चल रहा है। जिसके चलते सरेआम ठेकेदारों ने माना कि वे रॉयल्टी के रुप में गुंडा टैक्स वसूल रहे है जिसके बाद भी कोई कार्रवाई नही कर रहा है। जो सरेआम चोरी व सीनाजोरी वाली बात है। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक अधिकारी सरेआम गुंडा टैक्स वसूलने वालों पर कोई कार्रवाई नही कर रहे जबकि नियमों के मुताबिक काम करने वाले क्रशर मालिकों पर केस दर्ज कर रहे है व उनके स्क्रीनिंग व क्रशर सील कर दिए है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
सीमा सुरक्षा बल द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन फरवरी में श्री गुरु नानक देव जी की फिलास्फी पर अंतर्राष्ट्रीय कान्फ्रेंस करोना वायरस खतरे का पता लगाने के लिए हवाई अड्डा, अमृतसर में थर्मल सैंसर स्थापित रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया ने धूमधाम से मनाया गणतंत्र दिवस कैंसर की चपेट में गांव बडबर, 6 से अधिक लोगों की हो चुकी मौत अवैध माइनिंग के खिलाफ हरकत में आया प्रशासन, मुबारिकपुर घग्गर नदी पर बनाए अवैध पुल को तोड़ा स्टेट एंटी फ्रॉड यूनिट द्वारा 15 अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस जारी पानी मुद्दे पर अमरिन्दर सिंह ने सर्वदलीय बैठक बुलाई स्कूलों में खाली पड़े पदों की भर्ती प्रक्रिया शुरू करे सरकार: आप विचार पर काम करना सफलता की कुंजी है, न सिर्फ विचार करना: गोपालाकृष्णन